सौरभ मालवीय की नई पुस्तक 'अंत्योदय को साकार करता उत्तर प्रदेश’, बता रही UP की विकास गाथा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 20, 2021   17:32
सौरभ मालवीय की नई पुस्तक 'अंत्योदय को साकार करता उत्तर प्रदेश’, बता रही UP की विकास गाथा

सर्वविदित है कि नागरिकों के आर्थिक, सामाजिक एवं शैक्षणिक विकास के लिए केंद्र और राज्य सरकारें अनेक योजनाएं संचालित कर रही हैं। प्रत्येक योजना का यही उद्देश्य होता है कि उसका लाभ सभी पात्र व्यक्तियों तक पहुंचे। जब योजना का लाभ प्रत्येक पात्र व्यक्ति तक पहुंचता है, तो वह योजना सफल मानी जाती है। वर्तमान में देश में लगभग डेढ़ सौ योजनाएं संचालित हैं। इनमें अधिकतर पुरानी योजनाएं हैं।

पिछले दिनों नई दिल्ली के यश पब्लिकेशंस ने पुस्तक ’अंत्योदय को साकार करता उत्तर प्रदेश’ प्रकाशित की है। जैसा कि नाम से ही विदित है कि इसमें उत्तर प्रदेश की जन कल्याण की योजनाओं को सम्मिलित किया गया है अर्थात 168 पृष्ठों की यह पुस्तक 40 योजनाओं का संग्रह है। सर्वविदित है कि नागरिकों के आर्थिक, सामाजिक एवं शैक्षणिक विकास के लिए केंद्र और राज्य सरकारें अनेक योजनाएं संचालित कर रही हैं। प्रत्येक योजना का यही उद्देश्य होता है कि उसका लाभ सभी पात्र व्यक्तियों तक पहुंचे। जब योजना का लाभ प्रत्येक पात्र व्यक्ति तक पहुंचता है, तो वह योजना सफल मानी जाती है। वर्तमान में देश में लगभग डेढ़ सौ योजनाएं संचालित हैं। इनमें अधिकतर पुरानी योजनाएं हैं। इनमें कई ऐसी पुरानी योजनाएं भी हैं, जिनके नाम बदल दिए गए हैं। इनमें कई ऐसी योजनाएं भी हैं, जो लगभग बंद हो चुकी थीं और उन्हें पुन : आरंभ किया गया है। इनमें कुछ नई योजनाएं भी सम्मिलित हैं। देश में दो प्रकार की सरकारी योजनाएं चल रही हैं। पहली योजनाएं वे हैं, जो केंद्र सरकार द्वारा चलाई जाती हैं। इस तरह की योजनाएं पूरे देश या देश के कुछ विशेष राज्यों में चलाई जाती हैं। दूसरी योजनाएं वे हैं, जो राज्य सरकारें चलाती हैं। राज्य में संचालित अधिक योजनाएं केंद्र द्वारा ही चलाई जाती हैं। इनके कार्यान्वयन पर व्यय होने वाली राशि का एक बड़ा भाग केंद्र सरकार वहन करती है और एक भाग राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाता है।    

इसे भी पढ़ें: लखनऊ में आज एक साथ मोदी-शाह-डोभाल, लिया जा सकता है अहम फैसला

पुस्तक के लेखक डॉ. सौरभ मालवीय ने पुस्तक में भाजपा-नीत सरकार के संकल्प तथा उस संकल्प को पूर्ण करने के अथक प्रयास को दर्शाया है। योगी आदित्य नाथ के मुख्यमंत्रित्व काल में उत्तर प्रदेश के अंतिम व्यक्ति तक के जीवन को सुखी एवं समृद्ध करने के सपने को साकार करने के लिए निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं। लेखक ने सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं पर प्रकाश डालते हुए इस पुस्तक में गागर में सागर भरने का प्रयास किया है। यह कहना अतिश्योक्ति नहीं होगी कि यह एक जनोपयोगी एवं संग्रहणीय पुस्तक है। 

इसे भी पढ़ें: Prabhasakshi NewsRoom । राजस्थान में बड़े बदलाव की तैयारी, UP में माफियाओं पर चल रहा बुलडोजर

चूंकि लेखक राष्ट्रवादी विचारों के प्रहरी हैं। उनकी लेखनी धर्म, समाज, संस्कृति, राष्ट्रबोध एवं मानवदर्शन से ओतप्रोत है। इस पुस्तक में भी उन्होंने जन साधारण के हित को सर्वोपरि रखा है। लेखक के अनुसार- इस पुस्तक के माध्यम से सरकार की कुछ महत्वपूर्ण योजनाओं पर प्रकाश डालते हुए उन्हें पाठकों तक पहुंचाने का प्रयास किया गया है। अज्ञानता और अशिक्षा के कारण लोगों को सरकार की जन हितैषी योजनाओं की जानकारी नहीं होती, जिसके कारण वे इन योजनाओं का लाभ उठाने से वंचित रह जाते हैं। इस पुस्तक का उद्देश्य यही है कि पात्र लोग उन सभी योजनाओं का लाभ उठाएं, जो सरकार उनके कल्याण के लिए चला रही है। इन योजनाओं की जानकारी संबंधित मंत्रालयों से प्राप्त जानकारी पर आधारित है।

समीक्ष्य कृति : अंत्योदय को साकार करता उत्तर प्रदेश 

लेखक : डॉ. सौरभ मालवीय 

प्रकाशक : यश पब्लिकेशंस, नई दिल्ली

पृष्ठ : 168





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...