उज्ज्वला योजना के तहत तीन साल में दिए गए 6.31 करोड़ LPG कनेक्शन

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 6, 2019   19:19
  • Like
उज्ज्वला योजना के तहत तीन साल में दिए गए 6.31 करोड़ LPG कनेक्शन

पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने बुधवार को राज्यसभा में एक सवाल के लिखित जवाब में बताया कि 2016-17 में रसोई गैस (एलपीजी) के दो करोड़, 2017-18 में 1.56 करोड़ कनेक्शन और 2018-19 में चार फरवरी तक 2.80 करोड़ कनेक्शन जारी किये गये।

नयी दिल्ली। सरकार के आंकड़ों के अनुसार उज्ज्वला योजना के तहत इस साल चार फरवरी तक देश में 6.36 करोड़ लाभार्थियों को गैस कनेक्शन दिये गये हैं। पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने बुधवार को राज्यसभा में एक सवाल के लिखित जवाब में बताया कि 2016-17 में रसोई गैस (एलपीजी) के दो करोड़, 2017-18 में 1.56 करोड़ कनेक्शन और 2018-19 में चार फरवरी तक 2.80 करोड़ कनेक्शन जारी किये गये। 

इसे भी पढ़ें: उज्ज्वला के बाद भारत बना दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा एलपीजी उपभोक्ता

उन्होंने बताया कि एक मई 2016 को शुरु की गयी इस योजना के तहत पांच करोड़ कनेक्शन देने का प्रारंभिक लक्ष्य तय किया गया था। इसे बाद में बढ़ाकर आठ करोड़ कर दिया गया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




भारत में होगा BRICS सम्मेलन, ब्राजील, रूस समेत चीन भी होगा शामिल

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 25, 2021   12:47
  • Like
भारत में होगा BRICS सम्मेलन, ब्राजील, रूस समेत चीन भी होगा शामिल

भारत ने ब्रिक्स देशों के वित्त और केंद्रीय बैंक के उप-प्रमुखों की बैठक की मेजबानी की है। बैठक में भाग लेने वाले अन्य लोगों में ब्राजील, रूस, चीन और दक्षिण अफ्रीका के वित्त और केंद्रीय बैंक के उप-प्रमुख शामिल थे।

नयी दिल्ली।भारत ने ब्रिक्स सदस्य देशों के वित्त और केंद्रीय बैंक के उप-प्रमुखों की बैठक की मेजबानी की तथा वित्तीय सहयोग एजेंडा के तहत प्राथमिकताओं को साझा किया। ,एक आधिकारिक बयान में यह जानकारी दी गई है। वर्ष 2021 में भारत की अगुवाई (चेयरमैनशिप) में ब्रिक्स (ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका) वित्तीय सहयोग के तहत यह पहली बैठक थी। बैठक की सह-अध्यक्षता आर्थिक मामलोंके सचिव तरुण बजाज और भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के डिप्टी गवर्नर माइकल देवव्रत पात्रा ने की। बैठक में भाग लेने वाले अन्य लोगों में ब्राजील, रूस, चीन और दक्षिण अफ्रीका के वित्त और केंद्रीय बैंक के उप-प्रमुख शामिल थे।

इसे भी पढ़ें: टाटा कम्युनिकेशंस, पेंटोने को कुछ शर्तों के साथ अधिग्रहण के कुछ नियमों से छूट

वित्त मंत्रालय के बयान के अनुसार, ‘‘बैठक के दौरान भारत ने 2021 में वित्तीय सहयोग एजेंडा के तहत परिचर्चा के लिये प्राथमिकताएं और मुद्दे साझा किये। इसमें वैश्विक आर्थिक परिदृश्य, कोविड-19 संकट से निपटने के लिये उठाये गये कदम, सामाजिक बुनियादी ढांचा वित्त पोषण, नवविकास बैंक की गतिविधियां, लघु एवं मझोले उद्यमों के लिये वित्तीय प्रौद्योगिकी और वित्तीय समावेश समेत अन्य मामले शामिल हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




हरे निशान पर खुला आज का शेयर बाजार, सेंसेक्स-निफ्टी दोनों उछले

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 25, 2021   11:08
  • Like
हरे निशान पर खुला आज का शेयर बाजार, सेंसेक्स-निफ्टी दोनों उछले

सेंसेक्स में 500 से अधिक अंक का उछाल आया है।बीएसई का 30-शेयरों पर आधारित सेंसेक्स कारोबार के शुरुआती दौर में 528.28 अंक यानी 1.04 प्रतिशत उछलकर 51,309.97 अंक पर पहुंच गया।

मुंबई। विदेशी संस्थागत निवेशकों की जोरदार लिवाली से बृहस्पतिवार को बंबई शेयर बाजार (बीएसई) का सेंसेक्स कारोबार की शुरुआत में 500 अंक से अधिक उछल गया।सेंसेक्स में शामिल शेयरों में एचडीएफसी बैंक, रिलायंस इंडस्ट्रीज और इन्फोसिस जैसी कंपनियों में खरीदारी का जोर रहा। कारोबारियों के मुताबिक वैश्विक बाजारों में सकारात्मक रुख का भी घरेलू बाजार को समर्थन मिला। बीएसई का 30-शेयरों पर आधारित सेंसेक्स कारोबार के शुरुआती दौर में 528.28 अंक यानी 1.04 प्रतिशत उछलकर 51,309.97 अंक पर पहुंच गया। इसी प्रकार नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी भी 161.45 अंक यानी 1.08 प्रतिशत बढ़कर 15,143.45 अंक पर पहुंच गया। सेंसेक्स में शामिल शेयरों में एक्सिस बैंक में सबसे ज्यादा करीब तीन प्रतिशत की बढ़त रही।उसके बाद इंडसइंड बैंक, एक्सिस बैंक, ओएनजीसी, कोटक बैंक, स्टेट बैंक, एचडीएफसी बैंक, रिलायंस इंडस्ट्रीज और इन्फोसिस के शेयरों में भी बढ़त रही।

इसे भी पढ़ें: टाटा कम्युनिकेशंस, पेंटोने को कुछ शर्तों के साथ अधिग्रहण के कुछ नियमों से छूट

इसके विपरीत नेस्ले इंडिया, एशियन पेंट्स, हिन्दुस्तान यूनिलीवर और टेक महिन्द्रा के शेयरों में गिरावट का रुख रहा। पिछले कारोबारी सत्र में बीएसई सेंसेक्स 1,030.28 अंक यानी 2.07 प्रतिशत के उछाल के साथ 50,781.69 अंक और निफ्टी 274.20 अंक यानी 1.86 प्रतिशत बढ़कर 14,982 अंक पर बंद हुआ था। शेयर बाजार के शुरुआती आंकड़ों के मुताबिक विदेशी संस्थागत निवेशकों ने बुधवार को बाजार में 28,739.17 करोड़ रुपये के शेयरों की खरीदारी की। एशिया के अन्य बाजारों में शंघाई, हांग कांग, दक्षिण कोरिया का सोल और जापान का टोक्यो बाजार अच्छी बढ़त के साथ कारोबार कर रहे थे। इस बीच वैश्विक बेंचकमार्क ब्रेंट क्रूड तेल का भाव 0.17 प्रतिशत बढ़कर 66.29 डालर प्रति बैरल पर चल रहा था।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




अनावश्यक यात्राओं में कमी लाने के लिए कम दूरी की ट्रेनों के किराए में मामूली वृद्धि: रेलवे

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 24, 2021   20:37
  • Like
अनावश्यक यात्राओं में कमी लाने के लिए कम दूरी की ट्रेनों के किराए में मामूली वृद्धि: रेलवे

कोविड-19 लॉकडाउन में छूट के बाद से रेलवे सिर्फ स्पेशल ट्रेनें चला रही है। शुरुआत में सिर्फ लंबी दूरी की ट्रेनों का संचालन किया जा रहा था लेकिन अब कम दूरी की यात्री ट्रेनों का भी परिचालन हो रहा है।

नयी दिल्ली। कम दूरी की यात्री ट्रेनों के किराए में बढ़ोत्तरी पर लोगों द्वारा चिंता जताए जाने के बाद भारतीय रेल ने बुधवार को कहा कि अनावश्यक यात्राओं में कमी लाने के लक्ष्य से किराए में मामूली वृद्धि की गई है। कोविड-19 लॉकडाउन में छूट के बाद से रेलवे सिर्फ स्पेशल ट्रेनें चला रही है। शुरुआत में सिर्फ लंबी दूरी की ट्रेनों का संचालन किया जा रहा था लेकिन अब कम दूरी की यात्री ट्रेनों का भी परिचालन हो रहा है।

रेल मंत्रालय के बयान के अनुसार, कोविड-19 महामारी के मद्देनजर विशेष प्रावधान के तहत इन ट्रेनों का किराया इतनी ही दूरी की मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों में अनारक्षित टिकट जितना तय किया गया है। यात्री और लोकल ट्रेन सेवा फिर से शुरू करने के बाद रेलवे को किराए में वृद्धि को लेकर यात्रियों की आलोचना झेलनी पड़ी थी। उदाहरण के लिए अमृतसर से पठानकोट का किराया अब 55 रुपये है जो पहले 25 रुपये था। इसी तरह जालंधर से फिरोजपुर तक डीएमयू का किराया 30 रुपये से बढ़कर 60 रुपये हो गया है। बयान के अनुसार, ‘‘रेलवे सूचित करना चाहता है कि यात्री और कम दूरी की अन्य ट्रेनों के किराए में यह मामूली बढ़ोत्तरी लोगों को अनावश्यक यात्राएं करने से रोकने के लिए किया गया है।’’ 

इसे भी पढ़ें: गाड़ी के इंजन में विस्फोट, आग से 10 अफगान नागरिकों की मौत : अधिकारी

उसमें कहा गया है, ‘‘कोविड-19 अभी भी है और कुछ राज्यों में स्थिति बिगड़ रही है। कई राज्यों से आने वाले यात्रियों की स्क्रीनिंग की जा रही है और उन्हें यात्रा करने के लिए हतोत्साहित किया जा रहा है। किराए में मामूली वृद्धि को ट्रेनों में भीड़ होने से और कोविड-19 को फैलने से रोकने के रेलवे के प्रयास के रूप में देखा जाना चाहिए।’’ गौरतलब है कि कोविड-19 के कारण भारतीय रेल ने 22 मार्च, 2020 को ट्रेनों का परिचालन पूरी तरह बंद कर दिया था।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept