मां अन्नपूर्णा कनाडा टू काशी, विश्वनाथ शिव अविनाशी, अब ज्ञानवापी प्रतिक्षार्थी, मां गंगा ने बुलाया, अधूरे छूटे कार्यों का ब्लूप्रिंट भी थमाया?

modi
ANI
अभिनय आकाश । May 16, 2022 7:06PM
2014 के चुनाव के दौरान बीजेपी के पीएम पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने पर्चा भरने से पहले कहा था 'ना मुझे किसी ने भेजा है, ना मैं यहाँ आया हूँ मुझे तो माँ गंगा ने बुलाया है'। मोदी को मां गंगा ने केवल बुलाया ही नहीं बल्कि अधूरी छूटे कार्यों को करने का ब्लूप्रिंट भी बताया।

जब भी सपनों की बात होती है, पाश का नाम अपने आप जबान पर आ जाता है। पाश ने कहा है - सबसे खतरनाक होता है सपनों का मर जाना। लेकिन सपनों का पूरा होना क्या होता है? किसी विद्वान ने कुछ नहीं भी कहा हो तो हम बता देते हैं सपनों का पूरा होना एक अद्भुत एहसास होता है। भले ही मोदी के राजनीतिक विरोधी उन्हें सपनों का सौदागर बताते हो लेकिन खुद पीएम मोदी के अनुसार वो सपने देखते हैं और उसे पूरा करने का माद्दा भी रखते हैं। चाणक्य ने शासक बनने और सत्ता संभालने से संबंधित कुछ नीतियां बताई थीं। चाणक्य कहते हैं कि जो शासक धर्म में आस्था रखता है, वही देश के जन मानस को सुख पहुंचा सकता है। सद्विचार और सद् आचरण को धर्म माना जाता है। जिसमें ये दो गुण हैं वही राजा बनने योग्य है। भले ही मोदी के राजनीतिक विरोधी उन्हें सपनों का सौदागर बताते हैं, लेकिन खुद प्रधानमंत्री मोदी के मुताबिक वो सपने देखते हैं और उसे पूरा करने का भी माद्दा रखते हैं। याद कीजिए साल 2014 के मोदी के चुना प्रचार का वो दौर जो शुरू तो हर हर मोदी, घर घर मोदी के स्लोगन से शुरू हुआ था। लेकिन 2014 के चुनाव के दौरान बीजेपी के पीएम पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने पर्चा भरने से पहले कहा था 'ना मुझे किसी ने भेजा है, ना मैं यहाँ आया हूँ मुझे तो माँ गंगा ने बुलाया है'। उस वक्त लोगों को ये चुनाव ही हवा-हवाई बात लगी होगी। लेकिन उसके बाद के घटनाक्रम पर नजर डालें तो पाएंगे कि नरेंद्र मोदी को मां गंगा ने केवल बुलाया ही नहीं बल्कि अधूरी छूटे कार्यों को करने का ब्लूप्रिंट भी बताया। एक बार पीएम मोदी ने खुद कहा भी था कि 'शायद मुझसे भोलेबाबा ने कहा कि बेटे बातें तो बहुत करते हो - आओ यहां काम करके दिखाओ। काशी केवल देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र नहीं देश की आस्था का एक बड़ा केंद्र है। भगवना शिव की नगरी जहां पर साक्षात शिव वास करते हैं। 

इसे भी पढ़ें: संतों की मांग, जैसे कृषि कानूनों को लिया गया वापस, वैसे ही स्पेशल प्रोविजन एक्ट 1991 की भी हो वापसी

सोमनाथ की तर्ज पर संवारा गया काशी विश्वनाथ

काशी का इतिहास हजारों साल पुराना है। अमेरिकी लेखर मार्क ट्वेन ने कहा था- बनारस इतिहास से भी पुराना है, परंपराओँ से भी प्राचीन है। किवदंतियों से भी पुरातन है और अगर हम इन सबको जोड़ दें तो उनसे भी दोगुना प्राचीन है। सदियों से भक्त बाबा की इस प्राचीन नगरी में दर्शन करते आ रहे हैं। लेकिन अब काशी विश्वनाथ नगरी की रूप रेखा बदल गई है।  मां गंगा और बाबा विश्वनाथ एक दूसरे को लगभग देख सकते हैं। 13 दिसंबर 2021 को पीएम मोदी के हाथों पहले चरण की परियोजना लोकार्पित हुई। कि लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल ने गुजरात में सोमनाथ मंदिर का वर्तमान रूप दिया था और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहल पर काशी विश्वनाथ धाम का भव्य दरबार दुनिया के सामने है।

100 साल बाद  मां अन्नपूर्णा की प्राचीन मूर्ति आई वापस

लगभग एक सदी पहले भारत से चुराई गई देवी अन्नपूर्णा की एक प्राचीन मूर्ति को कनाडा से वापस लाई गई। पीएम मोदी ने कहा था। यह मूर्ति वाराणसी (मोदी के लोकसभा क्षेत्र) के एक मंदिर से चुराई गई थी और लगभग 100 साल पहले 1913 के आसपास कहीं तस्करी करके देश से बाहर ले जाया गया था। पीएम मोदी ने कहा था कि “माता अन्नपूर्णा का काशी के साथ एक बहुत ही खास बंधन है और मूर्ति की वापसी हम सभी के लिए बहुत सुखद है। सौ साल पहले चोरी हुई इस प्रतिमा का आकार 17 सेंटीमीटर लंबा, 9 सेंटीमीटर चौड़ा और 4 सेंटीमीटर पतला है।

इसे भी पढ़ें: कुएं के अंदर मिला 12 फीट 8 इंच का शिवलिंग, वाराणसी कोर्ट ने दिया जगह को सील करने के आदेश, मुस्लिम पक्ष ने दावे को नकारा

सर्वे से मिला ज्ञान, शिव करेंगे समाधान

हिंदू पक्ष के वकील मदन मोहन यादव ने दावा किया कि ज्ञानवापी के वजुखाने में 12 फीट 8 इंचा का शिवलिंग मिला है। उनका कहना है कि ये शिवलिंग के सामने है और पूरा पानी निकालकर देखा गया।  ज्ञानवापी के चप्पे-चप्पे की पड़ताल के बाद अब हिंदू पक्ष ने मस्जिद परिसर में शिवलिंग मिलने का दावा किया है। याचिकाकर्ता लक्ष्मी देवी के पति सोहन लाल ने नंदी के ठीक सामने बाबा भोलेनाथ की तलाश पूरी होने की बात कही है। उनका कहना है, 'जिसकी नंदी प्रतीक्षा कर रही थीं, वो बाबा मिल गए। शिवलिंग की बरामदगी के बाद हिंदू पक्ष के लोग वाराणसी कोर्ट पहुंचे और उसके बाद कोर्ट की तरफ से जहां शिवलिंग मिला है उस जगह को सील करने के आदेश डीएम और कमिश्नर को जारी किए गए हैं।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़