सिंधू की अगुआई में भारत के पांच खिलाड़ी ने इंडिया ओपन के क्वार्टर फाइनल में किया प्रवेश

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Mar 29 2019 10:26AM
सिंधू की अगुआई में भारत के पांच खिलाड़ी ने इंडिया ओपन के क्वार्टर फाइनल में किया प्रवेश
Image Source: Google

पुरुष एकल में श्रीकांत के अलावा बी साई प्रणीत, पारूपल्ली कश्यप और जाइंट किलर एचएस प्रणय ने दूसरे दौर में जीत दर्ज की लेकिन पांचवें वरीय समीर शर्मा और शुभंकर डे को हार का सामना करना पड़ा।

नयी दिल्ली।भारत की स्टार खिलाड़ी और दूसरी वरीय पीवी सिंधू ने सीधे गेम में जीत के साथ गुरुवार को यहां योनेक्स सनराइज इंडिया ओपन के क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया जबकि पुरुष एकल में भी तीसरे वरीय किदांबी श्रीकांत सहित चार खिलाड़ियों ने अंतिम आठ में जगह बनाई। दुनिया की छठे नंबर की खिलाड़ी सिंधू ने हांगकांग की दुनिया की 37वें नंबर की खिलाड़ी डेंग जाय शुआन के खिलाफ 32 मिनट चले मुकाबले में आसानी से 21-11 21-13 से जीत दर्ज की। पुरुष एकल में श्रीकांत के अलावा बी साई प्रणीत, पारूपल्ली कश्यप और जाइंट किलर एचएस प्रणय ने दूसरे दौर में जीत दर्ज की लेकिन पांचवें वरीय समीर शर्मा और शुभंकर डे को हार का सामना करना पड़ा।

महिला एकल में भारत की एक अन्य खिलाड़ी क्वालीफायर रिया मुखर्जी को हालांकि शिकस्त का सामना करना पड़ा। उन्होंने डेनमार्क की आठवीं वरीय मिया ब्लिकफेल्ट को कड़ी टक्कर दी लेकिन दुनिया की 22वें नंबर की खिलाड़ी को तीन गेम में 21-8 17-21 21-13 से जीत दर्ज करने से नहीं रोक पाई।सिंधू ने मैच की धीमी शुरुआत की और जल्द ही 0-4 से पिछड़ गई लेकिन इसके बाद वापसी करते हुए 9-9 के स्कोर पर बराबरी हासिल करने में सफल रही। सिंधू ब्रेक तक 11-10 से आगे थी जिस बढ़त को उन्होंने लगातार चार अंक के साथ 15-10 तक पहुंचाया और फिर विरोधी को गेम में सिर्फ एक अंक और हासिल करने दिया। 

दूसरे गेम में सिंधू ने अच्छी शुरुआत की। उन्होंने 4-1 की बढ़त बनाई और ब्रेक तक 11-4 से आगे थी। डेंग ने वापसी करते हुए स्कोर 11-14 किया लेकिन भारतीय खिलाड़ी ने धैर्य बरकरार रखते हुए आसानी से गेम और मैच जीत लिया। सिंधू ने मैच के बाद कहा, मैं आज अच्छी शुरुआत नहीं कर पाई और शुरुआत में ही चार अंक से पिछड़ गई। वह नौ अंक तक आगे थी लेकिन इसके बाद मैंने गलतियां कम की और वापसी करते हुएजीत दर्ज करने में सफल रही।क्वार्टर फाइनल में अब सिंधू का सामना ब्लिकफेल्ट से होगा जिनसे वह इससे पहले कभी नहीं खेली हैं। ब्लिकफेल्ट ने सिंधू के साथ मुकाबले के संदर्भ में कहा, मैं इससे पहले कभी सिंधू के खिलाफ नहीं खेली। वह दुनिया की शीर्ष खिलाड़ियों को शामिल है और मैं उसके खिलाफ खेलने के लिए उत्सुक हूं।

इसे भी पढ़ें: प्रणीत और कश्यप ने इंडिया ओपन बैडमिंटन 2019 के फाइनल में बनाई जगह



दुनिया के सातवें नंबर के खिलाड़ी श्रीकांत ने चीन के ल्यू गुआंग्झू को बेहद आसानी से 21-11 21-16 से हराया जबकि दुनिया के 24वें नंबर के खिलाड़ी प्रणय ने अपनी शानदार फार्म जारी रखते हुए डेनमार्क के अनुभवी यान ओ योर्गेनसन को 21-19 20-22 21-17 से हराया। क्वार्टर फाइनल में प्रणय की राह हालांकि आसान नहीं होगी जहां उन्हें दुनिया के पूर्व नंबर एक और विश्व चैंपियन डेनमार्क के विक्टर एक्सेलसन का सामना करना है। दूसरे वरीय एक्सेलसन ने थाईलैंड के सुपान्यु अविहिंगसेनोन को एकतरफा मुकाबले में 21-1121-9 से हराया। दुनिया के 20वें नंबर के खिलाड़ी प्रणीत ने पिछड़ने के बाद जोरदार वापसी करते हुए हमवतन समीर वर्मा को एक घंटा और 12 मिनट चले मुकाबले में दुनिया के 15वें नंबर के खिलाड़ी समीर को 18-21 21-1621-15 से हराया। गैरवरीय और दुनिया के 55वें नंबर के खिलाड़ी कश्यप को हालांकि थाईलैंड के टेनोंगसेक सेनसोमबूनसुक के खिलाफ 21-11 21-13 की जीत के दौरान अधिक पसीना नहीं बहाना पड़ा।

कश्यप ने मैच के बाद कहा, उसके खिलाफ खेलना आसान नहीं होता। आप उम्मीद नहीं कर सकते कि वह कैसा खेल दिखाएगा लेकिन मैं आज उसके लिए अच्छी तरह तैयार था।समीर के खिलाफ छह मैचों में यह प्रणीत की चौथी जीत है। उन्होंने मैच के बाद कहा, समीर काफी अच्छा खेला लेकिन मैंने रैली में बेहतर प्रदर्शन किया और दूसरे और तीसरे गेम में गलतियां भी कम की जिसका फायदा मिला।क्वार्टर फाइनल में प्रणीत और श्रीकांत आमने सामने होंगे। कश्यप चीनी ताइपे के वैंग जू वेई से भिड़ेंगे जिन्होंने भारत के शुभंकर को आसानी से 21-16 21-13 से शिकस्त दी।श्रीकांत ने मैच के बाद कहा, ल्यू के खिलाफ मैच उतना आसान नहीं था जितना दिख रहा है। कल के मैच के बाद आज मैं थोड़ा सतर्क होकर खेला। प्रणीत के खिलाफ खेलना आसान नहीं होगा क्योंकि वह मेरे खेल से काफी अच्छी तरह वाकिफ है।

इसे भी पढ़ें: अगले दौर के मुकाबले में हांगकांग की डेंग जाय शुआन से भिड़ेंगी सिंधू

मनु अत्री और बी सुमित रेड्डी की छठी वरीय जोड़ी तथा अश्विनी पोनप्पा और एन सिक्की रेड्डी ने भी क्रमश: पुरूष और महिला युगल के अंतिम आठ में प्रवेश किया।महिला युगल में अश्विनी और सिक्की को चेन शियाफेई और झाउ चाओमिन की चीन की जोड़ी के खिलाफ 21-18 21-14 से जीत दर्ज करने में अधिक मशक्कत नहीं करनी पड़ी जबकि अपर्णा बालन और श्रुति केपी ने उलटफेर करते हुए एनजी विंग युंग और येउंग एनगा टिंग की दुनिया की 40वें नंबर की जोड़ी को तीन गेम में 21-19 7-21 21-17 से हराया। पुरुष युगल में मनु और सुमित की जोड़ी ने हुआंग काइशियांग और वैंग जिकांग की चीन की जोड़ी के खिलाफ कड़े मुकाबले में 25-23 21-18 से जीत दर्ज की। प्रणव जैरी चोपड़ा और शिवम शर्मा ने भी अनिरुद्ध मायेकर और विनय कुमार सिंह की जोड़ी को आसानी से 21-15 21-11 से हराकर अंतिम आठ में जगह बनाई। 



इसे भी पढ़ें: सिंधू और श्रीकांत की नजरें ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट के खिताब पर

पुरुष युगल में कपिल चौधरी और शुभम यादव, वसंत कुमार और असित सूर्या तथा मोहनराज इलुमलई और वेलावन वासुदेवन को हार का सामना करना पड़ा।मिश्रित युगल में प्रणव जैरी चोपड़ा और एन सिक्की रेड्डी, अर्जुन एमआर और मनीषा के तथा सौरभ शर्मा और अनुष्का पारिख का सफर भी थम गया।महिला युगल में पूजा डांडू और संजना संतोष तथा बी वेंकट राम्या तुलसी बेलुपुडी और शिवानी संतोष सिंह की जोड़ी भी प्रतियोगिता से बाहर हो गई।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप