वायनाड से राहुल की उम्मीदवारी पर बोले डी राजा, यह अदूरदर्शी निर्णय है

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Apr 4 2019 5:04PM
वायनाड से राहुल की उम्मीदवारी पर बोले डी राजा, यह अदूरदर्शी निर्णय है
Image Source: Google

इस लोकसभा सीट से एलडीएफ उम्मीदवार भाकपा के पी पी सुनीर हैं जबकि भाजपा नीत राजग ने तुषार वेल्लापल्ली को चुनावी मैदान में उतारा है।

वायनाड। भाकपा नेता डी. राजा ने केरल के वायनाड लोकसभा क्षेत्र से वाम दलों के उम्मीदवार के खिलाफ कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के मैदान में उतरने का विरोध किया है और कहा कि यह अदूरदर्शी निर्णय है। राजा ने कहा कि वायनाड से राहुल गांधी को मैदान में उतारकर कांग्रेस पूरे देश को क्या संदेश देना चाहती है? एक तरह से वे गांधी को भाकपा और वामदलों से लड़ने के लिए बाध्य कर उन्हें शर्मिंदा कर रहे हैं। गांधी ने अपनी बहन प्रियंका गांधी वाड्रा और कई कांग्रेसी नेताओं के साथ बृहस्पतिवार को वायनाड से नामांकन पत्र दाखिल किया।

इसे भी पढ़ें: कमलनाथ के बेटे नकुल नाथ छिंदवाड़ा से लडेंगे लोकसभा चुनाव

इस लोकसभा सीट से एलडीएफ उम्मीदवार भाकपा के पी पी सुनीर हैं जबकि भाजपा नीत राजग ने तुषार वेल्लापल्ली को चुनावी मैदान में उतारा है। यह पूछने पर कि क्या वाम दल अपना उम्मीदवार वापस लेने पर विचार कर रहे हैं तो राजा ने कहा कि बिल्कुल नहीं। उन्होंने कहा कि हम अपना उम्मीदवार वापस नहीं लेंगे और उनका प्रचार जोर-शोर से चल रहा है। राजा ने कहा कि वाम मोर्चा लगातार कह रहा है कि सभी धर्मनिरपेक्ष लोकतांत्रिक ताकतों को लड़ना चाहिए और भाजपा तथा इसके सहयोगियों को हराना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: वायनाड: राहुल गांधी नहीं, हाथियों का आतंक है स्थानीय आदिवासियों के लिए बड़ा मुद्दा 



चुनाव प्रचार के लिए केरल आए राजा ने कहा कि प्राथमिक उद्देश्य भाजपा और राजग गठबंधन को हराना है ताकि संविधान, लोकतंत्र और देश के धर्मनिरपेक्ष ढांचे को बचाया जा सके। उन्होंने कहा कि गांधी के लिए वायनाड चुनने का कांग्रेस का दृष्टिकोण क्या है? कांग्रेस द्वारा दिए गए तर्क और कारण पूरी तरह बकवास हैं।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video