सावन के दूसरे सोमवार को बन रहे हैं ये दो शुभ योग, जान लें भोलेनाथ को प्रसन्न करने के उपाय

2nd monday of sawan
google creative
पंचांग के अनुसार, आज यानी 25 जुलाई 2022 को सावन के दूसरा सोमवार है। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार सावन के दूसरे सोमवार को सर्वार्थसिद्धि बन रहा है। इसके अलावा आज व्रज योग भी बन रहा है। मान्यताओं के अनुसार, इस दिन भगवान शिव की श्रद्धापूर्वक पूजा करने से स्वास्थ्य और बल की प्राप्ति होगी।

हिंदू पंचांग के अनुसार, 14 जुलाई से सावन का महीना शुरू हो चुका है। शिव जी की भक्ति का खास महीना सावन शुरू होकर, 12 अगस्त तक रहेगा। सावन का महीना भगवान शिव को समर्पित होता है। माना जाता है कि इस महीने में भगवान शिव की पूजा-आराधना करने से विशेष फल की प्राप्ति होती है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, सोमवार का दिन भगवान शिव का होता है और सावन का महीना भगवान शिव को अतिप्रिय है इसलिए सावन के महीने में हर सोमवार को व्रत-पूजन का विशेष महत्व होता है। माना जाता है कि सावन में सोमवार के दिन व्रत रखने और भगवान शिव की पूजा करने से विवाह में आ रही बाधाएँ दूर होती हैं। खासतौर पर कुँवारी लड़कियां मनचाहे वर की कामना के साथ सावन में सोमवार का व्रत रखती हैं। 

पंचांग के अनुसार, आज यानी 25 जुलाई 2022 को सावन के दूसरा सोमवार है। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार सावन के दूसरे सोमवार को सर्वार्थसिद्धि बन रहा है। इसके अलावा आज व्रज योग भी बन रहा है। मान्यताओं के अनुसार, इस दिन भगवान शिव की श्रद्धापूर्वक पूजा करने से स्वास्थ्य और बल की प्राप्ति होगी।

इसे भी पढ़ें: श्रावण मास में 'रुद्राक्ष' धारण करने से होंगे यह लाभ, जानें इसकी महत्ता

सावन के दूसरे सोमवार को भगवान भोलेनाथ की कृपा पाने के लिए ये उपाय करें 

सावन के सोमवार को भगवान भोलेनाथ की हरियाली से पूजा करने से विशेष पुण्य की प्राप्ति होती है। इस दिन शिवजी को बेलपत्र भांग धतूरा दूर्वा आदि अर्पित करें।

सावन के सोमवार को भगवान शिव का पंचामृत से अभिषेक करने से जीवन में सुख समृद्धि बनी रहती है। इसके लिए भगवान शिव का दूध, दही, घी, शहद और शक्कर से अभिषेक करें।

इसे भी पढ़ें: सावन मास में भोलेनाथ की आराधना से प्राप्त होती है सुख-शांति और समृद्धि

भगवान शिव को बेलपत्र अतिप्रिय है। सावन के सोमवार को भगवान भोलेनाथ को बेलपत्र अवश्य अर्पित करें।

भगवान शिव के साथ शिव परिवार की पूजा भी अवश्य करें। मान्यताओं के अनुसार भगवान शिव की पूजा से पहले नंदी की पूजा करें।

- प्रिया मिश्रा 

अन्य न्यूज़