योगी ने साधा उद्धव ठाकरे पर निशाना, कहा-कामगारों को महाराष्ट्र सरकार से मिला सिर्फ छलावा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 24, 2020   21:28
योगी ने साधा उद्धव ठाकरे पर निशाना, कहा-कामगारों को महाराष्ट्र सरकार से मिला सिर्फ छलावा

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को महाराष्ट्र की शिवसेना-कांग्रेस सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि अपने खून पसीने से महाराष्ट्र को सींचने वाले कामगारों को महाराष्ट्र सरकार से सिर्फ छलावा ही मिला है।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को महाराष्ट्र की शिवसेना-कांग्रेस सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि अपने खून पसीने से महाराष्ट्र को सींचने वाले कामगारों को महाराष्ट्र सरकार से सिर्फ छलावा ही मिला है और लॉकडाउन में उनके साथ धोखा हुआ है।मुख्यमंत्री कार्यालय के अधिकृत ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया, अपने खून पसीने से महाराष्ट्र को सींचने वाले कामगारों को शिवसेना-कांग्रेस की सरकार से सिर्फ छलावा ही मिला।

इसे भी पढ़ें: मोबाइल पाबंदी पर बोले अखिलेश, कोविड अस्पतालों की दुर्दशा का सच सामने ना आये इसलिए लगायी पाबंदी

लॉकडाउन में उनसे धोखा किया गया। उन्हें उनके हाल पर छोड़ दिया और घर जाने को मजबूर किया गया। ट्वीट में कहा गया, इस अमानवीय व्यवहार के लिए मानवता श्री उद्धव ठाकरे जी को कभी माफ नहीं करेगी। योगी ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि अपने घर पहुंच रहे सभी बहनों-भाइयों का प्रदेश में पूरा ख्याल रखा जाएगा। उन्होंने महाराष्ट्र सरकार को निशाने पर लेते हुए कहा कि अपनी कर्मभूमि को छोड़ने के लिए मजबूर करने के बाद उनकी चिंता का नाटक मत कीजिए। सभी श्रमिक कामगार बंधु आश्वस्त हैं और अब उनकी जन्मभूमि उनका हमेशा ख्याल रखेगी।

इसे भी पढ़ें: योगी सरकार ने लखनऊ में 26 मई से सशर्त शॉपिंग कॉम्प्लेक्स खोलने के दिए आदेश

शिवसेना और कांग्रेश आश्वस्त रहें। योगी ने कहा, श्री संजय राउत जी एक भूखा बच्चा ही अपनी मां को ढूंढ़ता है। यदि महाराष्ट्र सरकार ने सौतेली मां बनकर भी सहारा दिया होता तो महाराष्ट्र को गढ़ने वाले हमारे उत्तर प्रदेश के निवासियों को प्रदेश वापस न आना पड़ता। मुख्यमंत्री की यह टिप्पणी गैर मराठियों को लेकर शिवसेना नेता संजय राउत द्वारा लिखे गए एक कथित आपत्तिजनक लेख के बाद आई।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।