कोरोना का खतरा अभी नहीं हुआ कम, सुरक्षा दिशा-निर्देशों में भी कोई बदलाव नहीं: येदियुरप्पा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 30, 2020   17:26
कोरोना का खतरा अभी नहीं हुआ कम, सुरक्षा दिशा-निर्देशों में भी कोई बदलाव नहीं: येदियुरप्पा

मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने कहा, ‘प्रिय नागरिकों, कोरोना वायरस का खतरा अभी भी कम नहीं हुआ है। जैसा कि हम नए साल में प्रवेश करने वाले हैं यहां तक कि महामारी के बारे में थोड़ी सी भी लापरवाही नहीं की जा सकती है।’

बेंगलुरु। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने बुधवार को कहा कि कोरोना वायरस का खतरा अभी कम नहीं हुआ है और महामारी को लेकर जरा सी भी लापरवाही नहीं की जानी चाहिये। उन्होंने कहा कि अभी सुरक्षा दिशा-निर्देशों में कोई बदलाव नहीं किया गया है। उन्होंने नागरिकों से दिशा-निर्देशों का पालन करने और सावधानी बरतने की अपील की। उन्होंने ब्रिटेन से लौटने वाले लोगों से भी यूरोपीय देश में सामने आये कोरोना वायरस के नये स्वरूप को फैलने से रोकने के वास्ते आवश्यक स्वास्थ्य जांच या परीक्षण कराने का आह्वान किया। 

इसे भी पढ़ें: कोविड-19: कर्नाटक सरकार ने 23 दिसंबर से दो जनवरी तक लागू किया रात्रि कर्फ्यू 

येदियुरप्पा ने कहा, ‘‘प्रिय नागरिकों, कोरोना वायरस का खतरा अभी भी कम नहीं हुआ है। जैसा कि हम नए साल में प्रवेश करने वाले हैं यहां तक कि महामारी के बारे में थोड़ी सी भी लापरवाही नहीं की जा सकती है।’’ उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘सरकार के दिशा-निर्देशों और नियमों का पालन करें और सभी आवश्यक एहतियाती उपाय करके सुरक्षित रहें, और सहयोग करें।’’

मुख्यमंत्री ने नववर्ष के मद्देनजर यह अपील की है। सरकार ने नये साल की पार्टियों, विशेष डीजे डांस कार्यक्रमों और क्लबों, पबों, रेस्तरां तथा अन्य स्थानों पर विशेष कार्यक्रमों पर रोक लगा दी है ताकि इस वायरस को फैलने से रोका जा सके। सार्वजनिक स्थानों और समारोहों के लिए सड़कों पर लोगों का इकट्ठा होना प्रतिबंधित है, लेकिन इन स्थानों पर आम गतिविधियां जारी रह सकती हैं। इसके बाद पत्रकारों से बातचीत में मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य मंत्रालय ब्रिटेन में सामने आये कोरोना वायरस के नये स्वरूप पर भारत में नजर बनाये हुए है। उन्होंने कहा, ‘‘हमें सचेत रहना होगा और उन लोगों की जांच करनी होगी, जो बाहर से आए हैं।’’ 

इसे भी पढ़ें: कर्नाटक में भाजपा के 13 विधायकों को दिया गया कैबिनेट मंत्री का दर्जा 

उन्होंने कहा, ‘‘राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में मैं उन सभी से अपील करता हूं, जो पिछले दो महीनों में यहां आए हैं, वे आगे आकर अपनी स्वास्थ्य जांच करायें और सहयोग करें। यह देखें कि आप दूसरों के लिए परेशानी पैदा न करें।’’ अब तक राज्य में लौटे सात लोग कोरोना वायरस के नये स्वरूप (स्ट्रेन) से संक्रमित पाये गये हैं और उनका विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है। दो उड़ानों एयर इंडिया और ब्रिटिश एयरवेज से 25 नवम्बर से 22 दिसम्बर तक ब्रिटेन से कुल 2,500 लोग राज्य में लौटे हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।