छह युवकों को कोवैक्सीन की जगह लगा दी कोविशील्ड की दूसरी खुराक, हुआ जोरदार हंगामा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 23, 2021   17:03
छह युवकों को कोवैक्सीन की जगह लगा दी कोविशील्ड की दूसरी खुराक, हुआ जोरदार हंगामा

पलामू में छह युवकों को कोवैक्सीन की जगह कोविशील्ड की दूसरी खुराक लगने के बाद हंगामा हुआ।छत्तरपुर के अनुमंडल पुलिस अधिकारी (एसडीपीओ) अजय कुमार ने बताया कि हंगामे की सूचना पर तत्काल हरिहरगंज थाना की पुलिस ने नागरिक अधिकारियों के साथ अस्पताल पहुंच कर स्थिति को नियंत्रित कर लिया।

मेदिनीनगर (झारखंड)। उत्तर प्रदेश के सिद्धार्थनगर की तर्ज पर झारखंड में पलामू के हरिहरगंज सामुदायिक अस्पताल में छह युवकों को बुधवार को कोवैक्सीन की जगह कोविशील्ड की दूसरी खुराक लगा दी गयी जिसके बाद भारी हंगामे को देखते हुए वहां बड़ी संख्या में पुलिस बल की तैनाती करनी पड़ी। छत्तरपुर के अनुमंडल पुलिस अधिकारी (एसडीपीओ) अजय कुमार ने बताया कि हंगामे की सूचना पर तत्काल हरिहरगंज थाना की पुलिस ने नागरिक अधिकारियों के साथ अस्पताल पहुंच कर स्थिति को नियंत्रित कर लिया।

इसे भी पढ़ें: जीरो कोरोना केस या वैक्सीन लगने तक बच्चे को स्कूल नहीं भेजना चाहते पैरंट्स!

इस बीच पलामू जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सिविल सर्जन)डॉ. अनिल कुमार सिंह ने बताया है कि यह चूक टीकाकरण कार्य में लगे कर्मियों की गलती से हुई और सभी युवकों को अस्पताल में ही रखकर उनपर नजर रखी जा रही है। डॉ सिंह ने बताया कि टीका बदल जाने से युवकों पर विशेष नकारात्मक प्रभाव नहीं पङेगा लेकिन अब उन्हें पुनः दूसरी खुराक कोविशील्ड की ही लेनी होगी। ऐसी ही समस्या उत्तर प्रदेश के सिद्धार्थनगर में 14 मई को सामने आयी थी जब बढ़नी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पर औढ़ाईकला गांव के बीस ग्रामीणों को कोविशील्ड की जगह कावैक्सीन की दूसरी खुराक लगा दी गयी थी। यह मामला एक ग्रामीण की शिकायत पर 27 मई को सामने आया था जिससे पूरे देश में लोग हैरान रह गये थे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।