भ्रष्टाचार मामले में AAP नेता विजय सिंगला की बढ़ीं मुश्किलें, 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया

Vijay Singla
प्रतिरूप फोटो
ANI Image
पंजाब के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री और आम आदमी पार्टी नेता विजय सिंगला की मुश्किलें बढ़ गई हैं। मोहाली की अदालत ने विजय सिंगला को कथित भ्रष्टाचार के मामले में 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा है। विजय सिंगला मनसा से आम आदमी पार्टी विधायक हैं। उन्होंने विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के सिद्धू मूसे वाला को हराया था।

मोहाली। पंजाब के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री और आम आदमी पार्टी नेता विजय सिंगला की मुश्किलें बढ़ गई हैं। मोहाली की अदालत ने विजय सिंगला को कथित भ्रष्टाचार के मामले में 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा है। दरअसल, विजय सिंगल को भ्रष्टाचार के आरोपों के चलते भगवंत मान सरकार ने बर्खास्त कर दिया था और फिर पुलिस उनकी गिरफ्तारी हुई थी। 

इसे भी पढ़ें: पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री पर भ्रष्टाचार के आरोप, भाजपा ने कहा- AAP जहां-जहां जाती हैं, वहां करप्शन खुद ही पहुंच जाता है 

कौन हैं विजय सिंगला ?

विजय सिंगला मनसा क्षेत्र से आम आदमी पार्टी की टिकट पर चुनकर विधानसभा पहुंचे है। उन्होंने विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के सिद्धू मूसे वाला और शिरोमणि अकाली दल (शिअद) प्रेम कुमार अरोरा को हराया था। विजय सिंगला ने 10 साल पहले आम आदमी पार्टी की सदस्यता ग्रहण की थी और इस बार के विधानसभा चुनाव में पार्टी ने उन पर दांव लगाया। ऐसे में उन्होंने सिद्धू मूसे वाला को हराकर खूब सुर्खियां बटोरी थी। जिसके बाद आम आदमी पार्टी ने उनका कद बढ़ाया था।

विजय सिंगला ने 19 मार्च को 9 विधायकों के साथ कैबिनेट मंत्री पद की शपथ ग्रहण की थी। इसके बाद उन्हें स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री की जिम्मेदारी सौंपी गई। हालांकि 2 महीने बाद ही भ्रष्टाचार के आरोपों के चलते मुख्यमंत्री ने उन्हें बर्खास्त कर दिया। प्राप्त जानकारी के मुताबिक, विजय सिंगला लंबे समय से मानसा रोड पर सिंगला डेंटल क्लीनिक चला रहे हैं। इसके अलावा उनकी पत्नी अनीता सिंगला ने भी बीएएमएस किया है। जबकि बेटा चेतन सिंगला एमडी की पढ़ाई कर रहा है। बेटा चेतन सिंगला एमडी की पढ़ाई कर रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें: पंजाब मंत्रिमंडल से बर्खास्त किए जाने के कुछ देर बाद विजय सिंगला गिरफ्तार 

मुख्यमंत्री ने किया था बर्खास्त

मुख्यमंत्री भगवंत मान ने बताया था कि मेरे संज्ञान में एक मामला आया कि मेरी सरकार का एक मंत्री (विजय सिंगला) हर टेंडर के लिए 1 फीसदी कमीशन की मांग कर रहा है। मैंने इसे गंभीरता से लिया। मैं उस मंत्री के खिलाफ सख्त कार्रवाई कर रहा हूं और उन्हें कैबिनेट से बर्खास्त कर रहा हूं। उन्होंने बताया था कि वो (विजय सिंगला) अपने विभाग में भ्रष्टाचार में लिप्त थे, उन्होंने यह कबूल भी किया है।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़