राज्यसभा के लिए निर्विरोध निर्वाचित हुए रामविलास पासवान

ram-vilas-paswan-elected-unopposed-for-the-rajya-sabha
1960 के दशक में संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी के विधायक के तौर पर अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत करने वाले रामविलास दूसरी बार राज्यसभा के लिए चुने गए हैं।

पटना। केंद्रीय मंत्री और लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के प्रमुख रामविलास पासवान शुक्रवार को राज्यसभा के लिए निर्विरोध निर्वाचित हुए। बिहार विधानसभा के सचिव और रिटर्निंग ऑफिसर बटेश्वर नाथ पांडेय ने बताया,  उन्हें निर्विरोध निर्वाचित घोषित किया गया और इस आशय का प्रमाण पत्र उन्हें सौंप दिया गया। रामविलास को प्रमाण पत्र उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी सहित राजग के अन्य वरिष्ठ नेताओं की उपस्थिति में सौंपा गया। भाजपा नेता रविशंकर प्रसाद जो कि हाल में संपन्न लोकसभा चुनाव में पटना साहिब लोकसभा क्षेत्र से सांसद चुने गए हैं, के राज्यसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे देने के बाद ऊपरी सदन की इस सीट पर उपचुनाव जरूरी हो गया था।

इसे भी पढ़ें: देश में एक ही राशन कार्ड को लागू करने की योजना पर काम कर रही है सरकार: पासवान

1960 के दशक में संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी के विधायक के तौर पर अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत करने वाले रामविलास दूसरी बार राज्यसभा के लिए चुने गए हैं। 2009 के लोकसभा चुनाव में अपने हाजीपुर संसदीय क्षेत्र से पराजित हो जाने पर रामविलास अपने सहयोगी दल राजद की मदद से 2010 में राज्यसभा के सदस्य के तौर पर चुने गए थे। रामविलास ने अपने कार्यकाल की समाप्ति से दो साल पहले 2014 में राज्यसभा से इस्तीफा देकर राजग के उम्मीदवार के तौर पर हाजीपुर से चुनाव लड़ा था और विजयी रहे थे। बिहार में राजग में शामिल भाजपा, जदयू और लोजपा के हाल में संपन्न लोकसभा चुनाव को लेकर अपने सीट साझा की योजना की घोषणा के समय रामविलास ने लोकसभा चुनाव नहीं लड़ने और राज्यसभा का मार्ग चुनने की बात कही थी। रामविलास ने हाल में संपन्न लोकसभा चुनाव में हाजीपुर सीट से अपने छोटे भाई और लोजपा के प्रदेश अध्यक्ष पशुपति कुमार पारस को अपनी पार्टी का उम्मीदवार बनाया था और वे विजयी रहे थे।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़