योगी आदित्‍यनाथ बोले- 5जी के आने से कामकाज की रफ्तार में होगा गुणात्मक सुधार

Yogi adityanath
ANI
योगी आदित्यनाथ ने दूरसंचार सेवा प्रदाता भारती एयरटेल की तरफ से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में 5जी मोबाइल सेवा की शुरूआत के अवसर पर आयोजित वर्चुअल कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री ने देश में संचार क्रांति के नए युग की विधिवत शुरुआत कर दी।
वाराणसी (उप्र)। उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने शनिवार को कहा कि 5जी सेवा शुरू होने से कामकाज की रफ्तार में गुणात्मक सुधार होगा और यह सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) बढ़ाने में भी मददगार साबित होगा। योगी आदित्यनाथ ने दूरसंचार सेवा प्रदाता भारती एयरटेल की तरफ से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में 5जी मोबाइल सेवा की शुरूआत के अवसर पर आयोजित वर्चुअल कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री ने देश में संचार क्रांति के नए युग की विधिवत शुरुआत कर दी। मुख्‍यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी का संकल्प भारत की अर्थव्यवस्था को पांच हजार अरब डॉलर तक पहुंचाने का है। 

इसे भी पढ़ें: खालिस्तान मुद्दे को लेकर भगवंत मान सरकार पर बरसे अमरिंदर सिंह, कहा- सख्त कदम उठाने की जरूरत

उन्होंने कहा कि 5जी की शुरूआत से ग्राम सचिवालय को फाइबर ऑप्टिकल से शत-प्रतिशत जोड़ा जाएगा जिससे ग्रामवासियों के ऑनलाइन कार्य वहीं पर संपन्न हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि यदि 10 फीसदी लोग भी इस प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल करते हैं तो जीडीपी में एक फीसदी की बढ़ोतरी होगी। उन्होंने कहा कि यदि 30 से 80 फीसदी लोग इसका प्रयोग करने लगते हैं तो देश की जीडीपी में होने वाली वृद्धि का सिर्फ अनुमान ही लगाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि इसके माध्यम से उत्तर प्रदेश एक हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने की दिशा में आगे बढ़ेगा। मुख्‍यमंत्री ने भरोसा दिया कि प्रदेश सरकार एयरटेल संस्था को पूरी तरह सहयोग प्रदान करेगी। 

इसे भी पढ़ें: हमारे अच्छे काम के बावजूद हर बार बदल जाती है सरकार, बीकानेर में बोले गहलोत- हमें एक और मौका दें

योगी ने 5जी सेवा से देश और वाराणसी को जोड़ने पर प्रधानमंत्री मोदी का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि 5जी के आने से कार्य की रफ्तार में गुणात्मक सुधार होगा। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में प्रौद्योगिकी की ताकत को सबने देखा और महसूस किया। उस दौरान डीबीटी के माध्यम से लोगों के बैंक खातों में सीधे पैसा पहुंचकर मदद पहुंचाई गई। करीब दो साल तक छात्र-छात्राओं का पठन-पाठन कार्य भी ऑनलाइन माध्यम से होता रहा। इस कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश के श्रम एवं सेवायोजन मंत्री अनिल राजभर, स्टांप एवं न्यायालय पंजीयन शुल्क राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रवींद्र जायसवाल, आयुष राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) दयाशंकर मिश्र दयालु भी मौजूद थे। कार्यक्रम के बाद मुख्यमंत्री ने श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में विधिवत दर्शन पूजन कर आशीर्वाद प्राप्त किया।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़