चीन ने कोरोना वायरस मामलों के बाद ग्वांगदोंग में यात्रा प्रतिबंध पुन: लागू किए

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 31, 2021   12:29
चीन ने कोरोना वायरस मामलों के बाद ग्वांगदोंग में यात्रा प्रतिबंध पुन: लागू किए

चीन ने दक्षिणी प्रांत ग्वांगदोंग में कोरोना वायरस संक्रमण के नए मामले सामने आने के बाद सोमवार को यात्रा प्रतिबंध फिर से लागू कर दिए। चीनी प्राधिकारियों ने घोषणा की कि ग्वांगदोंग से जाने वाले लोगों के लिए कोरोना वायरस संबंधी जांच कराना अनिवार्य होगा।

बीजिंग। चीन ने दक्षिणी प्रांत ग्वांगदोंग में कोरोना वायरस संक्रमण के नए मामले सामने आने के बाद सोमवार को यात्रा प्रतिबंध फिर से लागू कर दिए। चीनी प्राधिकारियों ने घोषणा की कि ग्वांगदोंग से जाने वाले लोगों के लिए कोरोना वायरस संबंधी जांच कराना अनिवार्य होगा। हांगकांग की सीमा से सटे ग्वांगदोग में पिछले 24 घंटे में संक्रमण के 20 नए मामले सामने आए हैं और ये लोग घरेलू स्तर पर ही संक्रमित हुए हैं।

इसे भी पढ़ें: संक्रमण के बीच अपनी मांगों पर अड़े किसान, राकेश टिकैत बोले- सरकार हमारी बात सुने

ग्वांगदोंग में संक्रमण के नए मामले दुनिया के अन्य देशों की तुलना में कम हैं, लेकिन इन मामलों ने चीनी प्राधिकारियों को सचेत कर दिया था, जिन्हें लगा था कि बीमारी अब काबू में है। प्रांतीय सरकार ने घोषणा की कि विमान, ट्रेन, बस या निजी कार से सोमवार रात 10 बजे के बाद ग्वांगदोंग से जाने वाले लोगों को पिछले 72 घंटे में कराई गई जांच की रिपोर्ट दिखानी होगी। उसने कहा कि मुख्य सड़कों पर ट्रक चालकों के लिए जांच केंद्र बनाए जाएंगे।

इसे भी पढ़ें: यूपी में 3 टी के अन्तर्गत चलाया जा रहा एग्रेसिव टेस्ट, ट्रैक और ट्रीट अभियान, टेस्टिंग बढ़ाने पर जोर

इस बीच, ग्वांगझोउ ने 21 मई को स्थानीय स्तर पर संक्रमण के मामले सामने आने के बाद सामूहिक जांच कराने के आदेश दिए। सरकार ने बताया कि पिछले बुधवार से सात लाख लोगों की जांच की जा चुकी है। देश में सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी ने मार्च में संक्रमण के काबू में होने की घोषणा की थी, जिसके बाद प्रतिबंधों में ढील दी गई थी। आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, मुख्यभूमि में संक्रमण के 91,099 मामले सामने आए हैं और 4,636 लोगों की मौत हुई है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

अंतर्राष्ट्रीय

झरोखे से...