5 साल बाद मां से मिलने जा रहे हैं योगी आदित्यनाथ, सीएम बनने के बाद पहली बार करेंगे अपने पैतृक गांव का दौरा

5 साल बाद मां से मिलने जा रहे हैं योगी आदित्यनाथ, सीएम बनने के बाद पहली बार करेंगे अपने पैतृक गांव का दौरा
ANI pictures

खबर के मुताबिक इस बार वह अपने मां और घरवालों से मुलाकात करेंगे। यम्केश्वर में योगी आदित्यनाथ के इस दौरे को लेकर तैयारियां भी शुरू कर दी गई है। योगी के कार्यक्रम की पुष्टि उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री धन सिंह रावत ने की है। धन सिंह रावत के मुताबिक योगी आदित्यनाथ के दौरे को भव्य बनाने की तैयारी चल रही है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 3 दिनों के दौरे पर उत्तराखंड जा रहे हैं। जानकारी के मुताबिक योगी आदित्यनाथ का यह दौरा 3 मई से शुरू होगा। अपने इस दौरे के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने गांव पौड़ी जिले की यम्केश्वर तहसील का पंचूर में भी जाएंगे। खबर के मुताबिक इस बार वह अपने मां और घरवालों से मुलाकात करेंगे। यम्केश्वर में योगी आदित्यनाथ के इस दौरे को लेकर तैयारियां भी शुरू कर दी गई है। योगी के कार्यक्रम की पुष्टि उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री धन सिंह रावत ने की है। धन सिंह रावत के मुताबिक योगी आदित्यनाथ के दौरे को भव्य बनाने की तैयारी चल रही है।

इसे भी पढ़ें: अश्विनी चौबे के बयान पर संजय राउत का तंज, 'योगी चालीसा' पढ़ने की दी सलाह

अपने परिवार से मुलाकात के साथ ही योगी आदित्यनाथ डिग्री कॉलेज बिठयानी में अपने गुरु अवैद्यनाथ की मूर्ति का अनावरण भी करेंगे। योगी आदित्यनाथ के साथ उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी भी मौजूद रहेंगे। 4 और 5 मई को लेकर फिलहाल कार्यक्रमों की जानकारी उपलब्ध नहीं हो पा रही है। लेकिन दावा किया जा रहा है कि योगी आदित्यनाथ इन 2 दिनों के दौरान उत्तराखंड के अलग-अलग हिस्सों में भी जा सकते हैं। लेकिन योगी आदित्यनाथ के दौरे की सबसे खास बात तो यह है कि वह अपनी मां से मिलेंगे। योगी आदित्यनाथ की मां सावित्री देवी 84 साल की हैं। योगी आदित्यनाथ का परिवार बेहद सादगी से रहता है। योगी के दोबारा चुनाव जीतने के बाद उनके परिवार ने बेहद खुशी जताई थी।

इसे भी पढ़ें: लाउडस्पीकर मामले में गिरिराज सिंह ने की CM योगी की तारीफ, बोले- पूरे देश में लागू होना चाहिए कानून

आपको बता दें कि 2020 में कोरोना महामारी के दौरान योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह बिष्ट का निधन हो गया था। कोविड प्रोटोकॉल और इस दौरान उत्तर प्रदेश की जिम्मेदारी होने के कारण वह अपने पिता के अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हो पाए थे। इसके बाद से वे 2 वर्ष तक अपनी मां से मुलाकात हुई नहीं कर पाए। हालांकि तब योगी आदित्यनाथ ने अपने पिता के लिए एक भावुक पोस्ट लिखा था। साथ ही साथ यह भी कहा था कि अपने मां से मिलने जाऊंगा। हाल में ही एक इंटरव्यू के दौरान योगी आदित्यनाथ ने यह भी कहा था कि पिताजी के निधन के बाद भय और संकोच के मारे मां से मैं बात नहीं कर पाया हूं। लेकिन मैं जो कुछ भी हूं उनकी वजह से ही हूं। बचपन में मेरी पहली शिक्षक मेरी मां ही थी।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।