देशविरोधी बयानों का जवाब क्या कानून विरोधी बयान हो सकते हैं ?

देशविरोधी बयानों का जवाब क्या कानून विरोधी बयान हो सकते हैं ?

हिन्दुस्तान... एक ऐसा मुल्क जिसने हर किसी को पनाह दी... एक ऐसा मुल्क जिसने हमेशा शांति की बात की लेकिन कुछ लोग शांति को हमारी यानि की देश की कमजोरी समझने लगते हैं उनमें हमारे देश के ही कुछ एक भटके हुए लोग शामिल हैं...

हिन्दुस्तान... एक ऐसा मुल्क जिसने हर किसी को पनाह दी... एक ऐसा मुल्क जिसने हमेशा शांति की बात की लेकिन कुछ लोग शांति को हमारी यानि की देश की कमजोरी समझने लगते हैं उनमें हमारे देश के ही कुछ एक भटके हुए लोग शामिल हैं... लेकिन वो यह नहीं जानते कि जब हम शांति का पाठ पढ़ा सकते हैं तो शांति व्यवस्था को खराब करने वाले लोगों को सीधा भी कर सकते हैं। हम यानि कि हमारा देश, हमारा संविधान और हमारी कानून व्यवस्था...

हाल ही में असम और उत्तर पूर्वी राज्यों को भारत से अलग करने की साजिश रचने वाले और भड़काऊ भाषण देने वाला जेएनयू का छात्र शरजील इमाम जिसे पुलिस रिमांड में रखा गया है। जहां पर उससे पूछताछ हो रही है और इस पूछताछ में कई सारी जानकारियां सामने आई हैं। 

इसे भी पढ़ें: केजरीवाल को आतंकी कहना गलत, शरजील जैसों को बीच चौराहे पर गोली मार देना चाहिए: संगीत सोम

पूछताछ में शरजील इमाम ने क्या बोला ?

देशद्रोह का आरोप शरजील इमाम अभी पुलिस रिमांड में है और क्राइम ब्रांच की स्पेशल टीम उससे चाणक्यपुरी स्थित इंटर स्टेट सेल के ऑफिस में लगातार पूछताछ कर रही है और उसके मंसूबे जानने की कोशिश में जुटी है। इस दौरान एक चौंका देने वाली बात शरजील इमाम ने बताई। शरजील कहता है कि वह भारत को इस्लामिक स्टेट बनाना चाहता है। और उसने यह भी माना कि जितने भी भाषण सोशल मीडिया में वायरल हुए हैं वो सभी असली हैं। 

शरजील इमाम हमारे राष्ट्र को यानि कि हिन्दुस्तान को इस्लामिक स्टेट बनाना चाहता था उस राष्ट्र को जो सेक्युलर है...शायद उसने अच्छी तरफ से भारत का संविधान नहीं पढ़ा होगा। कोई बात नहीं हमने पहले भी आपको बताया था कि हम शांति के पुजारी हैं लेकिन जो शांति को बर्बाद करता है उसके लिए हमारे संविधान ने एक व्यवस्था की है जिसे हम न्यायपालिका के तौर पर देखते हैं और अब शरजील इमाम जैसे लोगों को न्यायपालिका जरूर दंड देगी। वहीं, शरजील इमाम की टिप्पणी पर बयानों का सिलसिला तो शुरू हो चुका था लेकिन अब शिवसेना ने एंट्री मारी है।

इसे भी पढ़ें: भड़काऊ भाषण देने वाला शरजील इमाम धर्म के प्रति है कट्टर

शिवसेना ने क्या कहा ?

तल्ख लहजे के साथ शिवसेना ने शुक्रवार को अपने मुखपत्र सामना में लिखा कि शरजील का हाथ उखाड़कर चिकन नेक हाइवे पर टांग देना चाहिए। इतना ही नहीं शिवसेना ने मोदी सरकार द्वारा लिए गए एक्शन का खुलकर समर्थन भी किया है। हां, वही शिवसेना जिसने सत्ता की चाहत में भाजपा के साथ गठबंधन तोड़ दिया लेकिन आज एक नजीर जरूर पेश की। वह ये थी कि भले हम सत्ता के लिए आपस में लड़ते रहें लेकिन जब कोई देश के टुकड़े करने की बात करेगा तो हम सब एकजुट हो जाएंगे और देश की एकता, अखंडता और सद्भावना का ख्याल रहेगा। तो क्या दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी सरकार का साथ देंगे। क्योंकि दिल्ली पुलिस ने तो शरजील इमाम को गिरफ्तार कर लिया लेकिन उसके खिलाफ केस चलाने के लिए दिल्ली सरकार अनुमति देगी। ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि दिल्ली सरकार और गृह मंत्रालय के बीच में तनाव देखा जा सकता है और यह तनाव जेएनयू के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार की फाइल को लेकर है। खैर शिवसेना की प्रतिक्रिया पर ध्यान देते हैं। 

शिवसेना ने कहा कि देशभर में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ में प्रदर्शन चल रहे हैं लेकिन पूरे आंदोलन के दौरान किसी ने भी देश विरोधी भाषण नहीं दिया था। शरजील के भाषण सिर्फ भड़काऊ ही नहीं, बल्कि देश विरोधी भी थे। चिकन नेक मुस्लिमों का ही है। ऐसा बयान देकर शरजील ने देश के मुस्लिम समाज का सिर कलम कर दिया है।

इसे भी पढ़ें: मैंने अपनी जिंदगी में केजरीवाल से बड़ा झूठा नहीं देखा: अमित शाह

किसे कहते हैं चिकन नेक ?

'चिकन नेक' का अर्थ है मुर्गे की गर्दन और सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण लेकिन कमज़ोर क्षेत्रों को 'चिकन नेक' के नाम से जाना जाता है। हालांकि हम इसे इस तरह से समझ सकते हैं कि पूर्वोत्तर राज्यों को देश से जोड़ने वाले 22 किमी के हाइवे को चिकन नेक कहा जाता है।

शिवसेना के अलावा भी किसी ने कुछ कहा क्या ?

हां, बहुतो ने कहा लेकिन हम बात भाजपा नेता संगीत सोम की करेंगे क्योंकि उन्होंने बहुत बड़ा बयान दे दिया। सोम ने कहा कि शरजील इमाम जैसे देशद्रोहियों को बीच चौराहे पर मार देना चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने धरने में बैठी महिलाओं के स्त्रोत की जानकारी लगाने के लिए जांच की बात कही। हालांकि अब देखना यह होगा कि दिल्ली सरकार शरजील इमाम के खिलाफ केस चलाने की अनुमति देती है।