पालघर और बुलंदशहर की वारदातों की तुलना उचित नहीं: विश्व हिन्दू परिषद

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 30, 2020   13:45
पालघर और बुलंदशहर की वारदातों की तुलना उचित नहीं: विश्व हिन्दू परिषद

विश्व हिन्दू परिषद के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष कोकजे ने कहा कि पालघर में पुलिस की मौजूदगी में दो साधुओं समेत तीन लोगों को हिंसक भीड़ ने सरेआम पीट-पीटकर मार डाला, जबकि बुलंदशहर में मंदिर परिसर में सो रहे दो साधुओं की एक व्यक्ति द्वारा हत्या कर दी गयी।

इंदौर। विश्व हिन्दू परिषद के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष विष्णु सदाशिव कोकजे ने बृहस्पतिवार को कहा कि महाराष्ट्र तथा उत्तर प्रदेश में साधु-संतों की हत्या की हालिया वारदातें अलग-अलग प्रकृति की हैं। लिहाजा इनकी तुलना अनुचित है। कोकजे ने कहा कि पालघर में पुलिस की मौजूदगी में दो साधुओं समेत तीन लोगों को हिंसक भीड़ ने सरेआम पीट-पीटकर मार डाला, जबकि बुलंदशहर में मंदिर परिसर में सो रहे दो साधुओं की एक व्यक्ति द्वारा हत्या कर दी गयी। जाहिर है कि ये दोनों वारदातें अलग-अलग प्रकृति की हैं और इनकी तुलना उचित नहीं है। 

इसे भी पढ़ें: पालघर में साधुओं की हत्या मामले में बड़ी कार्रवाई, तीन और पुलिसकर्मी निलंबित 

मध्य प्रदेश और राजस्थान के उच्च न्यायालयों के पूर्व न्यायाधीश ने कहा, पालघर में पुलिस की आंखों के सामने भीड़ हिंसा की वारदात महाराष्ट्र की कानून-व्यवस्था पर गंभीर सवाल उठाती है। उन्होंने यह भी कहा कि पालघर में भीड़ हिंसा की घटना को बच्चा चोरी की कथित अफवाहों से जोड़ने की कोशिश की जा रही है। लेकिन दो साधुओं समेत तीन लोगों की बेरहमी से जान लेने वाली इस वारदात के कारणों की गहराई से जांच की जानी चाहिये।

इसे भी देखें : Palghar में दूसरे हमले में गयी थी साधुओं की जान, देखिये सबसे बड़ा खुलासा  





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...