मध्यप्रदेश में कांग्रेस बिना दूल्हे की बारात, जीत का चौका मारेगी भाजपा: राजनाथ

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 24, 2018   10:27
मध्यप्रदेश में कांग्रेस बिना दूल्हे की बारात, जीत का चौका मारेगी भाजपा: राजनाथ

केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कांग्रेस को मध्यप्रदेश में ‘‘बिना दूल्हे की बारात’’ करार देते हुए शुक्रवार को दावा किया कि भाजपा प्रदेश में विकास और सुशासन की ‘‘पिच पर इस बार फिर जीत का चौका मारेगी।’’

सिंगरौली (मध्य प्रदेश)। केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कांग्रेस को मध्यप्रदेश में ‘‘बिना दूल्हे की बारात’’ करार देते हुए शुक्रवार को दावा किया कि भाजपा प्रदेश में विकास और सुशासन की ‘‘पिच पर इस बार फिर जीत का चौका मारेगी।’’ सिंह ने जिला मुख्यालय से 15 किलोमीटर दूर तियरा में आमसभा को सम्बोधित करते हुए कहा, ‘‘कांग्रेस बिना दूल्हे की बारात है। भाजपा प्रदेश में विकास और सुशासन के पिच पर इस बार फिर जीत का चौका मारेगी।’’ भाजपा के वरिष्ठ नेता सिंह ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ के वायरल विडियो पर कटाक्ष करते हुए कहा कि कांग्रेस दबाव एवं बंटवारे की राजनीति करती है। उन्होंने कांग्रेस नेतृत्व पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि कांग्रेस में कोई नेता छिंदवाडा से तो कोई गुना से अस्तित्व की लड़ाई लड़ रहा है। लेकिन, भाजपा विकास और सुशासन के मुद्दे पर जनता का विश्वास हासिल कर रही है।

उन्होंने उरी में पाकिस्तान की कायराना हरकत का जिक्र करते हुए कहा कि पाकिस्तान ने हमारे पांच सैनिकों की हत्या की जिसके बदले हमने उसको चेतावनी देते हुये सर्जिकल स्ट्राइक कर सैनिकों की शहादत का बदला लिया।सिंह ने कहा कि मध्यप्रदेश में 2003 के पहले न तो सड़क थी और न ही बिजली आती थी। प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने के बाद तेज गति से विकास हुआ है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस में ऐसा कोई नेता नही है जिसका कोई जनाधार हो। उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह को विकास तथा सर्वहारा वर्ग के लिए समर्पित बताते हुए कहा कि राज्य सरकार ने प्रदेश के विकास और गरीबों के उत्थान के लिए कई महत्वकांक्षी योजनाओं की शुरूआत की। इससे लोगों के जीवन स्तर में वृद्धि हुई है, लेकिन कांग्रेस के लोग अपने विकास में लगे रहे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।