अटल कैंसर केयर केंद्र की शुरुआत करते हुए बोले जेपी नड्डा, जो काम करने वाले हैं उन्हें काम दीजिए, जो नहीं करने वाले हैं, उन्हें आराम दीजिए

अटल कैंसर केयर केंद्र की शुरुआत करते हुए बोले जेपी नड्डा, जो काम करने वाले हैं उन्हें काम दीजिए, जो नहीं करने वाले हैं, उन्हें आराम दीजिए
@BJP4India

जेपी नड्डा ने कहा कि जब तक अटल जी की सरकार नहीं आई थी, तब तक देश में 1 एम्स होता था। अटल जी की सरकार आने के बाद 6 एम्स देश भर में बने। लेकिन उसके बाद यूपीए की सरकार में 10 साल तक एक भी एम्स नहीं बना। उसके बाद जब मोदी सरकार आई तो फिर से देश में 16 एम्स बने।

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने हरियाणा के अंबाला में अटल कैंसर केयर सेंटर का उद्घाटन किया। इस दौरान लोगों को संबोधित करते हुए जेपी नड्डा ने कहा कि अटल कैंसर केयर सेंटर जो आज जनता को समर्पित हुआ है, इसमें कई मॉड्यूलर सुविधाएं दी गई है। इसमें जो आधुनिक मशीनें लगाई गई हैं, वो पीजीआई चंडीगढ़ के बाद उत्तर भारत के किसी दूसरे अस्पताल में लगाई गई हैं। इस अस्पताल का लाभ हरियाणा, पंजाब, उत्तराखंड व अन्य राज्यों के लोग भी लेंगे। नड्डा ने कहा कि देश का सबसे बड़ा कैंसर अस्पताल भी हरियाणा के झज्जर में स्थापित किया गया है। लगभग 2,035 करोड़ रुपये की लागत से बनाया गया ये 710 बिस्तरों वाला सबसे बड़ा कैंसर अस्पताल है।

इसे भी पढ़ें: हरियाणा में बीते 12 महीनों में आया 28,000 करोड़ रुपये का निवेश: दुष्यंत चौटाला

जेपी नड्डा ने कहा कि जब तक अटल जी की सरकार नहीं आई थी, तब तक देश में 1 एम्स होता था। अटल जी की सरकार आने के बाद 6 एम्स देश भर में बने। लेकिन उसके बाद यूपीए की सरकार में 10 साल तक एक भी एम्स नहीं बना। उसके बाद जब मोदी सरकार आई तो फिर से देश में 16 एम्स बने। इसलिए जो लोग काम करने वाले हैं, उन्हें आप काम दीजिए। जो काम नहीं करने वाले हैं, उन्हें आराम दीजिए। नड्डा ने कहा कि पहले के नेता जातिवाद, परिवारवाद, क्षेत्रवाद के नाम पर राजनीति करते थे। लेकिन अब नेता आते हैं तो अपने काम का रिपोर्ड कार्ड रखते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में राजनीति में ये बदलाव आया है। 

इसे भी पढ़ें: बग्गा के पिता का बड़ा खुलासा, तजिंदर को AAP में शामिल करना चाहते थे केजरीवाल

जेपी नड्डा ने कहा कि भारत ने वैक्सीन मैत्री के तहत 100 देशों को करीब 18.5 करोड़ वैक्सीन दी हैं। इसमें से 48 देश ऐसे हैं जिन्हें 1.43 करोड़ वैक्सीन भारत ने सहायता के रूप में मुफ्त में दी हैं। हरियाणा की डिजिटल योजना भ्रष्टाचार को जड़ से समाप्त कर रही है। इसके तहत सरकार के 37 विभागों की 485 योजनाएं डिजिटल कर दी गई हैं। बीच में कोई बिचौलिया नहीं है। हरियाणा सरकार की इन योजनाओं का लाभ सीधे जनता तक पहुंच रहा है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।