बैचलर ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज (BMS) करने के लाभ और इसके स्कोप

Bachelor of Management Studies
Creative Commons licenses
जे. पी. शुक्ला । Apr 19, 2022 2:52PM
बीएमएस कोर्स की लोकप्रियता का एक और कारण यह है कि कॅरियर शुरू करने के लिए यह एक अच्छा कोर्स है। यह एक पेशेवर पाठ्यक्रम है जिसका पेशेवर दुनिया में बहुत महत्व है और बीएमएस डिग्री धारक कॉलेज के ठीक बाद अच्छी नौकरी भी पा जाते हैं।

बीएमएस (बैचलर ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज) एक ऐसा कोर्स है जिसे प्रबंधन के क्षेत्र में एक आशाजनक करियर के लिए स्नातक स्तर पर किया जा सकता है। यह 3 साल की अवधि का कोर्स है जिसे कॉलेज में या डिस्टेंस लर्निंग के जरिए पूरा किया जा सकता है। बीएमएस तेजी से लोकप्रियता हासिल कर रहा है, क्योंकि कई छात्र सामान्य विज्ञान, कला और वाणिज्य के अलावा अन्य व्यावसायिक पाठ्यक्रमों को भी देख रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: नीट यूजी का रजिस्ट्रेशन शुरू! जानें कब होगी परीक्षा, इस लिंक के जरिए करें आवेदन

बीएमएस कोर्स की लोकप्रियता का एक और कारण यह है कि कॅरियर शुरू करने के लिए यह एक अच्छा कोर्स है। यह एक पेशेवर पाठ्यक्रम है जिसका पेशेवर दुनिया में बहुत महत्व है और बीएमएस डिग्री धारक कॉलेज के ठीक बाद अच्छी नौकरी भी पा जाते हैं। यह डिग्री आपको अपनी पसंद के उद्योग में कॅरियर बनाने का अवसर देती है। ये नौकरियां प्रबंधन और प्रशासन के क्षेत्र में हैं, इसलिए शुरुआती वेतन अन्य स्नातक डिग्री धारकों की तुलना में बेहतर होता है। बीएमएस डिग्री निश्चित रूप से एक अच्छा करियर विकल्प है।

बीएमएस डिग्री हासिल करने की आवश्यकता क्या है?

आज कॉरपोरेट जगत कड़ी प्रतिस्पर्धा से भरा हुआ है और जिसके पास कोई विशिष्ट कौशल नहीं है, उसे नौकरी के लिए उपयुक्त नहीं माना जाता है। यह प्रतियोगिता प्रबंधन क्षेत्र में पेशेवर रूप से योग्य स्नातकों को आकर्षित करती है जो प्रशासनिक नौकरियों के कार्यों और जिम्मेदारियों को उठा सकते हैं। 

छात्रों को स्नातक स्तर पर ही प्रबंधन के मूल सिद्धांतों को सीखने के लिए बीएमएस डिग्री आवश्यक हो जाती है। इस तरह छात्र न केवल नौकरियों के लिए अच्छी तरह से तैयार होंगे बल्कि वे बेहतर समझ के साथ विशेष मास्टर्स कोर्स भी कर सकेंगे।

बीएमएस का अध्ययन करने के स्कोप और लाभ क्या हैं?

बीएमएस डिग्री हासिल करने का पहला और सबसे महत्वपूर्ण लाभ यह है कि छात्रों को कॉर्पोरेट कल्चर की मूल बातों से अवगत कराया जाता है। उन्हें किसी भी संकट के मूल कारण का विश्लेषण करने और समझने और उपलब्ध बुनियादी ढांचे का उपयोग करके इस मुद्दे को रणनीतिक रूप से हल करने के लिए सिखाया जाता है।

इसे भी पढ़ें: CTET एग्जाम की तैयारी कर रहे हैं तो फॉलो करें ये टिप्स, जरूर मिलेगी सफलता

छात्रों को बीएमएस पाठ्यक्रम में संगठनात्मक पदानुक्रम, टीम वर्क, लक्ष्य-उन्मुख रवैया, नेतृत्व, समस्या-समाधान कौशल और काम में मुस्तैदी के महत्व को समझने के लिए भी बनाया जाता है। यह उन्हें कॉर्पोरेट जगत के साथ अत्यधिक संगत बनाता है।

बीएमएस कोर्स के टॉप 5 लाभ यहां दिए गए हैं: 

1. बहुमुखी प्रतिभा 

बीएमएस कोर्स में छात्रों को बहुमुखी होना सिखाया जाता है। वे एक कंपनी चलाने में शामिल हर चीज के बारे में सीखते हैं और उन्हें सभी विभागों की गहरी समझ दी जाती है। 

2. बीबीए का विकल्प 

बीएमएस कोर्स बैचलर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (बीबीए) की डिग्री का एक बढ़िया विकल्प है। हालांकि दोनों डिग्री की शिक्षा और अवसर समान ही होते हैं। 

3. व्यावसायिक पाठ्यक्रम 

बीएमएस एक ऐसा प्रोफेशनल कोर्स माना जाता है जिसका काफी महत्व है और अपने दम पर खड़ा होता है। छात्र पाठ्यक्रम के तुरंत बाद काम करना शुरू कर सकते हैं। 

4. बेहतर वेतन 

चूंकि यह डिग्री आपको किसी संगठन के प्रबंधन पक्ष में नौकरी दिलाएगी, इसलिए आप एक अच्छे शुरुआती वेतन की उम्मीद कर सकते हैं। पाठ्यक्रम के दौरान आपको यह भी सिखाया जाएगा कि बेहतर वेतन के लिए बातचीत कैसे करें। 

5. आगे के अध्ययन 

बीएमएस डिग्री के साथ आप आसानी से एक अच्छे एमबीए कोर्स में प्रवेश पा सकते हैं। साथ ही बीएमएस डिग्री धारक अन्य स्ट्रीम के छात्रों की तुलना में एमबीए में बहुत बेहतर प्रदर्शन कर सकेंगे।

इसे भी पढ़ें: रेलवे में नौकरी पाने का सुनहरा मौका, 10वीं पास भी कर सकते हैं आवेदन, पढ़ें सारी जरूरी डिटेल्स

भारत में बीएमएस के बाद नौकरी के अवसर

एक प्रतिष्ठित संस्थान से प्रबंधन अध्ययन में स्नातक करके आप निम्नलिखित क्षेत्रों में अपना करियर विकसित कर सकते हैं:

1. प्रशासन और संचालन

2. परियोजना प्रबंधन (कार्यकारी स्तर)

3. उद्यम प्रबंधन

4. मानव संसाधन प्रबंधन और विकास

5. ग्राहक प्रबंधन

6. डेटा प्रबंधन और सिस्टम विश्लेषण

7. बिक्री और विपणन

8. वित्तीय प्रबंधन

9. संचार प्रबंधन

बीएमएस कोर्स के लिए वेतनमान

जैसा कि पहले उल्लेख किया गया है बीएमएस एक पेशेवर प्रबंधन पाठ्यक्रम है जो आपको एक संगठन के प्रबंधन में ले जाता है। इसलिए आप अपने पूरे करियर में अच्छे वेतन के साथ-साथ लाभ और बढ़ने के अवसरों की उम्मीद कर सकते हैं। शुरुआती वेतन भले ही अधिक न हो लेकिन समय और अनुभव के साथ यह एक सम्मानजनक संख्या में बढ़ सकता है। वर्तमान में बीएमएस स्नातकों के लिए पैमाना 3 लाख से 8 लाख रुपये है। हालांकि  यह उस उद्योग और कंपनी पर निर्भर करता है जिसमें आपको काम मिलता है।

- जे. पी. शुक्ला

अन्य न्यूज़