अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सुनहरे भविष्य के तरफ बढ़ रहा है अफगानिस्तान

By दीपक कुमार मिश्रा | Publish Date: Feb 26 2019 3:19PM
अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सुनहरे भविष्य के तरफ बढ़ रहा है अफगानिस्तान
Image Source: Google

अफगानिस्तान की टीम में कई खिलाड़ी हैं, जो अकेले दम पर मैच जिताना जानते हैं। राशिद खान, मोहम्मद शहजाद, मुजीब उर रहमान, मोहम्मद नबी से लेकर टीम में कई सितारे हैं, जो पहले ही अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान जता चुके हैं।

अफगानिस्तान क्रिकेट में इन दिनों सब कुछ अच्छा हो रहा है। टीम लगातार जीत रही है, खिलाड़ी रिकॉर्ड पर रिकॉर्ड ठोके जा रहे हैं। हर सीरीज में अफगानिस्तान की टीम जीत की नई इबारत लिखती है। वहीं हर एक सीरीज से टीम में कई हीरो पैदा होते हैं, जो आगे चलकर अफगानिस्तान क्रिकेट के सुनहरे भविष्य वाले ख्वाब को और मजबूत करते हैं। आमतौर पर किसी एक खिलाड़ी को उसके एक मैच के प्रदर्शन या फिर सीरीज की वजह से हीरो नहीं बना दिया जाता है। लेकिन अफगानिस्तान के लिए फीलिंग कुछ अलग है। वो देश जिसने ना जाने क्या कुछ झेला है। लेकिन फिर भी हार नहीं मानने का जज्बा इस देश के लड़ाकों को अलग बनाता है। मैदान कोई भी हो जंग का या फिर क्रिकेट का, अफगानिस्तान ने हमेशा अपना हक जीतने के लिए लड़ाई की है। क्रिकेट के मैदान पर भी अफगानिस्तान एक चोट खाया हुआ हीरो ही रहा है। जिसे क्रिकेट खेलने का हक काफी देर से मिला। लेकिन जैसे ही अफगानिस्तान को मौका मिला उन्होंने दिखा दिया कि इस खेल के वो सिकंदर हैं। उन्हें तो बस 22 गज की पट्टी पर अपने जज्बा दिखाने का इंतजार था जिसके मिलते ही उन्होंने ऐसा जादू दिखाया कि क्रिकेट प्रशसंकों को अफगानिस्तान की वो टीम मिल गई जो हर रोज इस खेल की परिभाषा बदलने में लगी हुई है। 
भाजपा को जिताए

हर मैच के साथ बेहतर प्रदर्शन कर रहा है अफगानिस्तान
 
अफगानिस्तान की टीम हर मैच के साथ गजब का प्रदर्शन कर रही है। आयरलैंड के खिलाफ अफगान टीम ने 3 टी-20 मैच की सीरीज में क्लीन स्वीप कर लिया है। इस सीरीज का हर मैच काफी रोमांचक रहा और जमकर रिकॉर्ड भी बने। इस सीरीज के दूसरे मैच में तो टीम ने कमाल कर दिया। 20 ओवर में 278 रनों का स्कोर खड़ा कर दिया था। जो अब तक के टी-20 इतिहास में किसी भी टीम के द्वारा बनाया गया सबसे बड़ा स्कोर है। अफगानिस्तान की तरफ से ओपनर हजरतुल्लाह जजई ने 62 गेंदों में 162 रन की शानदार पारी खेली। जिसमें 16 गगनचुंबी छक्के आयरलैंड के ऊपर दागे गए थे। अब बात सीरीज के तीसरे मैच की जहां अफगानिस्तान की टीम की तरफ से राशिद खान चमक गए। राशिद ने 4 गेंदों में 4 विकेट झटक कर सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में ऐसा दूसरी बार हुआ है। 2007 वन-डे वर्ल्ड कप में श्रीलंका के तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ चार गेंद पर चार विकेट चटकाए थे। इसके साथ ही राशिद टी-20 इंटरनेशनल में हैट्रिक लेने वाले दुनिया के 7वें गेंदबाज हैं। उनसे पहले ब्रेट ली, जैकब ओरम, टिम साउथी, तिसारा परेरा, लसिथ मलिंगा और फहीम अशरफ हैट्रिक ले चुके हैं। राशिद टी-20 इंटरनेशनल में हैट्रिक लेने वाले पहले अफगानी हैं। ऐसा नहीं कि इन दोनों के अलावा टीम के किसी खिलाड़ी में दम नहीं है। टीम के ऑलराउंडर मोहम्मद नबी भी किसी से कम नहीं हैं। उन्होंने आयरलैंड के खिलाफ तीसरे टी-20 में 36 गेंदों में 81 रन ठोक दिए। जिसकी बदौलत टीम ने 210 का विशाल स्कोर खड़ा किया और आयरलैंड को 3 मैचों की टी-20 में एकतरफा रौंद दिया। 
जाहिर है अफगानिस्तान की टीम में कई खिलाड़ी हैं, जो अकेले दम पर मैच जिताना जानते हैं। राशिद खान, मोहम्मद शहजाद, मुजीब उर रहमान, मोहम्मद नबी से लेकर टीम में कई सितारे हैं, जो पहले ही अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान जता चुके हैं। लेकिन इस बीच हजरतुल्लाह जजई, उस्मान घानी जैसे खिलाड़ियों का शानदार प्रदर्शन करना इस टीम के विश्व क्रिकेट में बढ़ते राज की गवाही देता है। साफ है कि विश्व क्रिकेट में इन दिनों कई एसोसिएट टीमें अपनी जगह स्थापित कर रही हैं और बड़ी टीमों को टक्कर दे रही हैं। लेकिन इस बीच अफगानिस्तान क्रिकेट का शानदार प्रदर्शन इन्हें सबसे अलग बनाता है। अफगान क्रिकेट के बढ़ते अस्तित्व में भारतीय क्रिकेट संघ बीसीसीआई का भी काफी बड़ा योगदान है।
 
बीसीसीआई की तरफ से खिलाड़ियों को खेल को जुड़े सभी वो सुविधाएं मुहैया कराई जा रही हैं जिस पर पैर रखकर एक खिलाड़ी बड़ा बनता है और टीम को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाता है। अफगानिस्तान क्रिकेट भी ठीक इन सुविधाओं को अच्छे से फायदा उठा रही है और हर दिन अपने प्रदर्शन से सभी का दिल जीतती है। टीम के खिलाफ देश के लिए क्रिकेट खेलने के साथ ही विश्व भर की टी-20 क्रिकेट लीग में भी तहलका मचा रहे हैं। राशिद खान और मुजीब उर रहमान जैसे खिलाड़ी आईपीएल की टीम का सबसे प्रमुख हथियार हैं। इसके अलावा बिग बैश जैसे लीग में अफगान खिलाड़ियों का डंका बजा है। जाहिर है जिस तरह के अफगानिस्तान का प्रदर्शन रहा है। इसने विश्व क्रिकेट को भौंचक्का कर दिया है। हर क्रिकेट प्रशंसक इस देश के खेल की तारीफ करते हुए तालियां बजाता है और कहता है कि अफगानिस्तान ने बहुत कम समय में विश्व क्रिकेट में बहुत हासिल कर लिया है। लेकिन इस बीच अफगानिस्तान क्रिकेट के उन खिलाड़ियों की भी तारीफ बनती है, जिसने खराब समय से निकलकर विश्व क्रिकेट में अपना राज जमाया। साथ ही दुनिया को बताया कि उनके देश की क्रिकेट में ये घटना कोई तुक्का नहीं है। इसके लिए उनका हर एक खिलाड़ी जमकर मेहनत कर रहा है और देश के क्रिकेट को हर रोज एक नए आयाम की तरफ ले जा रहा है। 


 
-दीपक कुमार मिश्रा

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   



Disclaimer: The views expressed here are solely those of the author in his/her private capacity and do not necessarily reflect the opinions, beliefs and viewpoints of Prabhasakshi and do not in any way represent the views of Prabhasakshi.