अमरनाथ यात्रा के लिए उपयुक्त सुरक्षा व्यवस्था की गई है : जम्मू कश्मीर के उप राज्यपाल

Amarnath Yatra
ANI Photo.
सिन्हा ने कहा, ‘‘देश के विभिन्न हिस्सों से आ रहे यात्री यात्रा के लिए किये गये इंतजाम से संतुष्ट हैं और स्थानीय लोगों ने उनका स्वागत कर अपनी परंपरा को कायम रखा है।’’

श्रीनगर|  जम्मू कश्मीर के उप राज्यपाल मनोज सिन्हा ने रविवार को कहा कि वार्षिक अमरनाथ यात्रा के लिए उपयुक्त सुरक्षा व्यवस्था की गई है। उन्होंने इस तीर्थयात्रा को अधिक खतरा होने की खबरों के बीच यह जानकारी दी।

सिन्हा ने कहा कि केंद्र शासित प्रदेश के प्रशासन और लोगों ने सुरक्षित और सफल यात्रा के लिए हाथ मिलाया है। उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘सुरक्षाबलों ने बेहतर तरीके से समन्वय किया है और मैं कह सकता हूं कि सुरक्षा के लिए सर्वश्रेष्ठ व्यवस्था की गई है।

फिलहाल सबकुछ ठीक चल रहा है।’’ उल्लेखनीय है कि सुरक्षा एजेंसियों ने इस साल यात्रा पर अधिक खतरा होने के बारे में आगाह किया है, जिसके मद्देनजर त्री-स्तरीय सुरक्षा व्यवस्था की गई है। दक्षिण कश्मीर स्थित पवित्र गुफा तक जाने वाले रास्ते पर अतिरिक्त सुरक्षा कर्मियों की तैनाती की गई है।

सिन्हा ने कहा, ‘‘देश के विभिन्न हिस्सों से आ रहे यात्री यात्रा के लिए किये गये इंतजाम से संतुष्ट हैं और स्थानीय लोगों ने उनका स्वागत कर अपनी परंपरा को कायम रखा है।’’ यह पूछे जाने पर कि क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस साल (अमरनाथ) यात्रा पर आएंगे, इस पर सिन्हा ने जवाब दिया कि जो भी आना चाहते हैं, उनका स्वागत किया जाएगा।

उप राज्यपाल ने कहा, ‘‘वह (प्रधानमंत्री) आएंगे या नहीं, मैं इसपर कुछ नहीं कह सकता, लेकिन हमें ध्यान में रखना चाहिए कि अगर कोई वीआईपी (अति विशिष्ट व्यक्ति) यहां आते हैं तो तीर्थ यात्रियों को कोई समस्या नहीं होनी चाहिए।’’

अबतक पवित्र हिम शिवलिंग का दर्शन करने वाले तीर्थयात्रियों की संख्या के बारे में पूछे जाने पर सिन्हा ने कहा, ‘‘मेरा मानना है कि करीब 50 हजार श्रद्धालुओं ने अबतक दर्शन कर लिए हैं और यह संख्या लगातार बढ़ती जा रही है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़