12वीं के बाद इंडियन नेवी में हैं बेहतर कॅरियर की संभावनाएं

12वीं के बाद इंडियन नेवी में हैं बेहतर कॅरियर की संभावनाएं

भारतीय सेनाओं में शामिल होना किसी भी इंडियन के लिए बेहद गौरव की बात है, और अगर आप भी देश के गौरव 'भारतीय सेनाओं' को ज्वाइन करना चाहते हैं, तो इंडियन नेवी बेस्ट ऑप्शन है। 12वीं के बाद आप इसे ज्वाइन कर सकते हैं।

क्या आपको पता है विश्व की सबसे बड़ी महाशक्ति अमेरिका पूरे विश्व में अपने सैन्य ऑपरेशन किस प्रकार से संचालित करता है?

आखिर अमेरिका की अपनी ज़मीन से तो उसके फाइटर प्लेन बार-बार उड़के तो अलग-अलग जगह जाते नहीं हैं! सच अगर आप नहीं जानते हैं, तो जान लीजिए कि समुद्र के रास्ते अमेरिकी नौसेना के बेड़े, अमेरिका का वर्चस्व दुनिया भर में कायम रखने में सबसे महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

इसे भी पढ़ें: 12वीं के बाद कैसे बनाएं इंडियन एयरफ़ोर्स में कॅरियर

विश्व के अलग-अलग हिस्सों में अमेरिकी सैनिक अपने जलपोतों पर वह तमाम हथियार लेकर चलते हैं, जिसके माध्यम से अमेरिका विश्व के किसी भी देश पर किसी भी कोने से बेहद मजबूत हमला कर सकता है। माना तो यह भी जाता है कि अमेरिका के हजारों परमाणु हथियार भी समुद्र में अलग-अलग जगहों पर मौजूद हैं, जिन्हें ट्रेस कर पाना किसी के लिए संभव नहीं है। न केवल सतह के ऊपर तैरने वाले जहाजों पर उसकी ताकत है, बल्कि दर्जनों व्हेल मछलियों से बड़े आकार की पनडुब्बियाँ अमेरिकी ताकत को सम्पूर्ण विश्व में मजबूत बनाती हैं।

जरा सोचिए, नेवी की वास्तविक इंपॉर्टेंस कितनी अधिक है!

इतना ही नहीं, विश्व के समस्त व्यापार का सबसे बड़ा हिस्सा समुद्री मार्ग द्वारा ही किया जाता है। ऐसे में समुद्री सेना की अहमियत कहीं ज्यादा बढ़ जाती है।

इंडियन नेवी के सैनिक अपनी बहादुरी से भारत की रक्षा करने में तो भूमिका निभाती ही है, समुद्री व्यापार को भी सुगम-सुरक्षित बनाने में वह बेहद महत्वपूर्ण रोल प्ले करते हैं।

भारतीय सेनाओं में शामिल होना किसी भी इंडियन के लिए बेहद गौरव की बात है, और अगर आप भी देश के गौरव 'भारतीय सेनाओं' को ज्वाइन करना चाहते हैं, तो इंडियन नेवी बेस्ट ऑप्शन है। ना केवल एक कॅरियर के तौर पर, बल्कि देश सेवा का गौरव हासिल करने के लिए भी यह बेहद प्रतिष्ठित नौकरियों में से एक मानी जाती है। ऐसे में अगर 12वीं के बाद आप इसे ज्वाइन करना चाहते हैं, तो आप यह जान लीजिए कि आप का चुनाव 2 लेवल पर इसमें किया जा सकता है। 

इसे भी पढ़ें: कक्षा 12वीं परीक्षा के दौरान विदेश में पढ़ाई के लिए बेस्ट 5 टिप्स

एक सेलर लेवल पर, और दूसरा ऑफिसर लेवल पर!

अगर ऑफिसर लेवल की बात की जाए, तो इसके लिए एनडीए प्रमुख एग्जाम माना जाता है। इसके अलावा आर्टिफीसर अप्रेंटिस (AA) और सीनियर सेकेंडरी रिक्रूट (SSR) केटेगरी में भी आप इंडियन नेवी ज्वाइन कर सकते हैं।

अगर आर्टिफीसर अप्रेंटिस की बात करें, तो इसे आप इंडियन नेवी का एक्स ग्रुप कह सकते हैं।

बेसिकली यह टेक्निकल जॉब है, जिसमें एक कैडेट को पूरी टेक्निकल ट्रेनिंग दी जाती है। इसमें समुद्र में वाष्प से चलने वाली मशीनरी, डीजल गैस टरबाइन, गाइडेड मिसाइल, ऑटोमेटिक वेपन सेंसर, कंप्यूटर एडवांस रेडियो, इलेक्ट्रिकल पावर सिस्टम जैसी चीजों की पूरी ट्रेनिंग दी जाती है, ताकि किसी भी मुसीबत से 1 नौसैनिक समुद्र में निपट सके।

इसके लिए प्रत्येक वर्ष दो बार इसकी वैकेंसी निकाली जाती है, और अगर आप किसी भी सेंट्रल अथवा स्टेट बोर्ड से 12वीं पास हैं, और इसमें आपके कम से कम 60 परसेंट मार्क्स हैं, तो 17 साल से 20 वर्ष की आयु के बीच आप इसे अप्लाई कर सकते हैं। बता दें कि 12वीं में गणित और फिजिक्स जैसे सब्जेक्ट के साथ केमिस्ट्री एवं बायोलॉजी और कंप्यूटर साइंस जैसे सब्जेक्ट का होना अनिवार्य है। 

इसके लिए आपको रिटन (लिखित) एग्जाम देना पड़ता है, तो फिजिकल फिटनेस टेस्ट भी आपको देना पड़ता है।

साथ इन दोनों में उत्तीर्ण होने के बाद आप को मेडिकल जांच के लिए उपस्थित होना पड़ता है। हिंदी और अंग्रेजी दो सब्जेक्ट में एग्जाम होते हैं, और इसके लिए आपको 1 घंटे का समय दिया जाता है। अगर क्वेश्चन पेपर की बात करें, तो इंग्लिश मैथ साइंस और जनरल नॉलेज से संबंधित 12 वीं स्तर के प्रश्न पूछे जाते हैं।

फिजिकल एबिलिटी के लिए आप जान लीजिए कि 157 सेंटीमीटर की हाइट होनी आवश्यक है, तो एक्सपैंड चेस्ट कम से कम 5 सेंटीमीटर होना चाहिए। साथ ही आप को आंख, नाक, कान या फिर फ्लैट फूट जैसी कोई बड़ी बीमारी अथवा शारीरिक अक्षमता नहीं होनी चाहिए।

सीनियर सेकेंडरी ग्रुप की अगर बात करते हैं, तो 12वीं के बाद इसे ज्वाइन किया जा सकता है। बेसिकली यह नॉन टेक्निकल कोर होती है, जिसमें आप सेलर बन सकते हैं। इन्हें इंडियन नेवी की आवश्यकताओं के अनुसार इलेक्ट्रिकल कम्युनिकेशन से लेकर इंजीनियरिंग, एविएशन, मेडिकल इत्यादि ब्रांच में तैनाती दी जाती है।

इसमें भी आपको जाने के लिए 12 वीं पास होना आवश्यक है, तो 17 से 20 साल के बीच आपकी एज होनी चाहिए। कम से कम 157 सेंटीमीटर की हाइट होनी चाहिए, और मेंटल लेवल का स्ट्रांग होना आवश्यक है। एसएसआर के लिए आपको रिटेन एग्जाम के साथ फिजिकल एक्जाम, मेडिकल एग्जाम और अंत में मेरिट लिस्ट क्वालीफाई करना होता है। इसमें जब आप सिलेक्ट हो जाते हैं, तो आपको आईएनएस चिल्का में ट्रेनिंग दी जाती है।

एनडीए (NDA) के माध्यम से इंडियन नेवी में कैसे भर्ती होया जाए, इसके बारे में आप जानते ही होंगे। सामान्य तौर पर आप यही समझ लीजिए कि 12वीं में 60 परसेंट मार्क्स आपका पास होना आवश्यक है, तो फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथ इसमें होना ज़रूरी है। मुख्य रूप से आपको 2 पेपर देने होते हैं। इसमें पहले पेपर में 120 क्वेश्चन पूछे जाते हैं, जो कोर गणित के होते हैं, और यह तीन सौ मार्क्स का होता है।

वहीं दूसरे पेपर में अंग्रेजी और जीए (GA) यानी जनरल एबिलिटी के सवाल होते हैं, और यह 600 अंकों का होता है। दोनों के लिए ढाई-ढाई घंटे का आपको समय दिया जाता है। 

इंटरव्यू के लिए आप तभी बुलाए जाते हैं, जब आपने लिखित एग्जामिनेशन पास कर लिया हो!

इस लेख की शुरुआत में आपको अमेरिकन नेवी के बारे में बताया गया है, तो आप यह जान लीजिए कि भारतवर्ष की नेवी दुनिया की सबसे ताकतवर नेवी में से एक मानी जाती है। समुद्री ताकत के रूप में भारत का कोई मुकाबला नहीं है, और देश सेवा करने का अगर जज्बा हो, तो इंडियन नेवी से बेहतर कैरियर ऑप्शन भला और क्या हो सकता है।

- मिथिलेश कुमार सिंह