हिंदुत्व राष्ट्रीयता का पर्याय है: बजरंग दल प्रमुख

Hindutva
Google Creative Commons.
उत्तर प्रदेश के आगरा के रहने वाले डोनेरिया ने कहा कि वह विहिप के एजेंडे पर काम करेंगे, जिसमें भारतीय समुदाय के पिछड़े वर्गों की गरीबी और भोलेपन का फायदा उठाकर लालच, दुष्प्रचार और आतंक के माध्यम से हिंदुओं के धर्मांतरण की राष्ट्रीय स्तर पर खतरनाक प्रक्रिया पर सख्त प्रतिबंध लगाने की मांग की जाएगी।

हमीरपुर (हिमाचल प्रदेश)| बजरंग दल के नवनियुक्त प्रमुख नीरज डोनेरिया ने मंगलवार को कहा कि हिंदुत्व राष्ट्रीयता का पर्याय है और हिंदू समाज निर्विवाद रूप से भारत की मुख्य धारा है। डोनेरिया ने हिमाचल प्रदेश में विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के आयोजन सचिव के रूप में काम किया था। उन्हें हाल ही में बजरंग दल का राष्ट्रीय संयोजक नियुक्त किया गया था। उन्होंने कहा, हिंदू हित राष्ट्रीय हित है।

इसलिए हिंदुत्व और हिंदू हितों के सम्मान की हर कीमत पर रक्षा की जानी चाहिए। नया कार्यभार संभालने के बाद डोनेरिया ने पीटीआई-से कहा कि वह दुनिया भर के हिंदुओं को एकजुट करने और उन्हें उनके वैध अधिकार प्रदान करने के लिए काम करेंगे।

यह महत्वपूर्ण जिम्मेदारी देने के लिए संगठन का आभार व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि बजरंग दल एक हिंदू राष्ट्रवादी संगठन है जो विहिप की युवा शाखा है और संघ परिवार का सदस्य है।

उत्तर प्रदेश के आगरा के रहने वाले डोनेरिया ने कहा कि वह विहिप के एजेंडे पर काम करेंगे, जिसमें भारतीय समुदाय के पिछड़े वर्गों की गरीबी और भोलेपन का फायदा उठाकर लालच, दुष्प्रचार और आतंक के माध्यम से हिंदुओं के धर्मांतरण की राष्ट्रीय स्तर पर खतरनाक प्रक्रिया पर सख्त प्रतिबंध लगाने की मांग की जाएगी।

उन्होंने कहा कि इसी तरह सभी भारतीय नागरिकों पर समान रूप से लागू होने वाला एक समान नागरिक कानून बहुविवाह की बुरी प्रवृत्ति पर लगाम लगाने और महिलाओं से असमानता और उनके शोषण को समाप्त करने के लिए बनाया जाना चाहिए।

उल्लेखनीय है कि हाल ही में चेन्नई में हुई विहिप की केंद्रीय कार्य समिति की बैठक में डोनेरिया को नयी जिम्मेदारी दी गई थी।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़