फेल्प्स ने IPL का लिया आनंद, पर कहा यह खेल नहीं बना है उनके लिए

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 27, 2019   18:14
फेल्प्स ने IPL का लिया आनंद, पर कहा यह खेल नहीं बना है उनके लिए

फेल्प्स ने 2008 बीजिंग ओलंपिक में आठ स्वर्ण पदक जीते थे। उन्होंने जिस स्पर्धा में हिस्सा लिया उसमें सोने का तमगा जीता था। उन्होंने लंदन ओलंपिक 2012 में चार स्वर्ण और दो रजत पदक हासिल किये थे।

नयी दिल्ली।बल्ले को कैसे पकड़ना है यह सीखना और गेंद को हवा में तैरते हुए छह रन के लिये जाते हुए देखना उनके लिये मजेदार रहा लेकिन अमेरिका के महान तैराक माइकल फेल्प्स ने कहा कि भले ही उन्होंने अपने पहले भारतीय दौरे में क्रिकेट का पूरा लुत्फ उठाया लेकिन वह इस खेल को नहीं अपना सकते हैं।सर्वकालिक महान ओलंपियन में से एक फेल्प्स ने बुधवार को आईपीएल टीम दिल्ली कैपिटल्स के साथ क्रिकेट सत्र में हिस्सा लिया। 

इसे भी पढ़ें: डेविड वार्नर दर्शकों के सामने अपने बल्ले से जलवा बिखेरने के लिये तैयार- यूसुफ पठान

इस 33 वर्षीय तैराक ने मीडिया विज्ञप्ति में कहा,दर्शकों का रोमांच,खिलाड़ियों का छोर बदलना या उन्हें आउट होते हुए देखना रोमांचक लगा। मुझे कल छक्के देखना अच्छा लगा।फेल्प्स ने दिल्ली कैपिटल्स और चेन्नई सुपरकिंग्स के बीच कल आईपीएल मैच देखा। उन्होंने दिल्ली के खिलाड़ियों से मुलाकात और मैच के बारे में कहा,मुझे नहीं लगता कि क्रिकेट मेरा अगला खेल हो सकता है लेकिन मुझे कल दिल्ली कैपिटल्स के साथ मैच देखना अच्छा लगा।

इसे भी पढ़ें: मिशा जिल्बरमैन ने कहा, खिलाड़ियों के साथ नहीं होना चाहिए भेदभाव

अपने करियर में 23 स्वर्ण पदक सहित 28 ओलंपिक पदक जीतने वाले फेल्प्स ने दिल्ली कैपिटल्स के कप्तान श्रेयस अय्यर, विकेटकीपर बल्लेबाज ऋभष पंत, दक्षिण अफ्रीकी आलराउंडर क्रिस मौरिस और तेज गेंदबाज इशांत शर्मा से भी मुलाकात की। उन्होंने कहा, मैंने आज इन खिलाड़ियों से कुछ टिप्स लिये। इसकी शुरुआत बल्ला पकड़ने से हुई। इसलिए मुझे विश्वास है कि अगली बार जब मैं भारत दौरे पर आऊंगा तो क्रिकेट खेलने के लिये बेहतर तौर पर तैयार रहूंगा।फेल्प्स ने 2008 बीजिंग ओलंपिक में आठ स्वर्ण पदक जीते थे। उन्होंने जिस स्पर्धा में हिस्सा लिया उसमें सोने का तमगा जीता था। उन्होंने लंदन ओलंपिक 2012 में चार स्वर्ण और दो रजत पदक हासिल किये थे। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

खेल

झरोखे से...