आंध्र प्रदेश में आई बाढ़ में डूबे 16 लोग अब भी लापता, मुख्यमंत्री रेड्डी का बयान

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 27, 2021   17:15
आंध्र प्रदेश में आई बाढ़ में डूबे 16 लोग अब भी लापता, मुख्यमंत्री रेड्डी का बयान

बाढ़ में डूबे 16 लोग अब भी लापता हैं और राज्य सरकार ने शुक्रवार को कहा कि बाढ़ में 44 अन्य की मौत हो गई। विधानसभा में स्वतः संज्ञान लेते हुए मुख्यमंत्री वाई एस जगन मोहन रेड्डी ने बाढ़ और उसके बाद राज्य सरकार द्वारा उठाए गए राहत कदमों पर बयान दिया।

अमरावती। आंध्र प्रदेश के कडपा जिले में हाल में आई बाढ़ में डूबे 16 लोग अब भी लापता हैं और राज्य सरकार ने शुक्रवार को कहा कि बाढ़ में 44 अन्य की मौत हो गई। विधानसभा में स्वतः संज्ञान लेते हुए मुख्यमंत्री वाई एस जगन मोहन रेड्डी ने बाढ़ और उसके बाद राज्य सरकार द्वारा उठाए गए राहत कदमों पर बयान दिया। उन्होंने कहा कि न केवल मृतकों के परिजनों को पांच-पांच लाख रूपये मुआवजा दिया गया बल्कि लापता लोगों के परिजनों को भी यह राशि दी गई। उन्होंने कहा कि बाढ़ में पूरी तरह क्षतिग्रस्त हुए 1,169 घरों में से प्रत्येक के लिए 95,100 रुपये मुआवजा दिया गया।

इसे भी पढ़ें: CM शिवराज पहुंचे खंडवा, टंट्या भील गौरव कलश यात्रा का किया शुभारंभ

मुख्यमंत्री ने कहा कि इसके अलावा उनमें से प्रत्येक परिवार के लिए 1.80 लाख रुपये की लागत से नया मकान बनवाया जाएगा। आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हुए हर घर के लिए 5,200 रुपये मुआवजा दिया गया।

इसे भी पढ़ें: इन वजहों से होता है फैटी लिवर, नहीं संभले तो होगी बड़ी दिक्कत

रेड्डी ने कहा कि एसपीएस नेल्लोर, कडपा, चित्तूर और अनंतपरमु जिलों में 16 नवंबर को शुरू हुई बारिश ने अप्रत्याशित रूप से तबाही मचाई। उन्होंने कहा कि 18 नवंबर की रात को अन्नमय्या परियोजना के गांवों के 400 परिवारों को ऊंचाई वाले इलाकों में पहुंचाया गया और 900 लोगों को राहत शिविरों में रखा गया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।