दिल्ली में कोरोना का कहर जारी, हर घंटे हो रही पांच लोगों की मौत

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 23, 2020   19:13
दिल्ली में कोरोना का कहर जारी, हर घंटे हो रही पांच लोगों की मौत

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के आधार पर यह विश्लेषण किया गया जिसमें पिछले 24 घंटे में कोविड-19 की वजह से देश और सभी राज्यों तथा केन्द्र शासित प्रदेशों में मौत की कुल संख्या दी गई है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से सुबह आठ बजे अद्यतन आंकड़ों के अनुसार देश में इस महामारी से 511 और लोगों की मौत हो गई।

नयी दिल्ली। पिछले 24 घंटों में दिल्ली में औसतन हर घंटे कोविड-19 की वजह से कम से कम पांच लोगों की मौत हो गई, जो देशभर में इस तरह की मौत के मामलों का एक बड़ा हिस्सा है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के आधार पर यह विश्लेषण किया गया जिसमें पिछले 24 घंटे में कोविड-19 की वजह से देश और सभी राज्यों तथा केन्द्र शासित प्रदेशों में मौत की कुल संख्या दी गई है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से सुबह आठ बजे अद्यतन आंकड़ों के अनुसार देश में इस महामारी से 511 और लोगों की मौत हो गई।

दिल्ली में इस अवधि में इससे 121 लोगों की मौत हुई। दिल्ली स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी नवीनतम बुलेटिन के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी में रविवार को कोविड-19 के 6,746 नये मामले सामने आये थे और संक्रमण की दर 12.29 प्रतिशत थी जबकि इस महामारी से 121 और मरीजों की मौत होने से मृतक संख्या 8,391 पहुंच गई थी। पिछले 11 दिनों में ऐसा पांचवीं बार था जब एक दिन में मौत का आंकड़ा 100 से पार पहुंचा। 

इसे भी पढ़ें: राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी से पूछा सवाल, भारत सरकार किस टीके का करेगी चुनाव ?

अधिकारियों ने बताया कि शनिवार को कोविड-19 से 111, शुक्रवार को 118, 18 नवम्बर को 131, और 12 नवम्बर को 104 मरीजों की मौत हुई। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से सुबह आठ बजे अद्यतन आंकड़ों के अनुसार देश में कोविड-19 के एक दिन में 44,059 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमण के मामले बढ़कर 91,39,865 के पार पहुंच गए, जिनमें से 85,62,641 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।