धर्मशाला में हिमाचल विधानसभा गेट पर लगे खालिस्तान के झंडे, सीएम ने दोषियों को दी चेतावनी

धर्मशाला में हिमाचल विधानसभा गेट पर लगे खालिस्तान के झंडे, सीएम ने दोषियों को दी चेतावनी
ANI

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने इस कृत्य की निंदा की। ट्विटर पर उन्होंने लिखा, "मैं धर्मशाला विधानसभा परिसर के गेट पर खालिस्तान के झंडे लगाने की कायराना हरकत की निंदा करता हूं। इस विधानसभा में केवल शीतकालीन सत्र होता है, इसलिए उस दौरान वहां और सुरक्षा व्यवस्था की जरूरत है।

रविवार की सुबह धर्मशाला में हिमाचल प्रदेश विधान सभा के मुख्य गेट और चारदीवारी पर खालिस्तान के झंडे बंधे मिले।मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, कांगड़ा पुलिस एसपी खुशाल शर्मा ने कहा कि यह घटना देर रात या सुबह की हो सकती है।हमने विधानसभा पर लगे झंडे हटा दिए हैं।

उपायुक्त डॉ निपुण जिंदल ने घटना की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि पुलिस अपराधियों को पकड़ने के लिए आसपास के सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है। उन्होंने घटना को लेकर कहा कि "कुछ बदमाशों ने राज्य विधानसभा के बाहरी गेट पर पांच से छह खालिस्तानी झंडे लगाए थे और दीवार पर खालिस्तान जिंदाबाद के नारे लिखे थे। झंडे हटा दिए गए हैं और लेखन को साफ कर दिया गया है। पुलिस ने मामला दर्ज किया है और जांच जारी है,"।

इसे भी पढ़ें: जम्मू-कश्मीर: कुलगाम में आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़, 2 आतंकवादी के फंसे होने की आशंका

पुलिस ने कहा कि यह पंजाब के कुछ पर्यटकों के कृत्य की तरह लग रहा है और इस मामले में मामला दर्ज किया जाएगा। इस बीच, हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने इस कृत्य की निंदा की है। ट्विटर पर उन्होंने लिखा, "मैं धर्मशाला विधानसभा परिसर के गेट पर खालिस्तान के झंडे लगाने की कायराना हरकत की निंदा करता हूं। इस विधानसभा में केवल शीतकालीन सत्र होता है, इसलिए उस दौरान वहां और सुरक्षा व्यवस्था की जरूरत है। घटना होगी जांच की जाएगी और सख्त कार्रवाई की जाएगी।"





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।