इस बार घर पर कुछ इस तरह मनाएं नवरात्रि

इस बार घर पर कुछ इस तरह मनाएं नवरात्रि

भारतवर्ष में किसी भी शुभ अवसर या त्योहार पर रंगोली बनाना अच्छा माना जाता है। अब जब आप घर पर नवरात्रि मना रही हैं तो रंगोली बनाना भला कैसे भूल सकते हैं। आप पूजा के कमरे के बीचों−बीच या मां की मूर्ति के पास एक छोटी सी रंगोली बना सकते हैं।

किसी भी मां अम्बे के भक्त के लिए नवरात्रि यकीनन बेहद खास होती है। माना जाता है कि इन पावन नौ दिनों में जो भी भक्त सच्चे मन से मां की पूजा−अर्चना करता है, उसकी मनोकामना पूरी होती है। नवरात्रि के नौ दिनों में अम्बे मां के नौ रूपों की पूजा की जाती है। आप भी यकीनन कलश स्थापना करके मां को अपने घर में बुलाना चाहते होंगे। लेकिन घर पर मां की स्थापना करने से पहले जरूरी है कि आप अपने घर को भी ऐसा बनाएं, जिससे मां दुर्गा प्रसन्न हो। तो चलिए आज हम आपको ऐसी कुछ चीजों के बारे में बता रहे हैं, जिससे ना सिर्फ आपकी नवरात्रि अधिक शुभ होगी, बल्कि इससे मां की विशेष कृपा भी आपको प्राप्त होगी−

जरूरी है सफाई

अगर आप मां की मूर्ति को घर में लाना चाहते हैं तो जरूरी है कि आप अपने घर को भी पहले वैसा बनाएं। इसके लिए आप घर के सभी हिस्सों खासतौर से पूजा के कमरे को विशेषरूप से साफ करें। कोशिश करें कि आप पुराना व बेकार सामान घर से बाहर कर दें। तभी आप मां का आह्वान करें।

इसे भी पढ़ें: सौभाग्य की देवी मां शैलपुत्री की पूजा से मिलते हैं सभी सुख

सजाएं पूजा का कमरा

जिस कमरे में आप मां की स्थापना कर रहे हैं, उसे साफ करने के साथ−साथ सजाना भी उतना ही जरूरी है। आप कमरे को फूलों व फूलमाला की मदद से सजा सकते हैं। इससे कमरा देखने में तो अच्छा लगेगा ही, साथ ही घर में एक सकारात्मक वातावरण भी बनेगा।


बनाएं रंगोली

भारतवर्ष में किसी भी शुभ अवसर या त्योहार पर रंगोली बनाना अच्छा माना जाता है। अब जब आप घर पर नवरात्रि मना रही हैं तो रंगोली बनाना भला कैसे भूल सकते हैं। आप पूजा के कमरे के बीचों−बीच या मां की मूर्ति के पास एक छोटी सी रंगोली बना सकते हैं। यह आपके पूजारूम की शोभा को कई गुना बढ़ा देगा। जरूरी नहीं है कि आप रंगोली कलर्स से ही बनाएं। आप इसे फूलों की मदद से भी बना सकते हैं। यह देखने में काफी अच्छी लगती है।

इसे भी पढ़ें: शारदीय नवरात्र में कलश स्थापना का क्या है खास मुहूर्त

रखें इसका ध्यान

जब आप घर पर नवरात्रि में मां की स्थापना कर रहे हैं तो कुछ बातों का विशेष ध्यान रखें।

सबसे पहले तो पूजा के कमरे में कभी भी अंधेरा न हो। इसके लिए आप लाइट के अलावा कैंडल्स आदि का भी सहारा ले सकते हैं। इससे कमरे का डेकोरेशन और भी अच्छा हो जाता है।

अगर आपने अखंड ज्योति जलाई है तो इसका ध्यान रखें कि वह खंडित न हो। इसके लिए आप समय−समय पर उसमें घी डालते रहें।

सुबह के समय मां की पूजा करने के साथ−साथ आप संध्या में भी मां की आरती करें।

कभी भी घर को अकेला न छोड़ें। कोशिश करें कि नवरात्रि के नौ दिन कम से कम एक व्यक्ति तो हमेशा घर पर हो।

मिताली जैन