जेट एयरवेज कर्मचारी समूह, आदि ग्रुप ने मिलकर विमानन कंपनी के लिए बोली लगाई

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jun 28 2019 6:03PM
जेट एयरवेज कर्मचारी समूह, आदि ग्रुप ने मिलकर विमानन कंपनी के लिए बोली लगाई
Image Source: Google

एनसीएलटी में कंपनी के खिलाफ भारतीय स्टेट बैंक ने 26 अन्य ऋणदाताओं की ओर से 20 जून को दिवाला एवं शोधन अक्षमता प्रक्रिया शुरू करने की याचिका दायर की थी।

नयी दिल्ली। जेट एयरवेज की 75 प्रतिशत हिस्सेदारी के लिए उसके कर्मचारियों के एक समूह और आदि ग्रुप ने मिलकर बोली लगाने की शुक्रवार को घोषणा की। यह जेट एयरवेज को खरीदने की अपने तरह की पहली ऐसी पहल है। कर्ज के बोझ से दबी जेट एयरवेज देश की पहली ऐसी विमानन कंपनी है जो एनसीएलटी की प्रक्रिया का सामना कर रही है। एनसीएलटी में कंपनी के खिलाफ भारतीय स्टेट बैंक ने 26 अन्य ऋणदाताओं की ओर से 20 जून को दिवाला एवं शोधन अक्षमता प्रक्रिया शुरू करने की याचिका दायर की थी।

इसे भी पढ़ें: NCLT ने जेट एयरवेज की दिवाला प्रक्रिया शुरू करने की याचिका को किया स्वीकार

जेट एयरवेज पर बैंकों का करीब 8500 करोड़ रुपया और वेंडरों, पट्टा देने वालों और कर्मचारियोंइत्यादि का 25,000 करोड़ रुपया बकाया है। कर्मचारियों के समूह और आदि ग्रुप ने एक बयान के माध्यम से इस साझेदारी की घोषणा की। संयुक्त बयान में कहा गया है कि यह भारतीय विमानन उद्योग के इतिहास में एक नए सवेरे की शुरुआत है। यह पहली बार होगा जब किसी विमानन कंपनी का प्रत्येक कर्मचारी उसका मालिक होगा और उसका परिचालन भी कर रहा होगा। यह प्रधानतंत्री नरेंद्र मोदी के स्वप्न ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास‘ के जैसा है।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story