पटना में नदी के बीच नाव पर फटा गैस सिलेंडर, पांच लोगों की मौत, कई लोग बुरी तरह घायल

Boat blast
ANI
अंकित सिंह । Aug 06, 2022 3:49PM
शवों की हालत तो ऐसी है कि उनको पहचान पाना भी काफी मुश्किल लग रहा है। फिलहाल शव का पोस्टमार्टम के लिए ले जाया गया है। दावा किया जा रहा है कि बीच नदी में ही गैस लीक होने की वजह से सिलेंडर में ब्लास्ट हुआ।

पटना में बड़े हादसे की खबर आ रही है। दरअसल, पटना में एक नाव हादसा हुआ है जिसमें पांच लोगों की मौत हो गई है। घटना पटना से सटे मनेर की बताई जा रही है जहां सोन नदी में नावों के जरिए अवैध बालू को एक जगह से दूसरी जगह पर पहुंचाया जाता है। यही कारण है कि वहां दर्जनों नाव लगातार चलते रहते हैं। आज एक नाव पर खाना बन रहा था। गैस लीक होने की वजह से सिलेंडर में ब्लास्ट हुआ। इस ब्लास्ट में पांच लोगों की मौत हो गई है जबकि 15 घायल बताए जा रहे हैं जिसमें कई लोगों की हालत काफी खराब है। नाव पर कुल 20 लोग सवार थे। खबर मिलते ही पुलिस प्रशासन की टीम मौके पर पहुंच गई थी और बचाव अभियान शुरू किया गया था। फिलहाल पुलिस हर मामले को लेकर जांच में जुटी हुई है।

इसे भी पढ़ें: जदयू में अकेले पड़े आरसीपी सिंह! उपेंद्र कुशवाहा का बयान- भ्रष्टाचार के खिलाफ हमारी जीरो टॉलरेंस की नीति

शवों की हालत तो ऐसी है कि उनको पहचान पाना भी काफी मुश्किल लग रहा है। फिलहाल शव का पोस्टमार्टम के लिए ले जाया गया है। दावा किया जा रहा है कि बीच नदी में ही गैस लीक होने की वजह से सिलेंडर में ब्लास्ट हुआ। मौके पर ही 4 लोगों की मृत्यु हो गई। घायलों को फिलहाल नजदीकी अस्पताल में भर्ती भी कराया गया है। पुलिस ने बताया कि पटना के रामपुर दियारा घाट पर उनकी नाव में आग लगने से पांच मजदूरों की मौत हो गई। पुलिस का कहना है कि कहा जा रहा है कि एक सिलेंडर विस्फोट हुआ था, लेकिन ऐसा नहीं है। वे कुछ डीजल कनस्तरों के पास खाना बना रहे थे, इसलिए आग लग गई। उनकी पहचान होनी बाकी है।

इसे भी पढ़ें: अमरनाथ एक्सप्रेस को जाना था समस्तीपुर, पहुंच गई कहीं और..., ड्राइवर की सूझबूझ से टला बड़ा हादसा

बताया जा रहा है कि जहां यह हादसा हुआ है वह भोजपुर और पटना जिले की सीमा पर पड़ता है। हालांकि दावा यह भी है कि नाव गंगा नदी नहीं बल्कि सोने नदी में था। आपको बता दें कि कुछ दिन पहले ही सारण के खोदाईबाग इलाके में घर में ब्लास्ट हुआ था जिसमें कम से कम 6 लोगों की मृत्यु हुई थी। उस वक्त यह बताया गया था कि घर में अवैध रूप से पटाखे बनाने का काम होता था। उसी दौरान यह हादसा हुआ था। पटाखे बनाने का काम भी अवैध रूप से चल रहा था। सवाल तो यही है कि राजधानी पटना से इतने करीब होने के बावजूद भी अवैध खनन का यह मामला इतना तेजी से कैसे आगे बढ़ रहा है। फिलहाल प्रशासन पूरे मामले को लेकर जांच में जुटी हुई है। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़