सिद्धू के बयान पर बोली कांग्रेस, देश की भावना के खिलाफ बोलने का हक किसी को नहीं

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 19, 2019   09:29
सिद्धू के बयान पर बोली कांग्रेस, देश की भावना के खिलाफ बोलने का हक किसी को नहीं

कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने सिद्धू के बयान के बारे में पूछे जाने पर संवाददाताओं से कहा कि इस देश में सभी को बोलने की आजादी है, लेकिन सार्वजनिक जीवन में जो भी है, चाहे वह कांग्रेसी है या गैरकांग्रेसी है, उस व्यक्ति को देश की भावना के अनुरुप बोलना चाहिए।

नयी दिल्ली। पुलवामा मामले पर कांग्रेस ने अपने नेता नवजोत सिंह सिद्धू के बयानों को लेकर पैदा विवाद की पृष्ठभूमि में सोमवार को कहा कि किसी को भी देश की भावना के खिलाफ जाकर बोलने का अधिकार नहीं है। पार्टी प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने सिद्धू के बयान के बारे में पूछे जाने पर संवाददाताओं से कहा, ‘इस देश में सभी को बोलने की आजादी है, लेकिन सार्वजनिक जीवन में जो भी है, चाहे वह कांग्रेसी है या गैरकांग्रेसी है, उस व्यक्ति को देश की भावना के अनुरुप बोलना चाहिए। मुझे नहीं लगता कि किसी को भी देश की भावना के खिलाफ जाकर बोलने का कोई अधिकार है।’

इसे भी पढ़ें: गिरिराज सिंह की राहुल गांधी से अपील, कहा- सिद्धू को कांग्रेस से बाहर निकालें

उन्होंने कहा कि यह गंभीरता की बात है, परिपक्वता की बात है। हर व्यक्ति को उस अनुशासन में चलना ही पड़ेगा। गौरतलब है कि पंजाब सरकार में मंत्री सिद्धू ने पुलवामा आतंकी हमले की निंदा करते हुए कहा था कि कुछ लोगों की करतूत की वजह से किसी एक देश को जिम्मेदार ठहराना उचित नहीं है। उन्होंने यह भी कहा था कि हमले के लिए जिम्मेदार लोगों को सजा मिलनी चाहिए। उनके इस बयान को लेकर विरोधी पार्टियों ने उन पर जमकर निशाना साधा है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...