बिना नाम लिए शरद पवार का राज ठाकरे पर निशाना, बोले- जिनके पास कोई कार्यक्रम नहीं, वे भटका रहे लोगों का ध्यान

बिना नाम लिए शरद पवार का राज ठाकरे पर निशाना, बोले- जिनके पास कोई कार्यक्रम नहीं, वे भटका रहे लोगों का ध्यान

राज ठाकरे और उनकी पार्टी महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना पर बिना नाम लिए निशाना साधते हुए शरद पवार ने साफ तौर पर कहा कि जिनके पास कोई राजनीतिक कार्यक्रम नहीं है, वह जनता से जुड़े महत्वपूर्ण मुद्दों से लोगों का ध्यान भटकाने का लगातार प्रयास कर रहे हैं।

महाराष्ट्र में राजनीतिक पारा चढ़ा हुआ है। लाउडस्पीकर विवाद को लेकर राज ठाकरे और उद्धव ठाकरे की सरकार आमने-सामने हैं। जबकि वही अमरावती सांसद नवनीत राणा की गिरफ्तारी पर भी भाजपा और सरकार के बीच जबरदस्त वार पलटवार चल रहा है। हालांकि, राज ठाकरे पूरी तरीके से हिंदुत्व की राह पर चलते दिखाई दे रहे हैं। उन्होंने मस्जिद से लाउडस्पीकर को उतारने को लेकर एक अभियान चला रखा है। इसके साथ ही वे समय-समय पर सरकार को अल्टीमेटम भी दे रहे हैं। इसी कड़ी में महाराष्ट्र सरकार की सहयोगी एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने राज ठाकरे पर बिना नाम लिए निशाना साधा है।

इसे भी पढ़ें: हनुमान चालीसा विवाद : राणा दंपति की जमानत रद्द कराने अदालत पहुंची मुंबई पुलिस

राज ठाकरे और उनकी पार्टी महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना पर बिना नाम लिए निशाना साधते हुए शरद पवार ने साफ तौर पर कहा कि जिनके पास कोई राजनीतिक कार्यक्रम नहीं है, वह जनता से जुड़े महत्वपूर्ण मुद्दों से लोगों का ध्यान भटकाने का लगातार प्रयास कर रहे हैं। अपने बयान में शरद पवार ने किसी का नाम तो नहीं लिया। लेकिन इसे राज ठाकरे के हाल में ही राज्य की मस्जिदों से लाउडस्पीकर हटाने की मांग से जोड़कर देखा जा रहा है। दरअसल, राज ठाकरे ने अजान के लिए लाउडस्पीकर का उपयोग किए जाने के विरोध में लोगों से लाउडस्पीकर के जरिए हनुमान चालीसा का पाठ करने का आह्वान किया था। जिसके बाद महाराष्ट्र की राजनीति पूरी तरीके से गर्म है। अब इसी को लेकर शरद पवार ने उन पर निशाना साधा है।

इसे भी पढ़ें: पति की मौत के बाद नहीं तोड़नी होंगी चूड़ियां, न हटाना होगा माथे का कुमकुम, विधवा अनुष्ठान पर लगाया गया प्रतिबंध

सतारा में पवार ने कहा कि देश बेरोजगारी और बढ़ती महंगाई का सामना कर रहा है और लाउडस्पीकर का मुद्दा उठाना, इन समस्याओं का उत्तर नहीं हो सकता। उन्होंने कहा, जिनके पास कोई राजनीतिक कार्यक्रम नहीं और जिनके पास जनता का समर्थन नहीं, वे जनता का ध्यान कहीं और भटकाने का प्रयास करते हैं। हालांकि, ये चीज लंबे समय तक चलने वाली नहीं है। राज ठाकरे की पवार पर जातिगत राजनीति करने संबंधी टिप्पणी को लेकर राकांपा प्रमुख ने कहा कि वह इन टिप्पणियों को हास्यास्पद मानते हैं। उन्होंने कहा कि लोग भी इस तरह की टिप्पणियों पर हंसते हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।