PK के इनकार के बाद पहली बार हो रही CWC की बैठक, सोनिया बोलीं- पार्टी का कर्ज चुकाने का आ गया वक्त

PK के इनकार के बाद पहली बार हो रही CWC की बैठक, सोनिया बोलीं- पार्टी का कर्ज चुकाने का आ गया वक्त
प्रतिरूप फोटो
ANI Image

सीडब्ल्यूसी की बैठक ऐसे समय पर हो रही है जब राजस्थान के उदयपुर में तीन दिवसीय चिंतन शिविर का आयोजन होने वाला है। जिसमें देश भर के पार्टी नेता आंतरिक मुद्दों पर चर्चा करेंगे और संगठन को मजबूत बनाने के लिए समाधान सुझाएंगे। यह शिविर 13 से 15 मई तक चलेगा।

नयी दिल्ली। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के मुख्यालय में सोमवार को कांग्रेस कार्यसमिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक हो रही है। आपको बता दें कि सीडब्ल्यूसी की बैठक में पार्टी की अंतरिम अध्यक्षा सोनिया गांधी, पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, छत्तसीगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, पार्टी महासचिव केसी वेणुगोपाल समेत कई दिग्गज नेता मौजूद रहे। 

इसे भी पढ़ें: बीजेपी का AAP-कांग्रेस पर तंज, शाहीनबाग़ में बांग्लादेशी-रोहिंग्या के अवैध ठिकानों को बचाने के लिए सड़क पर लेटने वालों को जनता भी लेटा देगी 

इस बैठक में सोनिया गांधी ने कहा कि पार्टी के पुर्नरुद्धार के लिए एकजुटता जरूरी है। उन्होंने कहा कि पार्टी का कर्ज चुकाने का वक्त आ गया है। सभी को एकजुटता दिखानी चाहिए। पार्टी में अनुशासन बेहद जरूरी है।

चिंतन शिविर से पहले हो रही बैठक

सीडब्ल्यूसी की बैठक ऐसे समय पर हो रही है जब राजस्थान के उदयपुर में तीन दिवसीय चिंतन शिविर का आयोजन होने वाला है। जिसमें देश भर के पार्टी नेता आंतरिक मुद्दों पर चर्चा करेंगे और संगठन को मजबूत बनाने के लिए समाधान सुझाएंगे। यह शिविर 13 से 15 मई तक चलेगा और इसमें पार्टी के करीब 400 शीर्ष नेताओं के शामिल होने की संभावना है, जो अलग-अलग मुद्दों पर अपनी राय रखेंगे और फिर साझा रणनीति बनाकर पार्टी को मजबूत करने के साथ-साथ सत्तारूढ़ भाजपा को घेरने की कोशिश की जाएगी। 

इसे भी पढ़ें: महागठबंधन में शामिल नहीं होना चाहते हैं केजरीवाल, भाजपा को हराना कांग्रेस के बस में नहीं ! फिर कैसे बनेगी 2024 की योजना 

पीके के इनकार के बाद पहली बैठक

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर द्वारा कांग्रेस में शामिल होने से इनकार किए जाने के बाद पहली बार सीडब्ल्यूसी की बैठक हो रही है। इस बैठक में संगठनात्मक सुधारों पर विभिन्न पैनल की रिपोर्टों मंजूरी प्रदान की जा सकती है। हाल ही पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद 10 जनपथ में बैठकों का दौर शुरू हुआ था और पार्टी को पुर्नजीवित करने के लिए एक के बाद एक कई महत्वपूर्ण फैसले लिए गए। हालांकि लंबे दौर की वार्ता के बाद प्रशांत किशोर ने कांग्रेस में शामिल होने से इनकार कर दिया।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...