हिमाचल विधानसभा के बाहर खालिस्तानी झंडे पर बोले अमरिंदर, देश की शांति भंग करने की हो रही कोशिश

हिमाचल विधानसभा के बाहर खालिस्तानी झंडे पर बोले अमरिंदर, देश की शांति भंग करने की हो रही कोशिश

अमरिंदर ने अपने ट्वीट में लिखा कि हिमाचल प्रदेश विधानसभा के गेट पर खालिस्तान के झंडे लगाने के कृत्य की कड़ी निंदा करते हैं। उन्होंने कहा कि यह हाशिए पर खड़े उन असामाजिक तत्वों का कृत्य है जो हमारे देश की शांति और भाईचारे को भंग करने की कोशिश कर रहे हैं, जिसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा

चंडीगढ़। धर्मशाला में हिमाचल प्रदेश विधानसभा के गेट पर खालिस्तान के झंडे लटकाए जाने की घटना के बाद से इसको लेकर प्रतिक्रियाएं आ रही हैं। इस घटना की पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कड़ी निंदा की है। उसके साथ ही उन्होंने इसमें शामिल लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है। अमरिंदर ने अपने ट्वीट में लिखा कि हिमाचल प्रदेश विधानसभा के गेट पर खालिस्तान के झंडे लगाने के कृत्य की कड़ी निंदा करते हैं। उन्होंने कहा कि यह हाशिए पर खड़े उन असामाजिक तत्वों का कृत्य है जो हमारे देश की शांति और भाईचारे को भंग करने की कोशिश कर रहे हैं, जिसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा

इसे भी पढ़ें: Himachal Khalistani Flag: घटना पर तेज हुई राजनीति, सिसोदिया ने भाजपा को घेरा, कुमार विश्वास का भी आया बयान

इसके साथ ही उन्होंन लिखा कि मैं हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री से इसमें शामिल लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का आग्रह करता हूं। वहीं, जयराम ठाकुर ने कहा कि हिमाचल सौहार्दपूर्ण राज्य है और यहां शांति कायम रहनी चाहिए। धर्मशाला में हुई घटना के दोषी जहां भी होंगे उन्हें शीघ्र पकड़ा जाएगा। उन्होंने कहा कि उन लोगों का यह कायरतापूर्ण दौर अब अधिक नहीं चलेगा। निश्चित तौर पर इस घटना को अंजाम देने वालों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि धर्मशाला विधानसभा परिसर के गेट पर रात के अंधेरे में खालिस्तान के झंडे लगाने वाली कायरतापूर्ण घटना की मैं निंदा करता हूं। 

इसे भी पढ़ें: धर्मशाला में हिमाचल विधानसभा गेट पर लगे खालिस्तान के झंडे, सीएम ने दोषियों को दी चेतावनी

ठाकुर ने कहा कि इस विधानसभा में केवल शीतकालीन सत्र ही होता है इसलिए यहां अधिक सुरक्षा व्यवस्था की आवश्यकता उसी दौरान रहती है। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि मैं उन लोगों को कहना चाहूंगा कि यदि हिम्मत है तो रात के अंधेरे में नहीं, दिन के उजाले में सामने आएं। गौरतलब, हिमाचल प्रदेश विधानसभा के मुख्य गेट पर खालिस्तान समर्थक झंडे देखने के बाद से हड़कंप मच गया। स्थानीय लोगों की ओर से प्रशासन को इस बात की जानकारी दी गई। प्रशासन हरकत में आया। पुलिस ने फौरन विधानसभा गेट से खालिस्तानी झंडे हटवा दिए। दीवारों पर भी खालिस्तान लिख दिया गया था जिसे पुलिस की टीम ने ही सुबह सवेरे मिटा दिया है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।