UP चुनाव को लेकर भाजपा की दिल्ली बैठक, अमित शाह और नड्डा की अगुवाई में मंथन शुरू

UP चुनाव को लेकर भाजपा की दिल्ली बैठक, अमित शाह और नड्डा की अगुवाई में मंथन शुरू

गृह मंत्री अमित शाह और जेपी नड्डा की अगुवाई वाली बैठक में उत्तर प्रदेश के चुनाव प्रचार और चुनाव प्रबंधन को लेकर रणनीतियां बन रही हैं। 403 सीट वाले विधानसभा चुनाव को लेकर भाजपा ने 300 प्लस सीटें जीतने का लक्ष्य रखा है और इसके क्रियान्वयन की योजना भी तैयार कर ली है।

नयी दिल्ली। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर रणनीतियां बनना शुरू हो चुकी हैं। इसी बीच गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा की अगुवाई में 'मिशन उत्तर प्रदेश' को लेकर चुनावी मंथन हो रहा है। इस बैठक में भाजपा प्रदेश प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान, प्रदेशाध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, संगठन महामंत्री बीएल संतोष, यूपी प्रभारी राधामोहन सिंह, कर्मवीर सिंह समेत कई पदाधिकारी मौजूद रहे। 

इसे भी पढ़ें: चित्रकूट में महिलाओं से प्रियंका गांधी ने कहा, सुनो द्रौपदी अब शस्त्र उठा लो अब गोविंद ना आएंगे 

300 प्लस का रखा लक्ष्य

अमित शाह और जेपी नड्डा की अगुवाई वाली बैठक में उत्तर प्रदेश के चुनाव प्रचार और चुनाव प्रबंधन को लेकर रणनीतियां बन रही हैं। 403 सीट वाले विधानसभा चुनाव को लेकर भाजपा ने 300 प्लस सीटें जीतने का लक्ष्य रखा है और इसके क्रियान्वयन की योजना भी तैयार कर ली है। साल 2017 के विधानसभा चुनाव के वक्त अमित शाह भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष थे और भाजपा ने 300 प्लस का आंकड़ा पार किया था। जिसके बाद योगी आदित्यनाथ को प्रदेश की कमान सौंपी गई थी। 

इसे भी पढ़ें: सपा प्रमुख पर केशव मौर्य का तंज, अपना नाम ‘अखिलेश अली जिन्ना’ और पार्टी का ‘जिन्नावादी पार्टी’ रख लें 

'मिशन उत्तर प्रदेश' को लेकर 11 अक्टूबर को नयी दिल्ली में एक बैठक हुई थी। इस बैठक में भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, संगठन महासचिव बीएल संतोष, पार्टी प्रदेश प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान, प्रदेशाध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह समेत कई नेता मौजूद थे। माना जा रहा है कि इस बैठक में '100 दिन 100 कार्यक्रम' अभियान की रणनीति पर चर्चा हुई थी। जिसके बाद आज एक बार फिर से सभी नेता पार्टी को मजबूत करने की दिशा पर बातचीत कर रहे हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।