पॉम्पियो को उम्मीद वेनेजुएला की मादुरो सरकार से कच्चा तेल नहीं खरीदेगा भारत

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 12, 2019   18:53
पॉम्पियो को उम्मीद वेनेजुएला की मादुरो सरकार से कच्चा तेल नहीं खरीदेगा भारत

भारत को तेल की आपूर्ति करने वालों में वेनेजुएला तीसरा सबसे बड़ा देश है और भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा तेल आयातक देश है। पॉम्पियो ने यहां एक प्रेस वार्ता में कहा कि इस मसले पर भारत के विदेश सचिव विजय गोखले से बातचीत हुई है।

वाशिंगटन। अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने सोमवार को कहा कि उन्हें उम्मीद है कि भारत, वेनेजुएला से तेल नहीं खरीदेगा और राष्ट्रपति निकोलस मादुरो के ‘तानाशाही’शासन के लिए ‘आर्थिक जीवनरेखा’नहीं बनेगा। पॉम्पियो का यह बयान ऐसे समय आया है जब अमेरिका मादुरो शासन के खिलाफ अपने कड़े कदम उठा रही है। मादुरो को पहले ही अंतरराष्ट्रीय और घरेलू दबाव के चलते सत्ता में बने रहने में कड़ी चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है।

इसे भी पढ़ें: वेनेजुएला से अपने सभी राजनयिक कर्मचारियों को वापस बुलाएगा अमेरिका

भारत को तेल की आपूर्ति करने वालों में वेनेजुएला तीसरा सबसे बड़ा देश है और भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा तेल आयातक देश है। पॉम्पियो ने यहां एक प्रेस वार्ता में कहा कि इस मसले पर भारत के विदेश सचिव विजय गोखले से बातचीत हुई है। हालांकि उन्होंने बैठक के ब्यौरे के बारे में जानकारी नहीं दी।

इसे भी पढ़ें: जुआन गुइदो ने कहा, वेनेजुएला में बिजली संकट को लेकर संसद में करेंगे अपील

एक सवाल के जवाब में पॉम्पियो ने कहा, ‘‘हम भारत से वही बात कह रहे हैं जो हमने हर देश से कही है। भारत मादुरो सरकार के लिए आर्थिक जीवनरेखा बनने का काम ना करे। तो मैंने उनसे बस इस बारे में बातचीत की। मुझे बातचीत का ब्यौरा नहीं देना चाहिए क्योंकि यह निजी बातचीत थी।’’ पॉम्पियो ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि जिस तरह भारत ने ईरान में हमारे प्रयासों को सहयोग किया उसी तरह वह वेनेजुएला के लोगों के सामने आए वास्तविक संकट को भी समझेगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।