अखिलेश ने किया भगवान बुद्ध का अपमान? केशव मौर्य ने शेयर किया 7 सेकेंड का वीडियो, सपा बोली- लोगों को कर रहे गुमराह

अखिलेश ने किया भगवान बुद्ध का अपमान? केशव मौर्य ने शेयर किया 7 सेकेंड का वीडियो, सपा बोली- लोगों को कर रहे गुमराह

केशव प्रसाद मौर्य ने समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव पर भगवान गौतम बुद्ध की प्रतिमा लेने से इनकार करने और उनका अपमान करने का आरोप लगाया है।

उत्तर प्रदेश में जारी विधानसभा चुनाव के बीच राजनीतिक दलों के मध्य आरोप-प्रत्यारोप का दौर भी लगातार जारी है। उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव पर भगवान गौतम बुद्ध की प्रतिमा लेने से इनकार करने और उनका अपमान करने का आरोप लगाया है। इसके साथ ही उपमुख्यमंत्री की तरफ से इससे संबंधित वीडियो भी शेयर किया है। वहीं पूरे मामले पर समाजवादी पार्टी की तरफ से सफाई भी दी गई है। सपा ने पूरे मामले को बीजेपी की तरफ से गुमारह करने की साजिश करार दिया गया है। 

इसे भी पढ़ें: मोदी ने गरीबों के लिए विकास योजनाएं लाकर जात-पात की दीवारें गिरा दी: आरपीएन सिंह

क्या है पूरा मामला

यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने अखिलेश यादव से जुड़ा एक वीडियो शेयर किया है।  ये वीडियो सिराथू क्षेत्र से सपा-अपना दल (कमेरावादी) की प्रत्याशी पल्लवी पटेल के पक्ष में जनसभा के दौरान का है। मंच पर लोहिया वाहिनी के प्रदेश अध्यक्ष राम करन निर्मल ने अखिलेश यादव को भगवान गौतम बुद्ध की प्रतिमा भेंट करने की कोशिश की‌, लेकिन उन्होंने उस मूर्ति (मोमेंटो) को हाथ तक नहीं लगाया। केशव प्रसाद ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर अखिलेश यादव का वीडियो शेयर करते हुए लिखा कि खिलेश यादव जी भगवान तथागत गौतम बुद्ध से इतनी नफ़रत क्यों करते हो,क्या यह भी नई सपा का चरित्र है !

सपा की सफाई

केशव प्रसाद मौर्य की ओर से शेयर किए गए वीडियो पर समाजवादी पार्टी (सपा) ने सफाई दी है। सपा प्रवक्ता अब्दुल हफीज गांधी ने कहा कि केशव मौर्य ने पूरा वीडियो शेयर नहीं किया है। 7 सेकेंड का वीडियो शेयर करके लोगों को गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।