कार्बन उत्सर्जन घटाने में मदद के लिए भारत से समाधान की तलाश: डब्ल्यूईएफ

carbon emissions
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Common
भारत ने नवीकरणीय ऊर्जा को बढ़ावा देने में जो प्रगति की है, वह बेहतरीन है। अगर मैं गलत नहीं हूं तो आंकड़े बता रहे हैं कि आपकी मांग बढ़ी है, लेकिन आपने कोयले की मांग से ऊर्जा की मांग को अलग कर लिया है। यह बेहद महत्वपूर्ण बात है।’’

विश्व आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) को दुनियाभर में कार्बन उत्सर्जन में कमी लाने में मदद के लिए भारत से समाधान की तलाश है। डब्ल्यूईएफ के एक वरिष्ठ कार्यकारी रॉबर्टो बोका ने यहां पीटीआई-को बताया कि मंच का जोर है कि हर जगह की सर्वोत्तम प्रथाओं को सभी के लिए उपलब्ध कराया जाए। उन्होंने कहा, ‘‘भारत ने नवीकरणीय ऊर्जा को बढ़ावा देने में जो प्रगति की है, वह बेहतरीन है। अगर मैं गलत नहीं हूं तो आंकड़े बता रहे हैं कि आपकी मांग बढ़ी है, लेकिन आपने कोयले की मांग से ऊर्जा की मांग को अलग कर लिया है। यह बेहद महत्वपूर्ण बात है।’’

इसे भी पढ़ें: संयुक्त राष्ट्र जलवायु वार्ता में ऐतिहासिक मुआवजा निधि को मंजूरी

बोका डब्ल्यूईएफ की कार्यकारी समिति के सदस्य हैं। वह ऊर्जा और सामग्रियों के भविष्य को आकार देने वाली समिति के प्रमुख भी हैं। उन्होंने बताया कि मंच भारत में शहर, परिवहन और औद्योगिक मांग जैसे क्षेत्रों में काम कर रहा है। भारत में कार्बन उत्सर्जन घटाने के क्षेत्र में हरित हाइड्रोजन सहित कई नवाचार हो रहे हैं और डब्ल्यूईएफ को भारत से समाधान की उम्मीद है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़