दिल्ली सरकार प्रवासी कर्मियों पर गृह मंत्रालय के आदेश को लेकर अन्य राज्यों के संपर्क में: केजरीवाल

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 29, 2020   20:40
दिल्ली सरकार प्रवासी कर्मियों पर गृह मंत्रालय के आदेश को लेकर अन्य राज्यों के संपर्क में: केजरीवाल

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा प्रवासियों के संबंध में आज आदेश पारित किया गया। इस संबंध में हम अन्य राज्य सरकारों से बात कर रहे हैं। योजना बनाकर आपको एक-दो दिन में सूचित करेंगे।

नयी दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को कहा कि दिल्ली सरकार प्रवासी कर्मियों के संबंध में गृह मंत्रालय के आदेश को लेकर अन्य राज्यों के संपर्क में हैं। उन्होंने कहा कि वे आगामी एक या दो दिन में एक उचित योजना लेकर आएंगे। केजरीवाल ने ट्विटर के माध्यम से प्रवासी कर्मियों से अपील की कि वे योजना को क्रियान्वित किए जाने तक घरों में रहें और बंद का पालन करें।

इसे भी पढ़ें: राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री समेत तमाम दलों के नेताओं ने दिग्गज अभिनेता इरफान खान को श्रद्धांजलि दी

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा प्रवासियों के संबंध में आज आदेश पारित किया गया। इस संबंध में हम अन्य राज्य सरकारों से बात कर रहे हैं। योजना बनाकर आपको एक-दो दिन में सूचित करेंगे। तब तक आप घर पर ही रहें और बंद का पालन करें।’’ गृह मंत्रालय के आदेश के अनुसार देश के विभिन्न हिस्सों में फंसे हुए प्रवासी मजदूरों, पर्यटकों, छात्रों और अन्य लोगों को बुधवार को कुछ शर्तों के साथ उनके गंतव्यों तक जाने की अनुमति दे दी गयी।

इसे भी पढ़ें: एक विवाह ऐसा भी! संविधान को साक्षी मानकर सात फेरों में बंधे वर-वधू

केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने एक आदेश में कहा कि फंसे हुए लोगों के समूहों को ले जाने के लिए बसों का इस्तेमाल किया जाएगा और इन वाहनों को संक्रमण मुक्त किया जाएगा तथा सीटों पर बैठते समय सामाजिक दूरी के नियमों का पालन करना होगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।