आंध्र प्रदेश सरकार ने अडाणी समूह के साथ किया 70,000 करोड़ डाटा सेंटर समझोता

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jan 10 2019 1:08PM
आंध्र प्रदेश सरकार ने अडाणी समूह के साथ किया 70,000 करोड़ डाटा सेंटर समझोता
Image Source: Google

डाटा सेंटर पार्कों का विकास तीन अलग परिसरों तथा विशाखापट्टनम के आसपास किया जाएगा। इससे अगले एक साल के दौरान एक लाख से अधिक प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रोजगार के अवसर पैदा होंगे।

अमरावती (आंध्र प्रदेश)। आंध्र प्रदेश सरकार ने बंदरगाह शहर विशाखापट्टनम में 70,000 करोड़ रुपये के भारी भरकम निवेश से डाटा सेंटर पार्क की स्थापना के लिए अडाणी समूह के साथ सहमति ज्ञापन (एमओयू) पर दस्तखत किए हैं। इसके साथ ही एकीकृत ढांचागत क्षेत्र में काम करने वाले समूह डिजिटल ढांचा क्षेत्र में उतर गया है।

इसे भी पढ़ें- GST कोई नया अतिरिक्त कर नहीं, 99% चीजें 18 फीसदी कर के दायरे में: मोदी

डाटा सेंटर पार्कों का विकास तीन अलग परिसरों तथा विशाखापट्टनम के आसपास किया जाएगा। इससे अगले एक साल के दौरान एक लाख से अधिक प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रोजगार के अवसर पैदा होंगे। एमओयू पर अडाणी समूह के चेयरमैन गौतम अडाणी और आंध्र प्रदेश के प्रमुख सचिव (सूचना प्रौद्योगिकी) के विजयानंद ने हस्ताक्षर किए।

इसे भी पढ़ें- भारत बंद पर जेटली ने कहा, ट्रेड यूनियनों के विरोध-प्रदर्शन के पीछे कोई ठोस आधार नहीं



इस मौके पर प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू और आईटी मंत्री नारा लोकेश भी मौजूद थे। कंपनी ने कहा कि डाटा सेंटर पार्कों की क्षमता पांच गीगावॉट तक होगी और यह पूरी तरह अक्षय ऊर्जा से संचालित होगा। 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप