उद्धव ठाकरे ने संजय राउत को दिया इंटरव्यू, बागी गुट पर साधा निशाना, बीजेपी ने बताया पारिवारिक कार्यक्रम

Uddhav Thackeray
creative common
अभिनय आकाश । Jul 26, 2022 1:57PM
शिवसेना नेता और सांसद और सामना के कार्यकारी संपादक संजय राउत ने पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे का एक विशेष साक्षात्कार किया। इस मौके पर उन्होंने मौजूदा राजनीतिक घटनाक्रम पर भी टिप्पणी की।

एकनाथ शिंदे की बगावत के बाद शिवसेना में सिर फुटौव्वल का दौर लगातार जारी है। पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे ने अब कमर कस ली है, आदित्य ठाकरे भी सक्रिय हो गए हैं। शिवसेना नेता और सांसद और सामना के कार्यकारी संपादक संजय राउत ने पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे का एक विशेष साक्षात्कार किया। इस मौके पर उन्होंने मौजूदा राजनीतिक घटनाक्रम पर भी टिप्पणी की। इस इंटरव्यू को लेकर बीजेपी ने उद्धव ठाकरे और शिवसेना पर जोरदार हमला बोला है।

इसे भी पढ़ें: शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने बागी नेताओं की तुलना पेड़ के सड़े हुए पत्तों से की, कहा- भरोसा करना बड़ी गलती

बीजेपी नेता चित्रा वाघ ने अपने ट्विटर अकाउंट से इस बारे में ट्वीट करते हुए इसे घर का इंटरव्यू करार दिया। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि क्या हैं वो सवाल, क्या हैं वो जवाब, क्या हैं घर-घर का इंटरव्यू। इसके साथ ही उन्होंने इसे पारिवारिक कार्यक्रम बताया हैं। इसके साथ ही शिवसेना प्रमुख पर आरोप लगाते हुए बीजेपी नेता ने कहा कि अगर पूर्व मुख्यमंत्री ने बातें बताई थीं, तो लोगों उनकी बात सुनकर अच्छा लगता। लेकिन जबरन वसूली के अलावा कुछ नहीं किया।

इसे भी पढ़ें: पुणे में एक छोटा प्रशिक्षण विमान दुर्घटनाग्रस्त, महिला पायलट घायल

चित्रा वाघ ने कहा कि इसे अपना हिंदुत्व कहते हैं और कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस की गोद में बैठे हैं जो स्वतंत्रता के नायक सावरकर को माफी मांगने वाला बताती है, हिंदू आतंकवाद की अवधारणा को बढ़ावा देती है। उद्धव ठाकरे ने आरोप लगाया कि 'उद्धव ठाकरे ने विरोधियों पर हमला बोलते हुए कहा कि जब उनकी तबीयत खराब थी तो बड़ी संख्या में लोग उनके ठीक होने की प्रार्थना कर रहे थे। वहीं कुछ ऐसे भी लोग थे जो इसके उलट साजिशें रचने में जुटे हुए थे। इस पर अब शिंदे समूह के विधायक ने प्रतिक्रिया दी है। बागी विधायक ने उद्धव ठाकरे द्वारा लगाए गए आरोपों का खंडन किया है। कहा जाता है कि ''उद्धव ठाकरे ने कहा कि बीमार होने पर उन्होंने बगावत की, यह पूरी तरह से झूठ है।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़