दिल्ली-एनसीआर में बढ़ रहा प्रदुषण का प्रकोप, वायु गुणवत्ता ‘खराब’ श्रेणी में पहुंची

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 29, 2020   15:11
दिल्ली-एनसीआर में बढ़ रहा प्रदुषण का प्रकोप, वायु गुणवत्ता ‘खराब’ श्रेणी में पहुंची

राष्ट्रीय राजधानी की वायु गुणवत्ता रविवार को ‘खराब’ श्रेणी में रही। तापमान में गिरावट आने तथा हवा की गति धीमी होने के बीच गुणवत्ता के और खराब होने की आशंका है। शहर का वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) सुबह नौ बजे 245 रहा।

नयी दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी की वायु गुणवत्ता रविवार को ‘खराब’ श्रेणी में रही। तापमान में गिरावट आने तथा हवा की गति धीमी होने के बीच गुणवत्ता के और खराब होने की आशंका है। शहर का वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) सुबह नौ बजे 245 रहा। शनिवार को 24 घंटे का औसत एक्यूआई 231 , शुक्रवार को 137, बृहस्पतिवार को 302 और बुधवार को 413 रहा। शून्य से 50 के बीच वायु गुणवत्ता सूचकांक ‘अच्छा’, 51 से 100 के बीच ‘संतोषजनक’, 101 से 200 के बीच ‘मध्यम’, 201 से 300 के बीच ‘खराब’, 301 से 400 के बीच ‘अत्यंत खराब’ और 401 से 500 के बीच ‘गंभीर’ श्रेणी में माना जाता है।

इसे भी पढ़ें: ‘भावनात्मक जुड़ाव’ के साथ छात्र-छात्राओं ने किसानों के साथ एकजुटता प्रकट की 

भारत मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार शनिवार को हवा की अधिकतम गति 15 किलोमीटर प्रति घंटे रही, रविवार और सोमवार के इसके आठ से 12 किलोमीटर प्रति घंटे रहने का अनुमान है। रविवार को हवा की गति मंद पड़ने का अनुमान व्यक्त किया गया है, इसलिए दिल्ली की वायु गुणवत्ता के और खराब होने और इसके ‘खराब’ से ‘बेहद खराब’ रहने की आशंका है। मौसम विभाग के अनुसार रविवार को न्यूनतम तापमान सात डिग्री सेल्सियस रहा वहीं अधिकतम तापमान के 26 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है। फसलों की कटाई का सीजन खत्म होने के साथ दिल्ली के प्रदूषण में पराली जलने की हिस्सेदारी भी काफी कम हुई है।

इसे भी पढ़ें: एक दशक बाद 2020 नवंबर में पड़ी इतनी ठंड, दिल्ली में पड़ सकती है कड़ाके की सर्दी 

पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय की वायु गुणवत्ता निगरानी प्रणाली ‘सफर’ के मुताबिक शनिवार को दिल्ली के पीएम-2.5 स्तर में पराली जलाने की हिस्सेदारी चार प्रतिशत रही। वहीं चार दिन की राहत के बाद राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) की आबोहवा फिर से खराब होनी शुरू हो गई है। प्रदूषण सूचकांक ऐप समीर के अनुसार रविवार सुबह गाजियाबाद में एक्यूआई 273,नोएडा में एक्यूआई 248, ग्रेटर नोएडा में 252, हापुड़ में 139, फरीदाबाद में 146, गुरुग्राम में 230, आगरा में 237,बल्लभगढ़ में 156, भिवानी में 277और मेरठ में एक्यूआई 289 रहा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।