Amit shah in West UP | देवबंद में उमड़ी भारी भीड़, अमित शाह को रोकना पड़ा डोर-टू-डोर कैंपेन

Amit shah in West UP | देवबंद में उमड़ी भारी भीड़, अमित शाह को रोकना पड़ा डोर-टू-डोर कैंपेन

अमित शाह लगातार पश्चिम में उत्तर प्रदेश का दौरा कर रहे हैं और डोर-टू-डोर कैंपेन भी कर रहे हैं। अमित शाह इससे पहले कैराना, मथुरा, दादरी और मुजफ्फरनगर में भी डोर-टू-डोर कैंपेन कर चुके हैं। भारी भीड़ की वजह से अमित शाह सिर्फ 5 मिनट तक ही देवबंद में रुके।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए लगातार प्रचार तेज होता जा रहा है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश में पहले दो चरण में चुनाव होने हैं। इसके लिए भाजपा ने पूरी ताकत के साथ चुनावी प्रचार की शुरुआत कर दी है। इन सब के बीच भी मंत्री और पार्टी के वरिष्ठ नेता अमित शाह को आज देवबंद में डोर-टू-डोर कैंपेन करना था। डोर-टू-डोर कैंपेन के लिए अमित शाह देवबंद भी पहुंचे थे। लेकिन जहां उन्हें प्रचार करना था वहां भारी भी देखने को मिली। भारी भीड़ की वजह से अमित शाह ने अपने डोर-टू-डोर कैंपेन कार्यक्रम पर रोक लगा दी। बताया जा रहा है कि कोरोना वायरस संक्रमण और सुरक्षा कारणों से फिलहाल इस डोर-टू-डोर कैंपेन को रोका गया है।

अमित शाह लगातार पश्चिम में उत्तर प्रदेश का दौरा कर रहे हैं और डोर-टू-डोर कैंपेन भी कर रहे हैं। अमित शाह इससे पहले कैराना, मथुरा, दादरी और मुजफ्फरनगर में भी डोर-टू-डोर कैंपेन कर चुके हैं। भारी भीड़ की वजह से अमित शाह सिर्फ 5 मिनट तक ही देवबंद में रुके। उसके बाद वह वापस चले गए। बताया जा रहा है कि लोगों की भारी भीड़ की वजह से सुरक्षा व्यवस्था में भी दिक्कतें आने लगी थी जिसकी वजह से डोर टू डोर कैंपेन को रोकना पड़ा। अमित शाह ने अब तक जहां भी डोर-टू-डोर कैंपेन किया है वहां अरे भीड़ देखने को मिल रही है। 

इसे भी पढ़ें: हरीश रावत की सरकार में घपले, घोटाले, भ्रष्टाचार, स्टिंग आपरेशन थे: अमित शाह

डोर-टू-डोर कैंपेन की वजह से जुटने वाली भारी भीड़ कोरोना प्रोटोकॉल की भी खूब धज्जियां उड़ा रही है। यही कारण है कि अमित शाह के डोर-टू-डोर कैंपेन को आज रोकना पड़ा है। अमित शाह डोर-टू-डोर कार्यक्रम के तहत घर-घर जाकर पर्चे बांट रहे हैं और भाजपा के पक्ष में लोगों को वोट देने के लिए भी कह रहे हैं। मुजफ्फरनगर में भी डोर-टू-डोर कैंपेन के दौरान भारी भीड़ आज देखने को मिली। हालांकि मुजफ्फरनगर में अमित शाह ने कार्यकर्ताओं के एक सभा को भी संबोधित किया था और अखिलेश यादव पर जमकर निशाना भी साधा। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।