ममता बनर्जी की राय से राज्यपाल असहमत, बोले- तूफान प्रभावितों की मदद में राजनीति नहीं करने की अपील की

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 14, 2019   16:32
ममता बनर्जी की राय से राज्यपाल असहमत, बोले- तूफान प्रभावितों की मदद में राजनीति नहीं करने की अपील की

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने कहा कि वह तूफान प्रभावित इलाकों के हालात की समीक्षा करेंगे और इसके बाद फैसला करेंगे कि वहां का दौरा करना है या नहीं। उन्होंने कहा, ‘‘सभी एजेंसियां काम कर रही हैं...मैं मानता हूं कि यह समय है जब सभी एजेंसियों को आगे आना चाहिए, सरकार और गैर सरकारी संगठनों को इन लागों के लिए आगे आना चाहिए जिन्होंने तूफान में अपनी संपत्ति या अपनों को खोया है। मैं सभी के लिए हूं। मैं राजनीति नहीं चाहता।’’

कोलकाता। पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने गुरुवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की उस राय से सहमति जताई जिसमें उन्होंने कहा था कि ‘बुलबुल’ तूफान से प्रभावितों को राहत सामग्री बांटने में राजनीति नहीं होनी चाहिए। धनखड़ ने कहा कि वह तूफान प्रभावित इलाकों के हालात की समीक्षा करेंगे और इसके बाद फैसला करेंगे कि वहां का दौरा करना है या नहीं। उन्होंने कहा, ‘‘सभी एजेंसियां काम कर रही हैं...मैं मानता हूं कि यह समय है जब सभी एजेंसियों को आगे आना चाहिए, सरकार और गैर सरकारी संगठनों को इन लागों के लिए आगे आना चाहिए जिन्होंने तूफान में अपनी संपत्ति या अपनों को खोया है। मैं सभी के लिए हूं। मैं राजनीति नहीं चाहता।’’

इसे भी पढ़ें: चक्रवात बुलबुल के बाद अब डेंगू से पीड़ित बंगाल की जनता, 44 हजार मामले आए सामने

धनखड़ ने कहा, ‘‘मैं लोगों से आह्वान करूंगा कि वे राजनीति नहीं करें क्योंकि जिस क्षण आप शासन में राजनीति को शामिल करते हैं तो यह लोकतंत्र के ताने-बाने को नुकसान पहुंचाते हैं।’’ राज्यपाल की प्रतिक्रिया केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो के दक्षिण 24 परगना में हुए भारी विरोध के एक दिन बाद आई है। सुप्रियो बुधवार को तूफान से तबाही का जायजा लेने गए थे जहां पर लोगों के समूह ने मंत्री वापस जाओ के नारे लगाए। सुप्रियो ने विरोध करने वालों को सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस का कार्यकर्ता बताया था।

इसे भी पढ़ें: चक्रवात बुलबुल के चलते पश्चिम बंगाल में 19 हजार करोड़ का नुकसान

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को प्रभावित बशीरघाट जिले में प्रशासनिक अधिकारियों से की गई समीक्षा बैठक के बाद लोगों से सकारात्मक रहने और मदद में राजनीति नहीं करने की अपील की। सूत्रों के मुताबिक शनिवार को सागर द्वीप के पास तट से टकराए ‘बुलबुल’ तूफान से पश्चिम बंगाल में 14 लोगों की मौत हुई है। तूफान से दक्षिण 24 परगना, उत्तर 24 परगना और मेदिनीपुर जिले सबसे अधिक प्रभावित हुए हैं। छह लाख लोग प्रभावित हुए हैं और पांच लाख मकान क्षतिग्रस्त हुए हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...