राजस्‍थान में बढ़ते कोरोना मामलों के बीच चिकित्सा मंत्री हेल्पडेस्क रविवार से शुरू होगी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 24, 2021   20:09
राजस्‍थान में  बढ़ते कोरोना मामलों के बीच चिकित्सा मंत्री हेल्पडेस्क रविवार से शुरू होगी

राजस्‍थान में चिकित्सा मंत्री हेल्पडेस्क रविवार से शुरू हो जाएगी।राज्‍य का कोई भी व्यक्ति 0141- 2225624 या 2225000 पर फोन कर सकता है। हेल्प डेस्क का संचालन 24 घण्टे (राउण्ड दी क्लॉक) तीन पारियों किया जाएगा।

जयपुर। राजस्‍थान में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच लोगों की समस्‍याओं की सुनवाई करने के लिए 24 घंटे का विशेष चिकित्सा मंत्री हेल्प डेस्क रविवार से काम करना शुरू कर देगी। जन स्वास्थ्य निदेशक डॉक्टर के के शर्मा ने बताया कि राज्‍य में संक्रमितों की बढ़ती संख्या को देखते हुए चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा के निर्देश पर रविवार से जयपुर स्थित स्वास्थ्य भवन में चिकित्सा मंत्री हेल्प डेस्क (कंट्रोल रूम) की शुरुआत की जाएगी। हेल्प टेस्ट का प्रभारी डॉ लक्ष्मण सिंह ओला, निदेशक (आरसीएच) को बनाया गया है।

इसे भी पढ़ें: गुजरात के उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल हुए कोरोना संक्रमित, अस्पताल में भर्ती

राज्‍य का कोई भी व्यक्ति 0141- 2225624 या 2225000 पर फोन कर सकता है। हेल्प डेस्क का संचालन 24 घण्टे (राउण्ड दी क्लॉक) तीन पारियों किया जाएगा। शर्मा ने बताया कि राज्य में आम नागरिकों को कोरोना वायरस के कारण आने वाली समस्याओं का शीघ्र निवारण करने के लिए राज्य स्तर पर इस विशेष हेल्‍प डेस्‍क की शुरुआत की जा रही है। उन्होंने बताया कि शिकायत का रजिस्ट्रेशन करके उसका शीघ्र निस्तारण किया जाएगा। उल्‍लेखनीय है कि राजस्थान सरकार ने कोरोना वायरस संकट से निपटने के लिए राज्य स्तरीय नियंत्रण कक्ष भी बना रखा है जो 24 घंटे काम करता है। इस नियंत्रण कक्ष में एक आईपीएस के अधीनस्‍थ चार आरपीएस या आरएएस अधिकारी हमेशा तैनात रहते है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।