भूपेश बघेल ने किया श्री राम का गुणगान, रमन सिंह बोले- सबूत मांगने वाले आज राम भक्त होने का नाटक कर रहे

भूपेश बघेल ने किया श्री राम का गुणगान, रमन सिंह बोले- सबूत मांगने वाले आज राम भक्त होने का नाटक कर रहे
ANI

रमन सिंह ने कहा कि कांग्रेस परिवार भगवान राम के अस्तित्व को मानता नहीं है, सबूत मांगता है। रामसेतु को तोड़ने के लिए तैयार हो जाता है और राम मंदिर निर्माण को टाल कर रखता है और आज अचानक राम भक्त होने का नाटक कर रहे हैं।

हमारे देश में भगवान राम को लेकर राजनीति लगातार होती रही है। राम और अयोध्या का राम मंदिर अक्सर सुर्खियों में रहता है। इन सब के बीच भगवान राम को लेकर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बड़ा बयान दिया है। अपने बयान में भूपेश बघेल ने साफ तौर पर कहा कि भगवान राम हमारे लिए आदर्श हैं और यही कारण है कि हम रामराज्य की कल्पना करते हैं। दूसरी ओर भाजपा नेता और छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने भूपेश बघेल पर जोरदार पलटवार किया है।

इसे भी पढ़ें: अटल कैंसर केयर केंद्र की शुरुआत करते हुए बोले जेपी नड्डा, जो काम करने वाले हैं उन्हें काम दीजिए, जो नहीं करने वाले हैं, उन्हें आराम दीजिए

भूपेश बघेल का बयान 

न्यूज़ एजेंसी एएनआई के मुताबिक भूपेश बघेल ने कहा कि राम को मर्यादा पुरुष के रूप में हम लोग मानते हैं। राम भद्र पुरुष हैं राम हमारे लिए आदर्श हैं इसलिए रामराज्य की कल्पना हम लोग करते हैं। लेकिन पिछले कुछ वर्षों से राम की छवि को बदलने की कोशिश की जा रही है। युद्धक राम के रूप में दिखाने की कोशिश हो रही है। उन्होंने कहा कि इसी प्रकार से हनुमान जी जो भक्ति ज्ञान और शक्ति का समूचे हैं, उनकी भी छवि को बदलने की कोशिश की जा रही है। एक आक्रोशित हनुमान जी के रूप में दिखाया जा रहा है, यह समाज के लिए उचित नहीं है।

इसे भी पढ़ें: कभी रुकी थी प्रभु श्रीराम की बारात, अब बिहार में बनेगा विश्व का सबसे बड़ा मंदिर, 33 फीट ऊंचा शिवलिंग भी होगा स्थापित

रमन सिंह का पलटवार

पलटवार में रमन सिंह ने कहा कि कांग्रेस परिवार भगवान राम के अस्तित्व को मानता नहीं है, सबूत मांगता है। रामसेतु को तोड़ने के लिए तैयार हो जाता है और राम मंदिर निर्माण को टाल कर रखता है और आज अचानक राम भक्त होने का नाटक कर रहे हैं। रमन सिंह ने भूपेश बघेल की यात्रा पर भी तंज कसा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अपनी चिंता करे। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल हैलीकॉप्टर यात्रा पर निकले हैं जहां उन्हें पता चल गया है कि सिर्फ़ 30 विधायकों की नहीं बल्कि पूरे सरकार की स्थिति नाज़ुक है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...