RSS प्रमुख का MP दौरा, ग्वालियर में होने वाले 4 दिवसीय शिविर में रहेंगे शामिल

RSS प्रमुख का MP दौरा, ग्वालियर में होने वाले 4 दिवसीय शिविर में रहेंगे शामिल

राष्ट्रीव स्वंयसेवक संघ के सरसंघचालक डाॅ. मोहन भागवत 26 नवंबर की शाम ट्रेन से ग्वालियर आएंगे और 28 नवंबर तक शिविर में रहेंगे।

भोपाल। मध्य प्रदेश के ग्वालियर जिले में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ मध्यभारत प्रांत का चार दिवसीय प्रांतीय स्वर साधक संगम का शुभारंभ गुरुवार को होने जा रहा है। इस घोष की ऐतिहासिक यात्रा को लेकर लगाई गई प्रदर्शनी का भी उद्घाटन होगा।

इसे भी पढ़ें:कांग्रेस ने जम्मू-कश्मीर में सदस्यता अभियान की शुरुआत की 

वहीं इस कार्यक्रम के शुभारंभ पर अतिथि के रूप में मध्य भारत प्रांत के संघचालक अशोक पांडे एवं राजा मानसिंह तोमर संगीत एवं कला विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. साहित्य कुमार नाहर मौजूद रहेंगे। जानकारी के मुताबिक इस चार दिवसीय संगम में सरसंघचालक डाॅ. मोहन भागवत भी शामिल रहेंगे। डॉ. मोहन भागवत 26 नवंबर की शाम ग्वालियर पहुंचेंगे।

दरअसल विभाग संघचालक गुप्ता ने जानकारी देते हुए कहा कि राष्ट्रीव स्वंयसेवक संघ के सरसंघचालक डाॅ. मोहन भागवत 26 नवंबर की शाम ट्रेन से ग्वालियर आएंगे और 28 नवंबर तक शिविर में रहेंगे। इस शिविर में अखिल भारतीय शारीरिक प्रमुख सुनील कुलकर्णी तथा अखिल भारतीय सह शारीरिक प्रमुख जगदीश पूरे समय रहेंगे। उन्होंने आगे ये भी कहा कि 28 नवंबर की शाम डॉ. मोहन भागवत मीडिया से बात कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें:जेवर में इंटरनेशनल एयरपोर्ट का भूमि पूजन करेंगे पीएम मोदी, एशिया का होगा सबसे बड़ा हवाई अड्डा 

आपको बता दें कि डॉ. मोहन भागवत 26 से 28 नवंबर तक ग्वालियर में ही रहेंगे। इस दाैरान वह शिवपुरी लिंक राेड स्थित सरस्वती शिशु मंदिर विद्यालय परिसर में ही ठहरेंगे। कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने प्रोटोकॉल ऑफिसर SDM सीबी प्रसाद को VIP मूवमेंट को देखते हुए सभी रेस्ट हाउस रिजर्व पर रखने के निर्देश दिए हैं। और इसके साथ ही निगम को साफ-सफाई की व्यवस्था को चाक-चौबंद करने को निर्देशित किया गया है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...