ईंधन की बढ़ती कीमतों को लेकर राहुल ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, कहा- लोग मंहगाई की मार झेल रहे हैं

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 24, 2021   11:35
  • Like
ईंधन की बढ़ती कीमतों को लेकर राहुल ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, कहा- लोग मंहगाई की मार झेल रहे हैं

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट किया,‘‘ मोदी जी जीडीपी- गैस, डीजल और पेट्रोल में बेतहाशा वृद्धि लाए हैं।’’ उन्होंने कहा,‘‘ लोग मंहगाई से परेशान है और मोदी सरकार कर इकट्ठा करने में व्यस्त है।’’

नयी दिल्ली। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ईंधन की बढ़ती कीमतों को लेकर रविवार को केन्द्र सरकार पर निशाना साधा और कहा कि लोग मंहगाई की मार झेल रहे हैं और मोदी सरकार कर इकट्ठा करने में व्यस्त है। एक सप्ताह में चौथी बार कीमतों में वृद्धि के बाद देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतों के अब तक की सर्वाधिक ऊंचाई पर पहुंचने के एक दिन बाद कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने यह टिप्पणी की है। 

इसे भी पढ़ें: राहुल गांधी ने तमिलनाडु में किया चुनाव अभियान का आगाज, प्रधानमंत्री पर साधा निशाना 

गांधी ने ट्वीट किया,‘‘ मोदी जी जीडीपी- गैस, डीजल और पेट्रोल में बेतहाशा वृद्धि लाए हैं।’’ उन्होंने कहा,‘‘ लोग मंहगाई से परेशान है और मोदी सरकार कर इकट्ठा करने में व्यस्त है।’’ गौरतलब है कि कीमतों में वृद्धि के बाद दिल्ली में पेट्रोल के दाम 85.70 रुपए प्रति लीटर और मुंबई में 92.28 रुपए प्रति लीटर हो गए हैं। इसी प्रकार से दिल्ली में डीजल के दाम 75.88 रुपए प्रति लीटर और मुंबई में82.66 रुपए प्रति लीटर हो गए हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


भोपाल स्थित वन विहार राष्ट्रीय उद्यान में आज से नाइट सफारी का शुभारंभ

  •  दिनेश शुक्ल
  •  मार्च 4, 2021   15:45
  • Like
भोपाल स्थित वन विहार राष्ट्रीय उद्यान में आज से नाइट सफारी का शुभारंभ

भोपाल के बडे तालाब के किनारे स्थिति वन विहार में ज्यदातर वह वन्य प्राणी है, जिन्हें रेस्क्यू कर यहाँ लाया गया है। बाघ, हिरण, भालू, चीता, शेर, मोर, मगरमच्छ, घड़ियाल, अजगर, कछुआ सहित अन्य वन्यप्राणी निवास करते है।

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल स्थित वन विहार राष्ट्रीय उद्यान रेस्क्यू सेंटर  में प्रदेश के वन मंत्री विजय शाह आज गुरुवार शाम 7.00 बजे रात्रिकालीन सफारी का शुभारंभ करेंगे। इस सेवा के शुरू होने के बाद अब पर्यटक शाम 7.00 बजे से रात्रि 11 बजे वन विहारी में सफारी का आनंद ले सकेंगे। भोपाल के बडे तालाब के किनारे स्थिति वन विहार में ज्यदातर वह वन्य प्राणी है, जिन्हें रेस्क्यू कर यहाँ लाया गया है। बाघ, हिरण, भालू, चीता, शेर, मोर, मगरमच्छ, घड़ियाल, अजगर, कछुआ सहित अन्य वन्यप्राणी निवास करते है।  

 

इसे भी पढ़ें: भोपाल में ट्रांसफार्मर में लगी आग, 5 करोड़ के नुकसान का अनुमान

वन विहार प्रबंधन द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एवं वन मंत्री विजय शाह ने वन विहार के भ्रमण के दौरान यहां नाइट सफारी शुरू किए जाने के निर्देश दिये थे। जिसके उपरांत 04 मार्च 2021 की शाम से वन विहार में यह व्यवस्था शुरू कर दी जाएगी। पर्यटकों को नाइट सफारी के लिए 200 रूपए प्रति व्यक्ति शुल्क लगेगा जबकि 6 से 12 साल के बच्चों के लिए यह शुल्क 100 रूपए होगा। इसके लिए पर्यटको को रोजाना शाम 4 बजे से पहले बुकिंग करवानी होगी। वन विहार प्रबंधन नाइट सफारी में पर्यटकों को पार्क के अंदर 13 किलोमीटर तक सफारी करवाएगा।

 

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश के सिवनी में शोरूम से दो कार चोरी, पुलिस जांच में जुटी

वन विहार के डिप्टी डायरेक्टर अशोक कुमार जैन ने बताया कि चार ट्रिप में नाइट सफारी करवाई जाएगी, जिसमें छह लोग जा सकेंगे। एक ट्रिप एक घंटे की होगी। जिसके लिए पर्यटक ऑनलाइन बुकिंग के अलावा  मोबाईल नं. 9424790611 और 9424796443 पर भी बुकिंग करवा सकेंगे। वही आज नाइट सफारी के शुभारंभ होने के बाद वन विहार में चार घंटे की नाइट सफारी की पर्यटकों की लंबे समय से चल रही मांग पूरी हो जाएगी।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


केरल में भाजपा को पार लगाएंगे मेट्रो मैन ई श्रीधरन, पार्टी की तरफ से होंगे मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार

  •  अनुराग गुप्ता
  •  मार्च 4, 2021   15:21
  • Like
केरल में भाजपा को पार लगाएंगे मेट्रो मैन ई श्रीधरन, पार्टी की तरफ से होंगे मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक केरल भाजपा प्रमुख के. सुरेन्द्रन ने कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव में श्रीधरन भाजपा की ओर से मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार होंगे।

नयी दिल्ली। केरल में 6 अप्रैल को विधानसभा चुनाव के लिए मतदान होने वाला है। इससे ठीक पहले मेट्रो मैन ई श्रीधरन ने भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ली और अब वह केरल विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार होंगे। केरल भाजपा प्रमुख के. सुरेन्द्रन ने इसकी जानकारी दी। 

इसे भी पढ़ें: केरल का सामाजिक सौहार्द दबाव में, नई विकास रणनीति की जरूरत : सोनिया गांधी 

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक केरल भाजपा प्रमुख के. सुरेन्द्रन ने कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव में श्रीधरन भाजपा की ओर से मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार होंगे।

भारत सरकार की ओर से पद्मविभूषण, पद्मश्री पुरस्कार से नवाजे जाने वाले मेट्रो मैन ई श्रीधरन का मुख्य लक्ष्य केरल में भाजपा को सत्ता में लाना है और वह इसके लिए विधानसभा चुनाव लड़ेंगे। इतना ही नहीं श्रीधरन ने पहले ही कहा था कि अगर पार्टी उन्हें जिम्मेदारी देगी तो वह मुख्यमंत्री बनने के लिए भी तैयार हैं। 

इसे भी पढ़ें: केरल माकपा शासन में कट्टरपंथियों का अपना देश बन चुका है: निर्मला सीतारमण 

प्रारंभिक जीवन

केरल के पलक्कड़ में 12 जून 1932 को जन्में ई श्रीधरन को मेट्रो मैन के नाम से जाना जाता है। उन्होंने आंध्र प्रदेश के काकीनाडा में स्थित सरकारी इंजीनियरिंग कॉलेज से सिविल इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की। उसके बाद वह इंडियन रेलवे सर्विस में आ गए। इतना ही नहीं उन्होंने दिल्ली मेट्रो, कोच्चि मेट्रो और लखनऊ मेट्रो को अपनी सेनाएं दी हैं। श्रीधरन 1995 से लेकर 2012 तक दिल्ली मेट्रो के निदेशक रहे हैं। श्रीधरन को सार्वजनिक परिवहन का चेहरा बदलने के लिए जाना जाता है। फिलहाल वह भाजपा की तरफ से मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार होंगे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


तृणमूल कांग्रेस ने काट दिये कई वर्तमान विधायकों के टिकट, शुक्रवार को आयेगी पूरी सूची

  •  नीरज कुमार दुबे
  •  मार्च 4, 2021   15:17
  • Like
तृणमूल कांग्रेस ने काट दिये कई वर्तमान विधायकों के टिकट, शुक्रवार को आयेगी पूरी सूची

तृणमूल ने उम्मीदवारों की सूची से ऐसे वर्तमान विधायकों के नाम हटाने का फैसला किया है जो 80 वर्ष या उससे अधिक आयु के हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी की योजना युवाओं, महिलाओं और ऐसे नेताओं को उम्मीदवार बनाने की है जिनकी स्वच्छ छवि और उनके क्षेत्रों में स्वीकार्यता है।

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों में अपनी सरकार बचाने की कोशिश कर रही तृणमूल कांग्रेस अपने उम्मीदवारों की पूरी सूची तैयार कर चुकी है और इसे एक साथ जारी करने जा रही है। यही नहीं अगले सप्ताह तृणमूल कांग्रेस का घोषणापत्र भी आ जायेगा। इसके बारे में विस्तृत चर्चा करेंगे साथ ही आपको बताएंगे कि शुभेंदु अधिकारी के सांसद पिता ने अपनी चुप्पी तोड़ते हुए क्या कहा है। आज की रिपोर्ट में इस पर भी बात करेंगे कि चुनाव प्रचार में उतरते हुए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने क्या कहा है और दिलीप घोष ने क्या नया दावा किया है। फिलहाल रिपोर्ट की शुरुआत करते हैं शिशिर अधिकारी से।

इसे भी पढ़ें: भाजपा में शामिल हुए सुशांत पॉल, शुभेंदु अधिकारी के सामने कान पकड़कर मांगी माफी, जानिए इसका असल कारण

शिशिर अधिकारी ने चुप्पी तोड़ी

तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ सांसद और भाजपा में शामिल हो चुके शुभेंदु अधिकारी के पिता शिशिर अधिकारी ने अपनी चुप्पी तोड़ते हुए कहा है कि उनकी पार्टी से कोई भी उनके साथ संबंध नहीं रख रहा है, वहीं पश्चिम बंगाल के सत्तारूढ़ दल ने कहा है कि यह स्पष्ट नजर आ रहा है कि अधिकारी की आत्मा कहां है। शिशिर अधिकारी के बेटे शुभेंदु और सौमेंदु हाल ही में भाजपा में शामिल हुए हैं। अधिकारी परिवार के मुखिया शिशिर अधिकारी ने यह भी आरोप लगाया कि तृणमूल कांग्रेस ने ऐसी धमकी दी है कि अगर कोई उनसे या उनके बेटों से संबंध रखेगा तो उसे पार्टी से निकाल दिया जायेगा। उन्होंने आरोप लगाया कि ‘‘पार्टी से कोई भी मुझसे संपर्क नहीं करता है।’’ उन्होंने यह भी कहा कि बेटे शुभेंदु पर जो हमले किये गये हैं उन्हें बर्दाश्त नहीं किया जा सकता।

शिशिर अधिकारी के बयान पर तृणमूल के महासचिव पार्थ चटर्जी ने कहा, ‘‘शिशिर दा अनुभवी व्यक्ति हैं। हर कोई समझता है कि उनकी आत्मा कहां है और वह शरीर से कहां हैं। पहले उन्हें इस पर फैसला करने दीजिए।’’ किसी पार्टी का नाम लिए बगैर चटर्जी ने कहा कि अब यह स्पष्ट है कि अधिकारी किस दिशा में जा रहे हैं। शिशिर अधिकारी ने आरोप लगाया कि तृणमूल के पदाधिकारियों ने सार्वजनिक रूप से उन पर अपमानजनक टिप्पणी की जैसा कभी कांग्रेस या माकपा के नेताओं ने नहीं किया। हम आपको बता दें कि शुभेंदु और सौमेंदु भाजपा में शामिल हुए हैं जबकि उनके एक और सांसद भाई दिव्येंदु और पिता शिशिर अधिकारी पिछले कई महीनों से ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली पार्टी की बैठकों या कार्यक्रमों में हिस्सा नहीं ले रहे हैं। शिशिर अधिकारी 2009 से कांठी से तृणमूल के सांसद हैं और वह पिछले कई दशक से राजनीति में हैं। इस बीच शुभेंदु अधिकारी ने एक बार फिर दावा किया है कि वह नंदीग्राम से ममता बनर्जी को जरूर चुनाव हराएंगे भले वह खुद वहां से चुनाव लड़ें या नहीं।

इसे भी पढ़ें: बीजेपी जल्द जारी करेगी उम्मीदवारों की लिस्ट, 4 मार्च को केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक

तृणमूल ने काटे कई वर्तमान विधायकों के टिकट

इस बीच तृणमूल कांग्रेस से खबर है कि पार्टी पश्चिम बंगाल में आगामी विधानसभा चुनाव के लिए उम्मीदवारों की अपनी पूरी सूची शुक्रवार को और चुनावी घोषणापत्र अगले सप्ताह के शुरुआत में जारी कर सकती है। सूत्रों ने कहा कि टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी पिछले चुनावों की तरह उम्मीदवारों की सूची जारी करेंगी। टीएमसी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘‘हमने 27 फरवरी को मतदान की तारीखों की घोषणा से पहले ही मसौदा सूची तैयार कर ली थी, हमने शुरू में चरणों में सूची जारी करने का फैसला किया था। हालांकि अब पार्टी प्रमुख द्वारा 294 उम्मीदवारों की पूरी सूची 5 मार्च को घोषित की जाएगी।’’ उन्होंने कहा कि पार्टी द्वारा अपना घोषणापत्र 9 मार्च को जारी किये जाने की उम्मीद है। टीएमसी के सूत्रों के अनुसार, पार्टी ने उम्मीदवारों की सूची से ऐसे वर्तमान विधायकों के नाम हटाने का फैसला किया है जो 80 वर्ष या उससे अधिक आयु के हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी की योजना युवाओं, महिलाओं और ऐसे नेताओं को उम्मीदवार बनाने की है जिनकी स्वच्छ छवि और उनके क्षेत्रों में स्वीकार्यता है। माना जा रहा है कि उम्मीदवारों के बारे में तृणमूल ने उनके विधानसभा क्षेत्र में व्यापक सर्वे भी कराया था। अब देखना होगा कि जिनके टिकट कटते हैं क्या वह ममता दीदी के साथ ही बने रहेंगे या नया ठिकाना तलाशेंगे।

बंगाल में राजनीतिक एंट्रियां

उधर बंगाल में अभिनेता और अभिनेत्रियों का राजनीति में आने का क्रम जारी है। प्रसिद्ध संथाली अभिनेत्री बीरबहा हंसदा तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गई हैं। इससे कुछ घंटे पहले बंगाली फिल्मों की अदाकारा सायंतिका बनर्जी ने तृणमूल का दामन थामा था। पार्टी महासचिव पार्थ चटर्जी की उपस्थिति में तृणमूल में शामिल होने वाली हंसदा ने झारखंड पार्टी (नरेन) की टिकट पर 2019 लोकसभा चुनाव लड़ा था। बीरबहा हंसदा, झारखंड पार्टी (नरेन) के संस्थापक नरेन हंसदा और चुन्नीबाला हंसदा की बेटी हैं। तृणमूल में शामिल होने के बाद उन्होंने कहा कि वह लोगों के बीच जाकर समाज के लिए काम करना चाहती हैं इसलिए उन्होंने पार्टी में शामिल होने का निर्णय लिया। दूसरी ओर जानीमानी बांग्ला फिल्म अभिनेत्री सरबंती चटर्जी भाजपा में शामिल हो चुकी हैं। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने उनका भाजपा में स्वागत किया गया।

इसे भी पढ़ें: प्रधानमंत्री मोदी प्रचार के लिए 20 या जितनी बार भी चाहें बंगाल आ सकते हैं: तृणमूल कांग्रेस

गडकरी भी चुनाव प्रचार में कूदे

उधर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी भी बंगाल चुनावों में भाजपा के प्रचार में जुट गये हैं। उन्होंने कहा है कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भाजपा को "बाहर की पार्टी" मानती हैं जबकि भाजपा के पूर्ववर्ती जनसंघ के संस्थापक राज्य के सपूत श्यामा प्रसाद मुखर्जी हैं। पार्टी की परिवर्तन यात्रा के दौरान पुरुलिया जिले में एक रैली को संबोधित करते हुए केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री ने कहा कि देश का निष्कर्ष विविधता में एकता है। उन्होंने कहा, ''हम देश को एक साथ बुनना चाहते हैं न कि इसे बांटना चाहते हैं। भारत का विकास और उन्नति ही भाजपा का लक्ष्य है।" उन्होंने दावा किया, ''दो मई (मतगणना का दिन) को भाजपा को बहुमत मिलेगा और सरकार बदलेगी। भाजपा के नेता अगले दिन का फैसला करेंगे और चार मई को भाजपा का मुख्यमंत्री शपथ लेगा।" यहां बाइट लगेगी।

भाजपा उम्मीदवारों के नामों पर मंथन

इस बीच भाजपा ने भी उम्मीदवारों के नामों पर मंथन शुरू कर दिया है। पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा के आवास पर एक लंबी बैठक की। उधर, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने एक बार फिर दावा किया है कि पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों में भाजपा 200 से ज्यादा सीटें जीतने जा रही है।

-नीरज कुमार दुबे





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept