कोविड-19: अमेरिका में सुधार के संकेत, न्यूयॉर्क और न्यू जर्सी में मृतक संख्या घटी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 28, 2020   15:29
कोविड-19: अमेरिका में सुधार के संकेत, न्यूयॉर्क और न्यू जर्सी में मृतक संख्या घटी

न्यूयॉर्क टाइम्स की खबर के मुताबिक क्योमो ने कहा कि 15 मई के बाद, जब न्यूयॉर्क में बंद संबंधी उनके आदेश की अवधि समाप्त हो जाएगी तब राज्य के कुछ हिस्से जो कम प्रभावित हैं, वहां निर्माण एवं उत्पादन जैसे कम जोखिम वाले उद्योगों को खोलना शुरू किया जाएगा। हालांकि न्यूयॉर्क के कई हिस्सों में बंद आगे बढ़ाया जाएगा।

न्यूयॉर्क। न्यूयॉर्क में कोरोना वायरस के चलते सोमवार को कुल 337 लोगों की मौत हुई। गवर्नर एंड्र्यू क्योमो ने मृतक संख्या की जानकारी दी। अमेरिका में कोविड-19 के केंद्र रहे राज्य के पिछले एक महीने के इतिहास में मृतकों की यह सबसे कम संख्या है। न्यू जर्सी के गवर्नर फिलिप मर्फी ने सोमवार को वहां 106 मौत होने की जानकारी दी और न्यूयॉर्क टाइम्स में छपी एक खबर के मुताबिक यह संख्या उसकी आधी है जो दोनों राज्यों में मृतक संख्या शीर्ष पर पहुंचने के वक्त थी। घातक विषाणु से लड़ने की जंग में दोनों राज्यों के प्रगति करने के बाद, क्योमो और मर्फी ने आने वाले महीनों में इन राज्यों को फिर से खोलने संबंधी ब्योरे उपलब्ध कराने शुरू कर दिए हैं।

इसे भी पढ़ें: कोरोना के 6 और नए लक्षण आए सामने, अमेरिकी अधिकारियों ने दी जानकारी

न्यूयॉर्क टाइम्स की खबर के मुताबिक क्योमो ने कहा कि 15 मई के बाद, जब न्यूयॉर्क में बंद संबंधी उनके आदेश की अवधि समाप्त हो जाएगी तब राज्य के कुछ हिस्से जो कम प्रभावित हैं, वहां निर्माण एवं उत्पादन जैसे कम जोखिम वाले उद्योगों को खोलना शुरू किया जाएगा। हालांकि न्यूयॉर्क के कई हिस्सों में बंद आगे बढ़ाया जाएगा। रेडियो साक्षात्कार में क्योमो ने कहा कि वह इस हफ्ते यह फैसला करने की उम्मीद कर रहे हैं कि शहर के स्कूलों को वार्षिक सत्र खत्म होने से पहले फिर से खोला जाए या नहीं। उन्होंने कहा कि वह मर्पी और कनेक्टिकट के गवर्नर नेड लामंट से इस पर चर्चा करेंगे।

इसे भी पढ़ें: कोविड-19 पर ब्रिक्स बैठक में शामिल होंगे चीनी विदेश मंत्री वांग यी

मर्फी ने कहा कि न्यूयॉर्क और न्यू जर्सी के बीच सामंजस्य विस्तारित न्यूयॉर्क सिटी महानगरीय क्षेत्र में संभवत: सबसे करीबी होगा जहां वायरस का प्रभाव बहुत ज्यादा रहा है। उन्होंने कहा कि इसके अलावा कहीं और दोनों राज्यों को एक समान कदम उठाते नहीं देखा जाएगा लेकिन उनकी कार्रवाई लगभग समान होगी। खबर के मुताबिक मर्फी ने कहा कि स्कूल एवं कारोबारों को फिर से शुरू करने से पहले वह देखेंगे कि अस्पताल में भर्ती होने और संक्रमण की दर कम हुई या नहीं और जांच एवं संक्रमितों का पता लगाने की प्रक्रिया तेज हुई या नहीं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।