ज्ञानवापी मस्जिद का पहले दिन की वीडियोग्राफी संपन्न, पुलिस कमिश्नर बोले- शांतिपूर्ण माहौल में हुआ सर्वे

ज्ञानवापी मस्जिद का पहले दिन की वीडियोग्राफी संपन्न, पुलिस कमिश्नर बोले- शांतिपूर्ण माहौल में हुआ सर्वे
प्रतिरूप फोटो
ANI Image

पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश ने कहा कि पूरी प्रक्रिया सुचारू रूप से चल रही है। यह कोर्ट का निर्देश है, हमारा कर्तव्य है कि इसे लागू किया जाए। हमने सुरक्षा के सारे इंतजाम किए और अब तक सब कुछ शांतिपूर्ण माहौल में हुआ है। उन्होंने कहा कि आज की कार्रवाई कोर्ट कमिश्नर के द्वारा पूरी की गई है।

वाराणसी। उत्तर प्रदेश के वाराणसी में ज्ञानवापी मस्जिद में चल रहे वीडियोग्राफी सर्वे का पहला दिन का काम सफलतापूर्वक पूरा हो चुका है। इस दौरान तहखाने का सर्वे किया गया है। इसी बीच पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश का बयान सामने आया है। जिसमें उन्होंने बताया कि आज की कार्रवाई कोर्ट कमिश्नर के द्वारा पूरी की गई है। कल भी ये सर्वे जारी रहेगा।  

इसे भी पढ़ें: Gyanvapi Case: ज्ञानवापी मस्जिद में सर्वे का काम शुरू, तहखाने की होगी वीडियोग्राफी  

शांतिपूर्ण माहौल में हुआ सर्वे

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश ने कहा कि पूरी प्रक्रिया सुचारू रूप से चल रही है। यह कोर्ट का निर्देश है, हमारा कर्तव्य है कि इसे लागू किया जाए। हमने सुरक्षा के सारे इंतजाम किए और अब तक सब कुछ शांतिपूर्ण माहौल में हुआ है। उन्होंने कहा कि आज की कार्रवाई कोर्ट कमिश्नर के द्वारा पूरी की गई है। कल भी ये सर्वे जारी रहेगा। सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे। आदर्श माहौल में आज की सर्वे पूरी हुई है।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक, ज्ञानवापी मस्जिद में तहखाने का वीडियोग्राफी सर्वे संपन्न हो चुका है। तहखाने में चार कमरे मौजूद हैं। जिनमे से 3 कमरे मुस्लिम पक्ष और एक कमरा हिंदू पक्ष के पास है। तहखाने का वीडियोग्राफी सर्वे करने के बाद परिषद से बाहर निकल चुके हैं।

गौरतलब है कि वाराणसी कोर्ट ने ज्ञानवापी परिसर का वीडियोग्राफी सर्वे कराने के लिए नियुक्त अधिवक्ता आयुक्त को पक्षपात के आरोप में हटाने की मांग संबंधी याचिका गुरुवार को खारिज कर दी थी। कोर्ट ने स्पष्ट किया था कि ज्ञानवापी मस्जिद के अंदर भी वीडियोग्राफी कराई जाएगी। 

इसे भी पढ़ें: काशी, मथुरा, आगरा और धार, कहीं एक पक्ष को लगा झटका तो कहीं दूसरे को फटकार, 4 बड़े केस की सुनवाई की पूरी जानकारी 

दीवानी अदालत के न्यायाधीश (सीनियर डिवीजन) दिवाकर ने अधिवक्ता आयुक्त अजय मिश्रा को हटाने संबंधी याचिका को नामंजूर करते हुए विशाल सिंह को विशेष अधिवक्ता आयुक्त और अजय प्रताप सिंह को सहायक अधिवक्ता आयुक्त के तौर पर नियुक्त किया था। उसने संपूर्ण परिसर की वीडियोग्राफी करके 17 मई तक रिपोर्ट पेश करने के निर्देश दिए थे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...